S M L

जन्मदिन विशेष: 'मेसी' वो नाम जो फील्ड से फैंस के दिलों तक राज करता है

खेल | FP Staff | Jun 24, 2018 01:24 PM IST
X
1/ 5
आज दुनिया भर में सबसे मशहूर फुटबॉल लियानेल मेसी का जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था. उनके पिता फैक्ट्री में वर्कर थे वहीं माता क्लीनर थी.

आज दुनिया भर में सबसे मशहूर फुटबॉल लियानेल मेसी का जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था. उनके पिता फैक्ट्री में वर्कर थे वहीं माता क्लीनर थी.

X
2/ 5
उन्हें बचपन में ही गम्भीर रूप से बीमार होने के कारण इलाज के लिए बेहद महंगे और लम्बे चलने वाले ग्रोथ हार्मोन ट्रीटमेंट की आवश्यकता पड़ी थी. तब बर्सिलोना ने उनका साथ दिया. साल 2000 में उन्होंने करार किया इसके बाद से वह इसी क्लब के साथ है.

उन्हें बचपन में ही गम्भीर रूप से बीमार होने के कारण इलाज के लिए बेहद महंगे और लम्बे चलने वाले ग्रोथ हार्मोन ट्रीटमेंट की आवश्यकता पड़ी थी. तब बर्सिलोना ने उनका साथ दिया. साल 2000 में उन्होंने करार किया इसके बाद से वह इसी क्लब के साथ है.

X
3/ 5
 मेसी जितने अच्छे खिलाड़ी हैं, उतने ही अच्छे इंसान भी हैं. दुनिया भर में चैरिटी के कामों में वो बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं. सन 2007 में उन्होंने लियो मेसी फाउंडेशन की स्थापना की. उनकी कोशिश यही होती है कि किसी और बच्चे को उन हालातों से न गुजरना पड़े, जिनसे उन्हें गुजरना पड़ा था.

मेसी जितने अच्छे खिलाड़ी हैं, उतने ही अच्छे इंसान भी हैं. दुनिया भर में चैरिटी के कामों में वो बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं. सन 2007 में उन्होंने लियो मेसी फाउंडेशन की स्थापना की. उनकी कोशिश यही होती है कि किसी और बच्चे को उन हालातों से न गुजरना पड़े, जिनसे उन्हें गुजरना पड़ा था.

X
4/ 5
 2016 में अमेरिका में खेले गए कोपा अमेरिका कप के फाइनल में अर्जेंटीना को चिली से हार का सामना करना पड़ा तो वो बेहद भावुक हो गए और इसी भावुकता में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास की घोषणा कर दी. बाद में खेल से जुड़े दिग्गजों और अपने चाहने वालों के पुरजोर अनुरोध पर उन्होंने रिटायरमेंट लेने का निर्णय बदल लिया

2016 में अमेरिका में खेले गए कोपा अमेरिका कप के फाइनल में अर्जेंटीना को चिली से हार का सामना करना पड़ा तो वो बेहद भावुक हो गए और इसी भावुकता में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास की घोषणा कर दी. बाद में खेल से जुड़े दिग्गजों और अपने चाहने वालों के पुरजोर अनुरोध पर उन्होंने रिटायरमेंट लेने का निर्णय बदल लिया

X
5/ 5
बैलून डी ओर खिताब उन्होंने रिकॉर्ड 5 बार सन 2009, 2010, 2011, 2012 और 2015 में जीता है.

बैलून डी ओर खिताब उन्होंने रिकॉर्ड 5 बार सन 2009, 2010, 2011, 2012 और 2015 में जीता है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी