S M L

FIFA World Cup 2018: मैदान पर टीम को मिली जीत, लेकिन स्टैंड में बैठी ईरानी महिलाएं हैं किस जीत के इंतजार में?

फीफा वर्ल्ड कप में ईरान और मोरक्को के मैच में ईरानी महिलाएं हाथों में पोस्टर लिए दिखाई दी जिसमें लिखा था 'सपोर्ट ईरानी वुमेन टू अटैंड स्टेडियम'

Updated On: Jun 16, 2018 12:35 PM IST

FP Staff

0
FIFA World Cup 2018: मैदान पर टीम को मिली जीत, लेकिन स्टैंड में बैठी ईरानी महिलाएं हैं किस जीत के इंतजार में?

शुक्रवार को फीफा वर्ल्ड कप के अपने पहले मैच में ईरान ने जीत के साथ आगाज किया. ईरान ने मोरक्को को 1-0 से मात दी. ग्रुप बी की इस मैच में मैदान पर ईरान ने जीत हासिल की वहीं स्टेडियम के स्टैंड में बैठे लोगों ने एक नई मुहीम की शुरुआत की.

फीफा वर्ल्ड कप के इस मैच में कुछ ईरानी महिला फैंस के हाथों में पोस्टर में दिखाई दिए जिसमें लिखा था 'सपोर्ट ईरानी वुमेन टू अटैंड स्टेडियम'. यानि ईरानी महिलाओं को स्टेडियम में जाने की मुहीम का समर्थम करें'. दरअसल ईरान में महिलाओं को उन स्टेडियम में जाने की अनुमति नहीं होती है जहां पुरुष खिलाड़ी खेलते हैं और ना ही वो इसके खिलाफ विरोध कर सकते हैं. लेकिन देश के बाहर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस बैन के खिलाफ विरोध करने का ये तरीका निकाला है. 34 वर्षीय सारा 'ओपन स्टेडियम' नाम के ग्रुप के लिए काम करती हैं जो ईरान में इस बैन को हटाने के लिए काम कर रहे हैं.

सारा को इसके लिए काफी समर्थम मिल रहा है जिससे वह बेहद खुश हैं. वॉशिंगटन पोस्ट में छपी खबर के मुताबिक उन्होंने कहा 'मुझे यह देखकर काफी खुशी हुई कि लोग मेरी इस अपील का समर्थन कर रहे थे. लोगों ने मेरे बैनर के फोटो लिए.'

ईरान में साल 1979 के बाद से महिलाओं को पुरुष  के खेल स्टेडियम में देखने पर मनाही है. हालांकि पिछले साल वॉलीबॉल मैच के लिए इस बैन पर ढ़ील दी गई थी. इसके बाद से लोगों के बीच ये उम्मीद जगी है कि हो सकता है आने वाले समय में महिलाएं देश के सबसे चाहेते खेल फुटबॉल को भी स्टेडियम में जाकर देख सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi