S M L

FIFA World Cup History: 1986 के बाद फीफा के इतिहास के 'शो मैन' बन गए थे डिएगो मैराडोना

डिएगो मैराडोना ने साल 1986 के वर्ल्ड कप में अकेले अपने दम पर अर्जेंटीना को वर्ल्ड कप जिताया था

Updated On: Jun 14, 2018 12:42 PM IST

Riya Kasana Riya Kasana

0
FIFA World Cup History: 1986 के बाद फीफा के इतिहास के 'शो मैन' बन गए थे डिएगो मैराडोना

फीफा वर्ल्ड कप में इस बार अर्जेंटीना को तीसरी बार खिताब जीताने का दारोमरदार उनके स्टार स्ट्राइकर लियोनेल मेसी पर है. अर्जेंटीना ने साल 1978 में अपना पहला खिताब जीता था वहीं साल 1986 में उन्होंने दूसरी बार इस खिताब पर कब्जा किया था. सन 1986 के वर्ल्ड कप में अर्जेंटीना की टीम में यूं तो कई स्टार खिलाड़ी थे लेकिन डिएगो मैराडोना इस टीम के लिए 'शोमैन' साबित हुए, जिन्होंने टीम को खिताब तक भी पहुंचाया. इस वर्ल्ड कप ने ही मैराडोना को खुद को महान फुटबॉलर साबित करने का मौका दिया

मैराडोना के नाम था 1986 का वर्ल्ड कप

मैराडोना के लिए मैक्सिको में हो रहे इस वर्ल्ड कप में खुद को साबित करना बेहद जरूरी था. साल 1982 में स्पेन में हुए वर्ल्ड कप में ब्राजील के खिलाफ फाइनल से पहले उन्हें वापस भेज दिया गया था.

Football - 1982 FIFA World Cup - Second Phase Group 3 - Brazil v Argentina - Estadio Sarria, Barcelona - 2/7/82 Argentina's Diego Maradona breaks away from Brazil's Leandro Mandatory Credit: Action Images / Sporting Pictures CONTRACT CLIENTS PLEASE NOTE: ADDITIONAL FEES MAY APPLY - PLEASE CONTACT YOUR ACCOUNT MANAGER - MT1ACI2069951

1986 का मैक्सिको फीफा वर्ल्ड कप ही मैराडोना के लिए याद किया जाता है. मैराडोना टीम के कप्तान थे. मैराडोना ने इस वर्ल्ड कप में पांच गोल किए और पांच गोल करने में मदद की. उनके इसी प्रदर्शन के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया और गोल्डन बॉल से नवाजा गया. इसके बाद वह दुनिया भर में छा गए थे.

इंग्लैंड के खिलाफ क्वार्टर फाइनल का यादगार मुकाबला

इस वर्ल्ड कप के क्वार्टर फाइनल में अर्जेंटीना का सामना इंग्लैंड से था. अर्जेंटीना ने मैच 2-1 से अपने नाम किया. अर्जेंटीना की ओर से दोनों गोल डिएगो ने दागे. उनका पहला गोल विवादित 'हैंड ऑफ गॉड' कहलाया जाता है वहीं दूसरा गोल सदी का बेहतरीन गोल माना जाता है. दरअसल मैच के सेकंड हाफ में विपक्षी टीम के पेनल्टी एरिया में खड़े मैराडोना ने गोल किया. मैच के बाद पता चला कि गोल उनके सिर से लगकर नहीं बल्कि हाथ से लगकर नेट में गया था जिसपर मैच के वक्त रेफरी का ध्यान नहीं गया. मैराडोना ने इस विवाद पर कहा था कि ये गोल 'थोड़ा मैराडोना के सिर से और बाकि हैंड ऑफ गॉड' की वजह से हुआ.

Football - 1986 FIFA World Cup - Quarter Final - England v Argentina - Azteca Stadium, Mexico City - 22 June 1986 Diego Maradona scores for Argentina Mandatory Credit: Action Images / Juha Tamminen - MT1ACI1482522

इस गोल के चार मिनट बाद ही मैराडोना ने ऐसा गोल किया जिसने उनकी काबिलियत को साबित कर दिया. मैराडोना ने इंग्लिश गोलकीपर सहित पांच खिलाड़ियों को चकमा देते हुए यह गोल किया था. उस समय सभी दिग्गजों ने इस गोल को सबसे बेहतरीन गोल करार दिया था.

डिएगो की जिंदगी काफी विवादित रही और वह  बैन भी किए गए. कोकीन का इस्तमाल करने के लिए साल 1991 में उनपर 15 महीने का प्रतिबंध लगा दिया गया था. साल 1997 में अपने जन्मदिन के दिन उन्होंने फुटबॉल से रिटायरमेंट ले लिया था. लेकिन इसके बाद वह अधिकतर वक्त बिमार रहने लगे. ड्रग्स और कोकीन की वजह से उनके शरीर को काफी नुकसान हुआ. तमाम विवादों के बावजूद डिएगो को वर्ल्ड कप का सबसे सफल खिलाड़ियों माना जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi