S M L

फीफा अंडर 17 विश्व कप : कप्तान जॉन के डबल से जर्मनी क्वार्टर फाइनल में

राउंड ऑफ-16  के पहले मुकाबले में कोलंबिया को 4-0 से शिकस्त दी

Updated On: Oct 16, 2017 08:12 PM IST

Bhasha

0
फीफा अंडर 17 विश्व कप : कप्तान जॉन के डबल से जर्मनी क्वार्टर फाइनल में

जर्मनी फीफा अंडर-17 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली पहली टीम बनी. उसने कप्तान जॉन फिते आर्प के दो गोल की बदौलत सोमवार को नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में राउंड ऑफ-16  के पहले मुकाबले में कोलंबिया के कमजोर डिफेंस का पूरा फायदा उठाकर 4-0 से जीत दर्ज की.

लीग मैचों में ईरान से हारकर टूर्नामेंट में सबसे बड़ा उलटफेर झेलने वाली जर्मनी के मजबूत खेल के आगे दक्षिण अमेरिकी टीम जूझती नजर आई, उसने हालांकि कई बार विपक्षी टीम के गोल में सेंध लगाई, लेकिन खाता खोलने में सफल नहीं हो सकी. जर्मनी के खिलाड़ियों ने हालांकि यहां की गर्मी के बावजूद काफी शानदार खेल दिखाया.

अपने दसवें फाइनल्स में खेल रही जर्मनी के लिए कप्तान जॉन फिते आर्प ने सातवें और 65वें मिनट में दो गोल दागे जिससे टूर्नामेंट में उनके चार मैचों में चार गोल हो गए. उनके अलावा यान बिसेक ने 39वें और जान येबोआ ने 49वें मिनट में दो अन्य गोल किए.

आर्प ने सातवें मिनट में कोलंबिया के गोलकीपर केविन मीर की गलती का पूरा फायदा उठाते हुए गोल कर जर्मनी को 1-0 से आगे कर दिया. मिडफील्डर जान येबोआ ने कोलंबियाई डिफेंडरों से बचते हुए आर्प को पास दिया जिन्होंने मुड़कर शॉट लगाया जो सीधे गोलपोस्ट में पहुंचा, हालांकि गोलकीपर इसे आसानी से बचा सकता था.

चार बार फीफा के इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंची जर्मनी को यानिक केटल के चोटिल होने से करारा झटका लगा जिनकी जगह जोशा वागनोमान को उतारा गया. इसके बाद जर्मनी की टीम में थोड़ी सुस्त दिखाई दी जिससे कोलंबियाई टीम ने 30वें मिनट तक बराबरी करने के लिए दो शानदार प्रयास किए. फिर जर्मनी ने हमले थोड़े तेज किए. तीन मिनट बाद येबोआ का शानदार शॉट गोलपोस्ट से लगकर बाहर ही रह गया, वर्ना जर्मनी की बढ़त दोगुनी हो गई होती.

लेकिन जर्मनी का इंतजार जल्द ही खत्म हुआ जब 39वें मिनट में यान बिसेक ने कॉर्नर शॉट पर टीम के लिए शानदार हेडर से दूसरा गोल किया. यह 2-0 की बढ़त पहले हाफ के अंतिम मिनट में और बढ़ सकती थी, मगर एक अच्छा प्रयास कामयाब नहीं हो सका.

दूसरे हाफ में जर्मनी ने मैदान पर आते ही आक्रामकता दिखाई. कप्तान आर्प 49वें मिनट में गेंद लेकर आगे बढ रहे थे और उन्होंने इसे येबोआ की ओर कर दिया, जिन्होंने शानदार गोल कर स्कोर 3-0 किया. कप्तान आर्प ने 65वें मिनट में टीम की ओर से चौथा और अपना दूसरा गोल किया. इसके बाद उनकी जगह जेसी नगानकाम को मैदान पर उतारा गया.

हालांकि जर्मनी का फीफा के इस अंडर-17 टूर्नामेंट में प्रदर्शन इतना शानदार नहीं रहा है, लेकिन इस बार वह काफी मजबूत दिख रही है, टीम 32 साल पहले इस टूर्नामेंट में उप विजेता रही थी.

यह कोलंबिया का छठा फाइनल्स था, लेकिन वह अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सकी. अभी तक उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2009 में था जब वे सेमीफाइनल में स्पेन से 0-1 से हारकर तीसरे स्थान पर रहे थे.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi