S M L

FIFA World Cup 2018: क्रोए​शिया पर कितना चलेगा मेसी का जादू और कितने सफल होंगे डेनमार्क और फ्रांस

विश्व कप के 8वें दिन डेनमार्क और आॅस्ट्रेलिया, फ्रांस और पेरू, अर्जेंटीना और क्रोएशिया आमने सामने होंगी

Updated On: Jun 20, 2018 07:11 PM IST

FP Staff

0
FIFA World Cup 2018: क्रोए​शिया पर कितना चलेगा मेसी का जादू और कितने सफल होंगे डेनमार्क और फ्रांस

फीफा विश्व एक चरण आगे पहुंच गया है और अब सभी टीमें ग्रुप का अपना दूसरा मैच खेल रही है और इसी के साथ नॉक आउट में टीमों की स्थिति भी साफ होने लग जाएगी. विश्व कप के 8वें दिन तीन मुकाबले खेले जाएंगे. पहला मुकाबला डेनमार्क और आॅस्ट्रेलिया के बीच, दूसरा मुकाबला फ्रांस और पेरू और तीसरा मुकाबला अर्जेंटीना और क्रोएशिया के बीच होगा. गुरुवार को होने वाले इन दिनों मुकाबलों में सबसे ज्यादा निगाहे दिन के आखिरी मुकाबले पर टिकी होंगी, क्योंकि हर कोई देखना चाहेगा कि पिछले बार की रनरअप अर्जेंटीना क्रोएशिया के खिलाफ जीत दर्ज कर पाती है या नहीं और साथ ही पिछले मुकाबले में आइसलैंड के खिलाफ पेनल्टी मिस करने वाले मेसी के जादू का भी सबको इंतजार है. तीन बातों से जानिए गुरुवार को आमने सामने होने वाली सभी टीमों का हाल

डेनमार्क बनाम आॅस्ट्रेलिया, शाम 05:30

  1. ग्रुप सी में फ्रांस से मिली हार के बाद आॅस्ट्रेलिया को अगर नॉकआउट के प्रवेश की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखना है तो उसे डेनमार्क के खिलाफ अपनी लय हासिल करनी पड़ेगी और उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती होगी क्रिस्टियन एरिसकन की, जिसे उनको पार पाना होगा. मिडफील्डर एरिक्सन ने डेनमार्क के क्वालीफाइंग अभियान के दौरान 11 गोल दागे थे.
  2. वहीं शुरुआती मैच में पेरू पर मिली 1-0 की जीत से डेनमार्क की टीम आत्मविश्वास से भरी है , जिसमें उसके गोलकीपर कैस्पर शेमईचेल ने कई बेहतर बचाव किए थे. कैस्पर आॅस्ट्रेलिया की योजनाओं में रोड़ा बन सकते हैं. वह पहले ही अपने पिता के रिकार्ड को तोड़ चुके हैं। गोल नहीं गंवाने के सबसे लंबे समय में उनका रिकार्ड 534 मिनट का है जबकि पीटर के नाम यह 470 मिनट का रहा था.
  3. आॅस्ट्रेलिया के ट्रेंट सेन्सबरी ने भी फ्रांस के खिलाफ मुकाबले में प्रभावित किया था और जियांगसु सुनिंग का यह 26 वर्षीय डिफेंडर मानता है कि आस्ट्रेलियाई टीम का आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ है.
पेरू बनाम फ्रांस, रात 08:30

Soccer Football - World Cup - France Training - France Training Camp, Moscow, Russia - June 18, 2018 France's N'Golo Kante during training REUTERS/Albert Gea - RC1E4A5ECA10

  1. दिन का दूसरे मैच फ्रांस और पेरू आमने सामने होगी. कोच डिडिएर डेसचैम्प्स की टीम फ्रांस शुरुआती मैच में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ इतनी एकजुट नहीं दिखी थी, जिसमें उसने वीएआर (वीडियो एसिसटेंट रैफरी) तकनीक के बाद एंटोइन ग्रीजमैन के पेनल्टी और निर्धारित समय से 10 मिनट पहले पोल पोग्बा के गोल से 2-1 से जीत दर्ज की.
  2. फ्रांस के फ्रंट तीन खिलाड़ी निशाने से चूकते दिखे. ग्रीजमैन और एमबाप्पे और डेम्बेले से टीम को फिर बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी. खिलाड़ी के तौर पर 1998 की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य डेसचैम्प्स के पास चयन के लिए बेहतरीन स्ट्राइकर मौजूद हैं और वे ओलिवर गिरोड से शुरुआत करा सकते हैं.
  3. पेरू की टीम बात की जाये तो डेनमार्क के खिलाफ बेहतर दिख रही थी, लेकिन उसने गोल करने का स्वर्णिम मौका गंवा दिए और उसे इसमें हार का मुंह देखना पड़ा. एक और हार पेरू की नॉकआउट दौर में पहुंचने की उम्मीद तोड़ सकती है जो उनका 1982 के बाद पहला विश्व कप है.
क्रोएशिया बनाम अर्जेंटीना, रात 11:30 बजे
  1. अपने पिछले मैच में आइसलैंड के खिलाफ ड्रॉ से आहत अर्जेंटीना के सामने गुरुवार को क्रोएशिया के चुनौती होगी और इस मुकाबले में एक बार फिर सबकी नजर अर्जेंटीना के कप्तान मेसी पर होगी, जो पिछले मुकाबले में पेनल्टी को गोल में बदलने से चूक गए थे. सबसे बड़ी निराशा मेसी के पेनल्टी शॉट से चूकने के अलावा 11 शॉट में असफल होने से हुई. विश्व कप में किसी खिलाड़ी द्वारा शॉट में असफल होने के मामले में वह इटली के लुईगी रिवा (1970) के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं.
  2. पिछली बार की उप विजेता अर्जेंटीना को अगर क्रोएशिया के खिलाफ निराशाजनक परिणाम मिलता है तो टीम ग्रुप चरण से ही बाहर हो सकती है और यह 2002 विश्व कप की तरह ही होगा, जिसमें उसे पहले दौर में ही बाहर होना पड़ा था. टीमें विश्व कप में केवल एक बार 1998 में एक दूसरे से भिड़ी थी जिसमें अर्जेंटीना ने 1-0 से जीत दर्ज की थी और टीम ने गोल्डन बूट विजेता डेवर सुकर को स्कोर करने से रोक दिया था.
  3. क्रोएशिया ने शुरुआती मैच में नाइजीरिया के खिलाफ 2-0 की जीत से अहम तीन अंक हासिल किए. हालांकि टीम इसके अलावा कई परेशानियों से जूझ रही है. टूर्नामेंट में आने से पहले कप्तान लुका मोदरिच पर भ्रष्टचार घोटाले में झूठी गवाही का आरोप लगा. स्ट्राइकर निकोला कालिनिच पीठ की चोट के कारण रूस से चले गए और कोच ज्लाटको डालिच का कहना है कि शुरुआती एकादश से बाहर किए जाने पर उन्होंने स्थानापन्न खिलाड़ी के तौर पर उतरने से इनकार कर दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi