S M L

FIFA World Cup 2018, Belgium vs England : इंग्लैंड को 2-0 से दी मात, बेल्जियम ने हासिल किया तीसरा स्थान

बेल्जियम का ये विश्व कप में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है वो 1986 में चौथे स्थान पर रहा था

Updated On: Jul 14, 2018 10:10 PM IST

FP Staff

0
FIFA World Cup 2018, Belgium vs England : इंग्लैंड को 2-0 से दी मात, बेल्जियम ने हासिल किया तीसरा स्थान

थॉमस मियूनिएर और ईडन हेजार्ड के गोलों की मदद से बेल्जियम ने फीफा विश्व कप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए सेंट पीटर्सबर्ग में तीसरे स्थान के प्लेऑफ मुकाबले में 2-0 से हराया. निलंबन के कारण फ्रांस के खिलाफ सेमीफाइनल नहीं खेल सके मियूनिएर ने चौथे ही मिनट में गोल करके बेल्जियम को बढ़त दिला दी. इसके बाद हेजार्ड ने आखिरी क्षणों में गोल करके 2- 0 से जीत सुनिश्चित की.

इससे पहले बेल्जियम का विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1986 में था जब वह चौथे स्थान पर रहा था. बेल्जियम ने एक पखवाड़े के भीतर दूसरी बार इंग्लैंड को हराया है. ग्रुप चरण में उसे हराने वाले बेल्जियम ने 82 साल तक इंतजार किया था. गेरेथ साउथगेट ने क्रोएशिया से सेमीफाइनल में हारी इंग्लैंड टीम में चार बदलाव किए थे. इंग्लैंड ने विश्व कप में अपनी सबसे युवा टीम उतारी जिसमें खिलाड़ियों की औसत आयु 25 वर्ष 174 दिन थी.

मैच की महत्वपूर्ण बातें

बेल्जियम की शुरुआत धमाकेदार रही. पेरिस सेंट जर्मेन के डिफेंडर मियूनिएर ने रोमेलू लुकाकू के बनाए मूव पर चौथे ही मिनट में गोल करके बेल्जियम को बढ़त दिला दी. ये बात तो पहले से ही कही जा रही थी कि पहले सेमीफाइनल में बाहर बैठने वाले थॉमस मियूनिएर इस मैच में वापसी कर रहे हैं और यह इंग्लैंड के लिए सिरदर्द वाली खबर साबित हो सकती है. और हुआ भी वही.

शुरुआत से बेल्जियम ने अपना पलड़ा भारी रखा हुआ था. बेल्जियम ने जितने मौके इस दौरान बनाए उसके हिसाब से वो 2-0 से आगे हो सकता था. एक मौके पर केविन डी ब्रुइन को सिर्फ गोलकीपर जॉर्डन पिकफोर्ड को छकाना था.

इंग्लैंड के मैनेजर गेरेथ साउथगेट के लिए अपने खिलाड़ियों का मनोबल बनाए रखना एक बड़ी समस्या थी. फिर भी वो बराबरी का गोल करने की भरसक कोशिश कर रहे थे. 23वें मिनट में हैरी केन को एक अच्छा मौका मिला था, लेकिन वह पोस्ट से दूर मार बैठे.

इंग्लैंड की टीम मैच में वापसी करने के लिए प्रयासरत रही. रुबेन लोफ्टस-चीक और एरिक डियर मिडफील्ड में अच्छा खेल दिखा रहे थे. वे बेल्जियम को दूर रखने में कामयाब भी हो रहे थे. इंग्लैंड के मैनेजर गेरेथ साउथगेट को अपने खिलाड़ियों पर पूरा भरोसा था. तभी वह डग आउट से उनका हौसला बढ़ा रहे थे.

34वें मिनट में बेल्जियम ने एक अच्छा मूव बनाया. गोल के सामने खड़े टोबी एल्डरवाइल्ड को गेंद मिली तो उन्होंने बाइसिकिल किक लगाई जो गोल से ऊपर निकल गई. हालांकि  गोलकीपर जॉर्डन पिकफोर्ड ने भी ऊंची छलांग लगा दी उसे क्लियर करने के लिए. लेकिन इंग्लैंड की रक्षा पंक्ति को ये मौका देना ही नहीं चाहिए था.

इंग्लैंड ने दूसरे हाफ की शुरुआत से ही दो खिलाड़ियों के सब्सिट्यूट लिए हैं. रहीम स्टर्लिंग की जगह मार्कस रशफोर्ड आए, जबकि जेसी लिंगार्ड को डैनी रोज की जगह लाया गया. दूसरे हाफ के नौवें मिनट में इंग्लैंड के हैरी केन को मिला था, लेकिन वो जेसी लिंगार्ड के पास पर खुद को पहुंचा नहीं पाए. वह इस कोशिश में गिर भी पड़े.

बेल्जियम के गोलकीपर थिबॉट कटरेआ का शानदार बचाव. एरिक डियर ने ऐन गोल पोस्ट के सामने से जोरदार शॉट लगाया जो थिबॉट कटरेआ ने नाकाम कर दिया. ये वाकई दर्शनीय था. इंग्लैंड का ये शर्तिया गोल होता. 69वें मिनट में इंग्लैंड के एरिक डियर के मौका गंवाने के बाद 73वें मिनट में हैरी मैगइरे ने प्रयास किया जो गोलकीपर बेल्जियम के गोलकीपर थिबॉट कटरेआ ने बचा लिया. इंग्लैंड लगातार मौके बना भी रहा था और गंवा भी रहा था.

इसके बाद हेजार्ड ने 82वें मिनट में दूसरा गोल करके इंग्लैंड की वापसी के सारे रास्ते बंद कर दिए. ईडन हेजार्ड ने केविन डी ब्रुइन के पास पर बाएं छोर पर गेंद को जाल में उलझा दिया, विश्व कप में ये ईडन हेजार्ड का तीसरा गोल है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi