S M L

FIFA World Cup 2018: उलटफेर करने में कितनी सफल होगी आइसलैंड, नेमार के लिए कोस्टा रिका ने बनाई खास रणनीति

विश्व कप के 9वें दिन ब्राजील- कोस्टा रिका, नाइजीरिया-आइसलैंड और सर्बिया-​स्विट्जरलैंड आमने-सामने होंगी

FP Staff Updated On: Jun 21, 2018 07:57 PM IST

0
FIFA World Cup 2018: उलटफेर करने में कितनी सफल होगी आइसलैंड, नेमार के लिए कोस्टा रिका ने बनाई खास रणनीति

फीफा विश्व कप के 9वें दिन तीन मुकाबले खेले जाएंगे. दिन के पहले मुकाबले में स्टार खिलाड़ी नेमार से सजी ब्राजील का सामना कोस्टा रिका से होगा. दूसरे मुकाबले में अपने पहले विश्व कप के पहले ही मुकाबले में अर्जेंटीना जैसी दमदार टीम के साथ ड्रॉ खेलने वाली आइसलैंड के सामने नाइजीरिया की चुनौती होगा. दिन का आखिरी मुकाबला सर्बिया और स्विट्जरलैंड के बीच होगा.

ब्राजील बनाम कोस्टा रिका, शाम 05:30 बजे

पांच बार की विश्व विजेता ब्राजील से फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण में जिस तरह की शुरुआत की उम्मीद थी वो उसे मिली नहीं और अब उसकी अगले दौर में जाने की उसकी राह शुक्रवार को सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में कोस्टा रिका के खिलाफ खेले जाने वाले ग्रुप-ई के अपने दूसरे मैच पर टिकी हुई है. पहले मैच में स्विट्जरलैंड ने ब्राजील को 1-1 से ड्रॉ पर रोक अंक बांटने पर मजबूर कर दिया था. ब्राजील अंकतालिका में दूसरे स्थान पर है. अंतिम-16 में जाने के लिए उसे हर हाल में जीत की दरकार है.। इस मैच में ड्रॉ उसे दूसरी टीमों पर निर्भर कर देगा तो हार उसे बाहर का रास्ता दिखा सकती है.

ब्राजील इस विश्व कप में अपनी पहली जीत की तलाश में है. पहले मैच में ब्राजील के स्टार खिलाड़ी नेमार अपना जादू नहीं दिखा पाए थे. नेमार मैच में गोल नहीं कर पाए थे. नेमार को बुधवार में अभ्यास के दौरान टखने में चोट लग गई थी. हालांकि वह अगले दिन के साथ अभ्यास करते दिखे थे, ब्राजील के प्रशंसकों को उम्मीद होगी की उनका स्टार खिलाड़ी इस अहम मैच के लिए मैदान पर उतरे.

कोस्टा रिका को बेशक सर्बिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन उसका डिफेंस उस मैच में शानदार रहा था. ब्राजील के लिए कोस्टा रिका के डिफेंस को भेद पाना चुनौती रहेगा. कोस्टा रिका ने पिछले मैच में अच्छा खेल दिखाया था, लेकिन किस्मत शायद उसके साथ नहीं थी. सर्बिया के कप्तान एलेक्जेंडर कोलारोव ने फ्री किक के जरिए किए गए गोल के दम पर कोस्टा रिका को हार को मजबूर कर दिया था. कोस्टा रिका चाहेगी कि वह अपने पिछले मैच के प्रदर्शन को जारी रखे. ब्राजील जैसी दिग्गज टीम के खिलाफ वह अच्छी तैयारी से उतरेगी इस बात में कोई शक नहीं है. इस मैच में कोस्टा रिका के डिफेंस को पहले मैच से बेहतर खेल दिखाना होगा क्योंकि नेमार, कोस्टा और मिडफील्डर पॉलिन्हो उसकी कड़ी परीक्षा लेंगे.

नाइजीरिया बनाम आइसलैंड, रात 08:30 बजे

ग्रुप डी में अपना पहला मुकाबला गंवाने के बाद तालिका के सबसे नीचे चल रही नाइजीरिया की नजरें पहली बार विश्व कप में उतरी आइसलैंड पर जीत दर्ज नॉकआउट में जाने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखने की होगी. हालांकि नाइजीरिया के लिए यह इतना आसान नहीं होगा, क्योंकि आइसलैंड ने विश्व कप के अपने पहले ही मैच में खिताब की प्रबल दावेदार अर्जेंटीना को 1-1 की बराबारी पर रोका था.

सुपर ईगल्स नाइजीरियाई टीम के कोच गनोर्ट रोहर सबसे युवा टीम के साथ रूस आए हैं, जिसके खिलाड़ियों की औसत उम्र 25 साल के आस पास हैं. टीम हालांकि विश्व कप के पिछले 13 मैचों में सिर्फ एक में ही जीत दर्ज कर सकी है. विश्व कप 2014 में नॉकआउट का सफर तय करने वाली नाइजीरिया को पहले मैच में क्रोएशिया ने 2-0 से हराया था, जिसमें टीम के मिडफील्डर इटेबो का आत्मघाती गोल भी शामिल था.

वहीं गत उप विजेता अर्जेंटीना के साथ ड्रॉ खेलकर आइसलैंड के हौसले बुलंद हैं. आइसलैंड के गोलकीपर हालर्डोसन मेसी को रोकने में सफल हुए थे. हालर्डोसन का मानना है कि नाइजीरिया को हराना मुश्किल होगा, क्योंकि यह टीम तेज फुटबॉल खेलती हैं.

सर्बिया बनाम स्विट्जरलैंड, रात 11:30 बजे

दिन का आखिरी मुकाबला यूरोपीय टीमों के बीच होगा. सर्बिया और स्विट्जरलैंड के बीच एक कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी. सर्बिया की कोशिश स्विट्जरलैंड को हराकर नॉकआउट के अपनी जगह सुनिश्चित करने पर होगी. सर्बिया ने अपने पहले मुकाबले में कोस्टा रिका को 1-0 से हरा दिया था, वहीं स्विट्जरलैंड ने खिताब की प्रबल दावेदार ब्राजील को 1-1 से ड्रॉ पर रोक दिया था.

सर्बियाई अगर स्विट्जरलैंड को हराकर नॉकआउट में पहुंच जाती है तो स्वतंत्र देश बनने के बाद ऐसा पहली बार होगा. स्विट्जरलैंड के खिलाफ हुई 13 भिड़ंत में उसे केवल दो बार ही हार का मुंह देखना पड़ा है, लेकिन खिलाड़ी अपने पिछले प्रदर्शन से प्रेरणा लेंगे. सर्बियाई टीम स्वतंत्र देश के तौर पर पहली बार विश्व कप के नॉकआउट चरण में पहुंचकर अपने देश के इतिहास में नया अध्याय लिखने के लिए  बेताब है.

वहीं स्विट्जरलैंड की टीम शुरुआती मैच में कड़ी मजबूत प्रतिद्वंद्वी से भिड़ी थी. यह भी दिलचस्प है कि जब भी स्विस टीम ने विश्व कप के शुरुआती मैच में ड्रॉ खेला है, वह अपने ग्रुप से क्वालीफाई (1938, 1994 और 2006) करने में सफल रही है. स्विट्जरलैंड विपक्षी टीम के शारीरिक रूप से मजबूत खिलाड़ियों की ताकत से वाकिफ हैं, पर वे मैच में शुरू से ही दबदबा बनाने की रणनीति को अपनाना चाहेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi