S M L

FIFA World Cup 2018: फाइनल के टिकट के लिए फ्रांस और बेल्जियम में होगी रोमांचक जंग

यूरोपीय पड़ोसी और प्रतिद्वंद्वी पिछली बार जब विश्व कप में आपस में भिड़े थे तो फ्रांस ने 1986 में तीसरे स्थान के मुकाबले में 4-2 से बेल्जियम को हराया था

AFP Updated On: Jul 09, 2018 06:58 PM IST

0
FIFA World Cup 2018: फाइनल के टिकट के लिए फ्रांस और बेल्जियम में होगी रोमांचक जंग

फ्रांस और बेल्जियम की टीमों में स्टार स्ट्राइकरों की मौजूदगी के कारण दोनों टीमों के बीच होने वाले विश्व कप सेमीफाइनल में दर्शकों को काफी गोल देखने को मिल सकते हैं. ये यूरोपीय पड़ोसी और प्रतिद्वंद्वी पिछली बार जब विश्व कप में आपस में भिड़े थे तो फ्रांस ने 1986 में तीसरे स्थान के मुकाबले में 4-2 से बेल्जियम को हराया था.

दोनों टीमों के बीच तीन साल पहले स्टेड डि फ्रांस में खेले गए प्रदर्शनी मैच में बेल्जियम ने 4-3 से जीत दर्ज की थी. विश्व कप 2002 की पूर्व संध्या पर फ्रांस को जब मैत्री मैच में बेल्जियम के खिलाफ 1-2 से हार झेलनी पड़ी थी तो राष्ट्रीय स्टेडियम में दर्शकों ने मेजबान देश के खिलाड़ियों की हूटिंग की थी.

फ्रांस हालांकि मौजूदा विश्व कप की सबसे युवा टीम की बदौलत 2006 के बाद पहली बार विश्व कप सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रहा है. टीम को यहां तक पहुंचाने में 19 साल के फॉरवर्ड कायलिन एम्बाप्पे की अहम भूमिका रही है जबकि बेंजामिन और लुकास हर्नांडेज की अनुभवहीन अटैकिंग फुलबैक जोड़ी ने भी शानदार प्रदर्शन किया है.

Soccer Football - World Cup - France Training - France Training Camp, Istra, Russia - July 2, 2018 France's Blaise Matuidi and Paul Pogba during training REUTERS/Sergei Karpukhin - RC16E35B3AE0

फ्रांस की 1998 मे विश्व कप जीतने वाली टीम के कप्तान और मौजूदा टीम के कोच दिदिएर डेसचैम्प्स ने दाएं छोर से पवार्ड और बाएं छोर से हर्नांडेज को खिलाने का बड़ा फैसला किया था. बाइस साल के इन दोनों खिलाड़ियों को सिर्फ 10-10 अंतरराष्ट्रीय मैचों में खेलने का अनुभव है लेकिन मौजूदा विश्व कप में दोनों ने धैर्य और जज्बा दिखाया है. दूसरी तरफ शुरुआत में संदेह जताया जा रहा था कि कोच रोबर्टो मार्टिनेज बेल्जियम की व्यक्तिगत प्रतिभा को सामूहिक ताकत में बदल पाएंगे या नहीं. प्रशंसकों ने अगस्त 2016 में उनके टीम के साथ जुड़ने को अधिक तवज्जो नहीं दी थी क्योंकि इससे कुछ समय पहले इंग्लैंड की प्रीमियर लीग टीम एवर्टन ने उन्हें बर्खास्त किया था.

मार्टिनेज के कार्यकाल की शुरुआत स्पेन के खिलाफ घरेलू मैदान पर 0-2 की हार के साथ हुई लेकिन इसके बाद से बेल्जियम 24 मैचों से अजेय है और इस दौरान उसने 78 गोल किए जबकि सिर्फ एक मैच में टीम गोल नहीं कर पाई. फ्रांस के पूर्व स्ट्राइकर थियेरी हेनरी बेल्जियम के सहायक कोच हैं और टीम मौजूदा विश्व कप के पांच मैचों में 14 गोल के साथ टूर्नामेंट में सर्वाधिक गोल दागने वाली टीम है.

Belgium's players celebrate after their second goal during the Russia 2018 World Cup round of 16 football match between Belgium and Japan at the Rostov Arena in Rostov-On-Don on July 2, 2018. / AFP PHOTO / PIERRE-PHILIPPE MARCOU / RESTRICTED TO EDITORIAL USE - NO MOBILE PUSH ALERTS/DOWNLOADS जापान के खिलाफ अंतिम 16 के मुकाबले में टीम जब 0-2 से पिछड़ रही थी तब मार्टिनेज ने मारुआने फेलाइनी और नासेर चाडली दोनों को मैदान पर उतारा और दोनों ने गोल दागे और टीम 3-2 से जीत दर्ज करने में सफल रही.

मैच के दौरान सभी की नजरें बेल्जियम के गोलकीपर थिबॉ और फ्रांस के पर टिकी होंगी.

फ्रांस और टोटेनहैम की ओर से गलतियां करने के लिए पिछले एक साल में लारिस को आलोचना का सामना करना पड़ा है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम के पहले मैच में उन्हें एक लंबे शॉट को जाने दिया और उस समय राहत की सांस की जब यह क्रासबार से टकरा गया. उरुग्वे के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में हालांकि लारिस बेहतरीन लय में दिखे और उन्होंने कुछ शानदार बचाव किए.

विन्सेंट कोंपानी, यान वर्टोनगेन और फेलाइनी के रूप में बेल्जियम के पास लंबे कद के डिफेंडर है जो हैडर लगाने में माहिर हैं. थिबॉ ने हालांकि टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया है. ब्राजील के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में उन्होंने विरोधी टीम के हमलों को नाकाम किया. बेल्जियम को हालांकि डिफेंडर थॉमस मेनुएर की गैरमौजूदगी से निपटना होगा जिन्होंने दोनों छोर से बेल्जियम के आक्रमण में अहम भूमिका निभाई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi