S M L

FIFA World Cup 2018: जर्मनी खतरा टालने में कितनी होगी सफल, बेल्जियम और मेक्सिको क्या जा पाएगी अंतिम 16 में

विश्व कप में 10वें दिन बेल्जियम- ट्यूनीशिया, साउथ कोरिया- मेक्सिको और जर्मनी- स्वीडन आमने-सामने होंगी

FP Staff Updated On: Jun 22, 2018 08:35 PM IST

0
FIFA World Cup 2018: जर्मनी खतरा टालने में कितनी होगी सफल, बेल्जियम और मेक्सिको क्या जा पाएगी अंतिम 16 में

फीफा विश्व कप के 10वें दिन पहला मुकाबला बेल्जियम और ट्यूनीशिया के बीच, दूसरा मुकाबला साउथ कोरिया और मेक्सिको के बीच और दिन का आखिरी मुकाबला गत विजेता जर्मनी और स्वीडन के बीच होगा. बेल्जियम की कोशिश शनिवार को ही नॉकआउट में अपनी जगह पक्की करने पर होगी, वहीं जर्मनी को अगर इस विश्व कप से बाहर होने से बचना है तो उसे हर हाल में स्वीडन को हराना होगा.

बेल्जियम बनाम ट्यूनीशिया, शाम 05:30 बजे

शानदार फार्म में चल रही बेल्जियम शनिवार को ट्यूनीशिया के खिलाफ खेलेगी तो उसकी नजरें अंतिम 16 में जगह बनाने पर लगी होगी ताकि इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी मैच करो या मरो का नहीं रहे. बेल्जियम को आखिरी ग्रुप मैच में 28 जून को इंग्लैंड से खेलना है. पहले मैच में बेल्जियम ने पनामा को 3-0 से हराया था, जिसमें रोमेलू लुकाकू ने दो गोल किए थे.

बेल्जियम की टीम अभी तक विश्व कप में किसी अफ्रीकी टीम से नहीं हारी है जबकि ट्यूनीशिया ने टूर्नामेंट में किसी यूरोपीय टीम को नहीं हराया है. अनुभवी ओसामा हदादी टीम में अली मालोल की जगह लेंगे.

वहीं पहले मैच में इंग्लैंड से 2-1 से हारी ट्यूनीशिया के उपर अफ्रीकी देशों की लाज रखने की जिम्मेदारी होगी. मिस्र और मोरक्को पहले ही बाहर हो चुके हैं. दुनिया की तीसरे नंबर की टीम बेल्जियम पिछले विश्व कप में क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी. उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1986 में मैक्सिको में रहा जब वह सेमीफाइनल खेली थी.

साउथ कोरिया बनाम मेक्सिको, रात 08:30 बजे

अपने पहले ही मैच में मौजूदा विजेता जर्मनी को हराने के बाद मेक्सिको की नजरें अब शनिवार को साउथ कोरिया के खिलाफ होने वाले मुकाबले को जीत कर अंतिम-16 में पहुंचने पर लगी हुई है. मेक्सिको ग्रुप-एफ में एक मैच में तीन अंक लेकर स्वीडन के बाद दूसरे नंबर पर मौजूद है और अब उसके पास अगले दौर में पहुंचने का मौका है. वहीं साउथ कोरिया को अपने पहले मैच में स्वीडन से 0-1 से शिकस्त झेलनी पड़ी थी जिसकी बदौलत टीम ग्रुप में सबसे नीचे चौथे नंबर पर है.

मेक्सिको ने टूर्नामेंट में अब तक उम्मीद से बढ़कर प्रदर्शन किया है और जर्मनी को मात देकर उसने सबको चौंका दिया है. जर्मनी और मेक्सिको के मुकाबले में किसी को उम्मीद नहीं थी कि मेक्सिको कुछ ऐसा प्रदर्शन करेगी. लेकिन उसके 22 वर्षीय खिलाड़ी हिर्विग लोजानो की ओर से 35वें मिनट में किए गए एकमात्र गोल के दम पर मेक्सिको ने प्रतियोगिता में जीत के साथ खाता खोला.

मेक्सिको अर्जेटीना में वर्ष 1978 में हुए विश्व कप के बाद से अब तक विश्व कप में कभी भी अपना दूसरा मैच नहीं हारा है। टीम चाहेगी कि वह कोरिया के खिलाफ भी अपने इस रिकॉर्ड को कायम रखे. विश्व कप में मेक्सिको और कोरिया दूसरी बार आमने-सामने हो रहे हैं. दोनों टीमें 20 साल पहले फ्रांस में वर्ष 1998 में पहली बार भिड़ी थीं जब मेक्सिको ने कोरिया को 3-1 से करारी शिकस्त दी थी.

जर्मनी बनाम स्वीडन, रात 11:30 बजे

गत विश्व कप विजेता जर्मनी का पहले दौर में ही बाहर होना नामुमकिन जैसा लगता है, लेकिन इसे हकीकत में बदलने से बचने के लिए मौजूदा चैम्पियन को स्वीडन को हर हालत में हराना होगा. पहले मैच में मेक्सिको से एक गोल से हारने वाली जर्मन टीम अब कोई कोताही नहीं बरत सकती. उसका सामना जान्ने एंडरसन की मजबूत टीम से है जिसके पास यूरोप के सबसे प्रतिभाशाली स्ट्राइकरों में से एक एमिल फोर्सबर्ग है.

बुंडेस्लिगा और आर बी लेइपजिग के साथ दो सत्र में शानदार प्रदर्शन के बाद फोर्सबर्ग रूस आए हैं. जर्मन टीम में उनके क्लब के साथी खिलाड़ी टिमो वेरनेर भी हैं. प्लेआॅफ में इटली को हराकर क्वालीफाई करने वाली स्वीडिश टीम ने पहले मैच में साउथ कोरिया को 1-0 से हराया था. मैक्सिको अगर शनिवार को कोरिया को हरा देता है तो स्वीडन और जर्मनी का मैच ड्रॉ रहने पर ग्रुप एफ से जर्मनी बाहर हो जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi