S M L

FIFA World Cup 2018 : नौ बातों से जानिए, सोमवार को आमने-सामने होने वाली सभी टीमों का हाल

सोमवार को फीफा वर्ल्ड कप के पांचवें दिन तीन मुकाबलें खेले जाएंगे

Updated On: Jun 17, 2018 06:42 PM IST

FP Staff

0
FIFA World Cup 2018 : नौ बातों से जानिए, सोमवार को आमने-सामने होने वाली सभी टीमों का हाल

सोमवार को फीफा वर्ल्ड कप के पांचवें दिन तीन मुकाबलें खेले जाएंगे. पहला मुकाबला स्वीडन और साउथ कोरिया के बीच होगा. दूसरे मैच में बेल्जियम और पनामा का आमना-सामना होगा वहीं दिन के आखिरी मैच में इंग्लैंड के सामने ट्यूनीशिया की चुनौती होगी.

साउथ कोरिया बनाम स्वीडन

स्वीडन अब तक चार बार साउथ अफ्रीका का सामना कर चुका है और अजेय रहा है. साव 1948 के ओलिंपिक खेलों में उसने साउथ अफ्रीका को 12-0 से मात दी थी. स्वीडन 12वीं बार वर्ल्ड कप में खेल रहा है. साल 2006 के बाद वह पहली बार टूर्नामेंट में खेल रहा है जहां उसने प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई किया था.

तेगुक वॉरियर्स के नाम से मशहूर दक्षिण कोरिया की टीम के लिए विश्व कप का सबसे यादगार साल 2002 था, जब उसने सेमीफाइनल तक का रास्ता तय किया था. फीफा रैंकिंग में 61वें नंबर पर मौजूद कोरियाई टीम ने इस बार एशियाई क्वालीफीकेशन में बड़ी मुश्किल से आखिरी राउंड में पहुंचकर विश्व कप के लिए क्वालीफाई किया.

साउथ कोरिया की फुटबॉल टीम

साउथ कोरिया की फुटबॉल टीम

अपने पहले मुकाबले में दक्षिण कोरिया के खिलाफ निजनी नोवगोरोड स्टेडियम में स्वीडन किस्मत आजमाने उतरेगी. दक्षिण कोरिया भी इस मैच में अपने कप्तान की सुंग युइंग और सोन हीयुंग मिन के दम पर ही स्वीडन को टक्कर देने उतरेगी. ऐसे में दोनों टीमों में से विजेता टीम का आंकलन कर पाना मुश्किल है. स्वीडन के पास भले ही उसका स्टार खिलाड़ी इब्राहिमोविच न हो, लेकिन उसकी सबसे बड़ी मजबूती उसकी एकता है

बेल्जियम बनाम पनामा 

फीफा रैंकिंग में तीसरे स्थान पर काबिज बेल्जियम की टीम ग्रुप जी में पनामा के खिलाफ उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन करने को प्रतिबद्ध है. बेल्जियम और पनामा पहली बार एक दूसरे के आमने सामने होंगी. ये वर्ल्डकप बेल्जियम का 13वां वर्ल्ड कप है. अपने पिछले नौ वर्ल्ड कप में बेल्जियम ने केवल एक ही मैच हारा है.

पनामा फुटबॉल टीम

पनामा फुटबॉल टीम

फुटबाल में सुनहरे दौर से गुजर रही बेल्जियम में इडन हजार्ड और केविन डी ब्रुइन जैसे शानदार खिलाड़ी है, जिनसे रूस में अच्छे प्रदर्शन की अपेक्षा होगी. ग्रुप में इंग्लैंड की टीम भी है लेकिन बेल्जियम के नाकआउट दौर में पहुंचने की संभावना है. मुकाबले में अगर टीम पहली बार विश्व कप में खेल रही पनामा को हराने में कामयाब नहीं हो पाती है तो यह बड़ा उलटफेर होगा.

मार्टिनेज की देखरेख में बेल्जियम का प्रदर्शन अच्छा रहा है. उन्होंने सोमवार को कोस्टा रिका को मैत्री मैच में 4-1 से हराया था. टीम ने पिछले 19 मैचों से हार का स्वाद नहीं चखा है.

ट्यूनीशिया बनाम इंग्लैंड

युवाओं के बूते इंग्लैंड वोल्गोग्राद एरिना में ट्यूनीशिया के खिलाफ होने वाले शुरूआती मैच में जीत से शुरूआत करना चाहेगी. ट्यूनीशिया कभी भी विश्व कप के ग्रुप चरण से बाहर नहीं रही लेकिन वह 2010 और 2014 के लिए क्वालिफाई नहीं कर सकी.इंग्लैंड की टीम 2002 और 2006 दोनों में क्वार्टरफाइनल तक पहुंची थी लेकिन वह 2010 विश्व कप के अंतिम 16 में बाहर हो गई थी और फिर पिछले विश्व कप में ग्रुप चरण से आगे नहीं बढ़ सकी थी.

ब्रिटेन के प्रिंस विलियम्स के साथ इंग्लैंड की फुटबॉल

ब्रिटेन के प्रिंस विलियम्स के साथ इंग्लैंड की फुटबॉल

इसमें कोई शक नहीं कि कोच गेरेथ साउथगेट की टीम ट्यूनीशिया के खिलाफ मैच में पूरे तीन अंक हासिल करने की प्रबल दावेदार है लेकिन उसे विपक्षी टीम से मिलने वाली चुनौती से भी सतर्क रहना होगा. अगर ‘ थ्री लायंस ’की टीम इस मैच में हार जाती है तो यह नतीजा बड़ा हैरानी भरा होगा. हालांकि साउथगेट की टीम पर कोई दबाव नहीं है लेकिन एक और बार ग्रुप चरण से बाहर होना उस टीम के लिए काफी निराशाजनक होगा जिसमें काफी युवा खिलाड़ी मौजूद हैं.

इंग्लैंड ने टूर्नामेंट शुरू होने से पहले दो मैत्री मैचों में नाइजीरिया और कोस्टा रिका को पराजित किया और जून 2017 में फ्रांस से मिली 2-3 की हार के बाद उसने एक भी मैच नहीं गंवाया है. टीम की तैयारियां अच्छी रही हैं जिससे उसके खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरे दिख रहे हैं और टीम ट्यूनीशिया के खिलाफ जीत से मजबूत शुरुआत करना चाहेगी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi