S M L

FIFA World Cup 2018 : 12 बातों से जानिए, मंगलवार को आमने-सामने होने वाली सभी टीमों का हाल

फीफा वर्ल्ड कप में 13वें दिन चार मुकाबले खेले जाने हैं

FP Staff Updated On: Jun 26, 2018 10:19 PM IST

0
FIFA World Cup 2018 : 12 बातों से जानिए, मंगलवार को आमने-सामने होने वाली सभी टीमों का हाल

फीफा वर्ल्ड कप में 13वें दिन चार मुकाबले खेले जाने हैं. इसमें पहले दो मुकाबले ग्रुप ए की चारों टीमें एक साथ मैदान पर उतरेंगी. इसके बाद रात के समय ग्रुप बी की चारों टीमें मैदान पर उतरेंगी. फैंस की नजर इस दौरान अर्जेंटीना के स्टार मेसी पर होगी जो अबतक अच्छा खेल दिखाने में नाकाम रहे हैं.

क्रोएशिया बनाम आईसलैंड

पहले दोनों मैच में जीत से नॉकआउट में जगह सुरक्षित करने वाला क्रोएशिया दूसरे चरण की कड़ी चुनौतियों से पहले अपना विजय अभियान जारी रखने जबकि अगर-मगर की डगर में फंसा आइसलैंड उलटफेर के इरादों के साथ विश्व कप ग्रुप डी के आखिरी लीग मैच में मंगलवार को एक दूसरे का सामना करेंगे.

क्रोएशिया ने फीफा विश्व कप 2018 की शानदार शुरुआत की है. उसने पहले नाइजीरिया और बाद में अर्जेंटीना पर प्रभावशाली जीत से अंतिम 16 में जगह पक्की कर ली है. अब उसकी निगाह विश्व कप 1998 के अपने अभियान की पुनरावृत्ति करने पर टिकी है जब डेवोर सुकर के करिश्माई खेल से टीम सेमीफाइनल तक पहुंचने में सफल रही थी.

croatia

आइसलैंड के लिए हालांकि जीत ही पर्याप्त नहीं होगी और उसे अर्जेंटीना और नाइजीरिया के मैच पर ध्यान देना होगा. अगर नाइजीरिया जीत दर्ज करता है तो आइसलैंड बाहर हो जाएगा. अगर अर्जेंटीना ड्रॉ खेलता या जीत दर्ज करता है तो फिर गोल अंतर के आधार पर अंतिम 16 में पहुंचने वाली टीम का निर्धारण होगा.

  पेरू बनाम ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया को अगर विश्व कप के अंतिम 16 में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखना है तो उसे यहां अपने अंतिम लीग मैच में पेरू पर बड़े अंतर से जीत दर्ज करने के साथ ही ग्रुप सी के एक अन्य मैच में अनुकूल परिणाम की दुआ करनी होगी. ऑस्ट्रेलिया का दो मैचों में केवल एक अंक है और अगर वह पेरू को अच्छे अंतर से हरा देता है तो वह अगले दौर में पहुंच सकता है लेकिन इसके लिए यह भी जरूरी है कि फ्रांस ग्रुप के एक अन्य मैच में डेनमार्क को पराजित करे. डेनमार्क के एक जीत और एक ड्रॉ से चार अंक हैं और केवल ड्रॉ से वह अगले दौर में पहुंच जाएगा.

पेरू का सवाल है तो वह अपने पहले दोनो मैच फ्रांस और डेनमार्क से 0-1 के समान अंतर से हार गया था और मैच के बाद उसकी टीम स्वदेश लौट जाएगी. पेरू हालांकि सम्मान के साथ विदा लेना चाहेगा और इसके लिए उसकी निगाह विश्व कप 2018 में पहला गोल और पहली जीत दर्ज करने पर लगी है.

  अर्जेटीना बनाम नाइजीरिया

आइसलैंड के साथ ड्रॉ और क्रोएशिया के हाथों शर्मनाक हार के बाद अब अगर अर्जेंटीना और उसके स्टार खिलाड़ी लियोनेल मेस्सी को विश्व कप 2018 में अपनी उम्मीदें बरकरार रखनी हैं तो उसे नाइजीरिया के खिलाफ हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी. अर्जेंटीना और मेस्सी ने विश्व भर में फैले अपने करोड़ों दर्शकों को अभी तक निराश किया है और यह उनके पास अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप खेलने का आखिरी मौका है.

Soccer Football - International Friendly - Argentina vs Haiti - La Bombonera, Buenos Aires, Argentina - May 29, 2018 Argentina's Lionel Messi celebrates scoring their third goal with team mates REUTERS/Marcos Brindicci - RC1A3FE1FD20 यही नहीं उसे ग्रुप डी के एक अन्य मैच में आइसलैंड की क्रोएशिया के हाथों हार की भी दुआ करनी होगी. वैसे अगर आइसलैंड उलटफेर भी कर देता है तब भी अर्जेंटीना गोल अंतर से आगे बढ़ सकता है और इसके लिए उसे बड़े अंतर से जीत दर्ज करनी होगी. पिछली बार का उपविजेता अर्जेंटीना अगर इस स्थिति तक पहुंचा तो उसके लिए वह खुद जिम्मेदार है.

नाइजीरिया के खिलाड़ी अब तक प्रभाव छोड़ने में सफल रहे हैं. विशेषकर आइसलैंड के खिलाफ दूसरे हाफ में उसने जिस तरह का प्रदर्शन किया अगर वह अर्जेंटीना के खिलाफ वैसा ही खेल दिखाता है तो दक्षिण अमेरिकी टीम के लिए जीत दर्ज करना मुश्किल हो जाएगा जो अभी से दबाव महसूस कर रही है.

  डेनमार्क बनाम फ्रांस

पहले दोनों मैचों में प्रभावशाली प्रदर्शन नहीं कर पाने के बावजूद जीत दर्ज करने वाला फ्रांस नॉकआउट चरण से पहले डेनमार्क के खिलाफ अपने असली रंग में लौटकर विजय अभियान जारी रखने और ग्रुप सी में शीर्ष स्थान बरकरार रखने के उद्देश्य से मैदान पर उतरेगा.

Soccer Football - World Cup - Group C - Denmark vs Australia - Samara Arena, Samara, Russia - June 21, 2018 Denmark's Christian Eriksen celebrates with team mates after scoring their first goal REUTERS/David Gray - RC1A728A61C0

फ्रांस ने अपने पहले मैच में आस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया जबकि कमजोर माने जा रहे पेरू पर उसे 1-0 से जीत दर्ज करने के लिए संघर्ष करना पड़ा. उसके स्टार स्ट्राइकर एंटोनी ग्रीजमैन ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ भले ही पेनल्टी को गोल में बदला लेकिन वह अब तक अपने असली रंग में नहीं दिखे हैं.

फ्रांस पहले ही नॉकआउट के लिए क्वालिफाई कर चुका है लेकिन उसकी निगाह अपने ग्रुप में शीर्ष स्थान बरकरार रखने पर टिकी है ताकि अंतिम 16 में उसे क्रोएशिया का सामना नहीं करना पड़े जिसका ग्रुप डी में शीर्ष स्थान तय माना जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi