S M L

फीफा अंडर-17 विश्व कप : स्पेन को 5-2 से पीटकर इंग्लैंड बना चैंपियन

फाइनल में पिछड़ने के बाद फिलिप फोडेन के दो गोल की बदौलत इंग्लैंड ने जोरदार वापसी की

Updated On: Nov 08, 2017 03:47 PM IST

Bhasha

0
फीफा अंडर-17 विश्व कप : स्पेन को 5-2 से पीटकर इंग्लैंड बना चैंपियन

फिलिप फोडेन के दो गोल की बदौलत इंग्लैंड ने पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी करते हुए शनिवार को कोलकाता में स्पेन को 5-2 से हराकर फीफा अंडर-17 विश्व कप का खिताब जीता, जबकि स्पेन को चौथी बार खिताबी मुकाबले में जगह बनाने के बावजूद एक बार फिर बिना ट्रॉफी के स्वदेश लौटना होगा.

पहली बार फाइनल में खेल रहे इंग्लैंड की तरफ से फोडेन (69वें और 88वें मिनट) ने दो गोल दागे, जबकि रेयान ब्रेवस्टर (44वें), मोर्गन गिब्स वाइट (58वें मिनट) और मार्क ग्युही (84वें मिनट) ने एक-एक गोल किया. टूर्नामेंट में पहले ही दो बार हैट्रिक के साथ गोल करने वालों की सूची में शीर्ष पर चल रहे ब्रेवस्टर का यह आठवां गोल था. स्पेन की ओर से दोनों गोल सर्जियो गोमेज (10वें और 31वें मिनट) ने किए.

दोनों टीमों के बीच हुआ यह मुकाबला यूरोपीय चैंपियनशिप का दोहराव था. उस मैच में शिकस्त झेलने वाले इंग्लैंड ने इस तरह उस हार का बदला भी चुकता कर दिया. यूरोपीय चैंपियनशिप का फाइनल निर्धारित समय में 2-2 से बराबर रहा था जिसके बाद स्पेन की टीम ने पेनल्टी शूटआउट में जीत दर्ज की थी.

स्पेन की टीम इससे पहले भी तीन बार 1991, 2003 और 2007 में फाइनल में प्रवेश करने में सफल रही थी, लेकिन तीनों ही बार उसे शिकस्त का सामना करना पड़ा था और टीम चौथी बार भी फाइनल में हार के मिथक को तोड़ने में विफल रही.

फाइनल से पहले टूर्नामेंट की एकमात्र अजेय टीम इंग्लैंड ने इस जीत के साथ 2017 में आयु वर्ग के टूर्नामेंटों में अपना दबदबा बरकरार रखा. इससे पहले इंग्लैंड की अंडर-20 टीम ने भी इस साल कोरिया में अंडर-20 विश्व कप जीता था, जबकि उसकी अंडर-19 टीम यूरोपीय चैंपियन बनी.

स्पेन ने मैच में शानदार शुरुआत की और बार्सीसलोना के गोमेज ने 10वें मिनट में ही इंग्लैंड के गोलकीपर कर्टिस एंडरसन को छकाकर टीम को 1-0 से आगे कर दिया. बायें छोर से युआन मिरांडा के क्रास को सेसार गेलबर्ट ने गोल की तरफ सरकाया जिसे गोमेज ने अपने कब्जे में लेकर गोल के अंदर पहुंचा दिया. गोमेज ने आधा घंटा पूरा होने के तुरंत बाद अपना दूसरा गोल दागा. गेलबर्ट और कप्तान अबेल रुइज ने अच्छा मूव बनाया जिसका फायदा उठाते हुए गोमेज ने स्पेन को 2-0 से आगे कर दिया.

टूर्नामेंट के शीर्ष स्कोरर ब्रेवस्टर ने इसके बाद इंग्लैंड की वापसी की नींव रखी जब लीवरपूल के इस स्ट्राइकर ने स्टीवन सेसेगनोन के क्रास को हेडर के जरिये गोल में पहुंचाया. मध्यांतर तक स्पेन की टीम 2-1 से आगे थी.

सेसेगनोन ने 58वें मिनट में एक और शानदार मूव बनाया और इस बार गिब्स ने गोल दागकर टीम को 2-2 से बराबरी दिला दी. फोडेन ने इसके बाद 69वें मिनट में कैलम हडसन ओडोई के क्रास को गोल में बदलकर इंग्लैंड को मैच में पहली बार 3-2 से आगे किया.

स्पेन की वापसी की उम्मीदें 84वें मिनट में टूट गई जब ग्युही ने ओडोई की फ्री किक को गोल में पहुंचाकर अपनी टीम को 4-2 से आगे कर दिया. फोडेन ने इसके बाद अंतिम लम्हों में मैच का अपना दूसरा और टूर्नामेंट का तीसरा गोल दागकर इंग्लैंड की 5-2 से जीत सुनिश्चित की.

यह टूर्नामेंट रिकॉर्डों के लिए भी जाना जाएगा. मौजूदा टूर्नामेंट गोलों और दर्शकों की संख्या के लिहाज से इस प्रतियोगिता के इतिहास का सबसे सफल टूर्नामेंट रहा. इस टूर्नामेंट में 52 मैचों में टीमों ने 179 गोल दागे. इससे पहले टूर्नामेंट में सर्वाधिक गोल 2013 में संयुक्त अरब अमीरात में हुए थे जब प्रतिस्पर्धी टीमें 172 गोल दागने में सफल रही थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA
Firstpost Hindi