S M L

FIFA World Cup 2018: फाइनल में 'अपने लोगों' की जीत से अफ्रीका में भी जश्न का माहौल

फ्रांस की टीम के तीन खिलाड़ी एम्बाप्पे, सैमयूल उमटीटी और पोल पोग्बा मूल रूप से अफ्रीकी हैं

Updated On: Jul 16, 2018 12:22 PM IST

FP Staff

0
FIFA World Cup 2018: फाइनल में 'अपने लोगों' की जीत से अफ्रीका में भी जश्न का माहौल

दुनिया भर में चढ़ा फीफा वर्ल्ड कप का खुमार अपने फाइनल के वक्त अपने चरम पर था. दुनिया के सभी देश अपनी पसंद के मुताबिक क्रोएशिया और फ्रांस के बीच होने वाले इस फाइनल के लिए बंट गए थे. ऐसे में अफ्रीका के लोग फ्रांस से उम्मीद लगाकर बैठे थे.

फीफा वर्ल्ड कप में यूं तो अफ्रीका महाद्वीप की उम्मीदें लीग चरण के बाद ही खत्म हो गई थी. अफ्रीका के पांचों देश सेनेगल, मोराक्को, इजिप्ट, नाइजीरिया और ट्यूनीशिया की हार के साथ ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी. हालांकि लोगों ने इसके बाद फ्रांस की टीम में अपना सहारा ढूंढ लिया था. फ्रांस की 23 सदस्‍यों वाली टीम में 14 खिलाड़ी ऐसे हैं, जो कि अफ्रीकी मूल से ताल्‍लुक रखते हैं. यानि 60 फीसदी से ज्यादा खिलाड़ी अफ्रीकी मूल से संबंध रखते हैं. एम्बाप्पे, सैमयूल उम्टीटी और पॉल पोग्बा ऐसे ही खिलाड़ियों में हैं जो अफ्रीकी मूल के हैं और अभी भी इसे जुड़ाव महसूस करते हैं. उन्हीं खिलाड़ियों के कारण फ्रांस को अफ्रीका का समर्थन हासिल है. फ्रांस ने पिछले 20 साल से फीफा वर्ल्ड कप नहीं जीता था.

साल 2016 में वह फाइनल में इटली से पेनल्टी शूटआउट में हार कर बाहर हो गई थी. फाइनल में हालांकि टीम ने शानदार खेल दिखाया और चार गोल दागे. इसे में से एक गोल एम्बप्पे और एक गोल पोग पोग्बा ने भी किया. 19 साल के कायलिन को टूर्नामेंट में उनके शानदार खेल और चार गोल के लिए फीफा वर्ल्ड कप यंग प्लेयर अवॉर्ड दिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi