S M L

वर्ल्ड कैंसर डे पर युवराज ने ट्वीट करके की लोगों से यह खास अपील

युवराज सिंह ने ट्वीट करके की लोगों से कैंसर के खिलाफ मिलकर जंग लड़ने की अपील

Updated On: Feb 04, 2018 03:30 PM IST

FP Staff

0
वर्ल्ड कैंसर डे पर युवराज ने ट्वीट करके की लोगों से यह खास अपील

लोग अक्सर कैंसर का नाम सुनकर यह धारणा बना लेते हैं कि उन्हें यह नहीं होगा. ऐसा ही भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह को भी लगता था. जब उन्हें पता चला कि उन्हें कैंसर है तो उन्होंने इससे डरने की जगह लड़ने की सोची और यह जंग जीती भी. वर्ल्ड कैंसर डे पर युवराज सिंह ने ट्वीट करके सबसे इस बिमारी के खिलाफ लड़ाई का हिस्सा बनने को कहा. उन्होंने लिखा ‘कैंसर के बाद एक नई जिंदगी की शुरुआ की जा सकती है, चाहे कोई भी समय हो या कोई भी उम्र.  हर साल लगभग नौ लाख लोग पैसे की कमी के कारण  कैंसर अपनी जिंदगी की जंग हार जाते हैं. आईए मिलकर ऐसे लोगों की कैंसर की जंग का हिस्सा बनते हैं.’

वर्ल्ड कप 2011 में उनका शरीर कैंसर की वजह से उनकी साथ नहीं दे पा रहा था. युवराज सिंह ने अपनी ऑटोबायोग्राफी टेस्ट ऑफ माय लाइफ में लिखा है, ‘उस पूरे टूर्नामेंट मुझे उल्टियां हो रही थी, सांस में लेने में दिक्कत हो रही थी. मुझे वर्ल्ड कप के आगे कुछ नहीं दिख रहा था. मुझे नींद नहीं आती थी और इस कारण मुझे कई बार नींद की गोलियां भी दी जाती थी ताकि मैं मैच के लिए तरोताजा रहूं. मेरे लिए जीत बहुत ज्यादा जरूरी थी. मैंने अपने स्टाफ मेंबर से फाइनल मैच से एक रात पहले कहा था कि भगवान चाहे तो मेरी जान ले ले लेकिन हमें वर्ल्ड कप दे दे’.

जब युवराज को पता चला कि उन्हें कैंसर है तो बाकि लोगों की तरह उनके दिल में पहला खयाल यह नहीं था कि वह जिंदा रह पाएंगे या नहीं, उन्हें तो सिर्फ इस बात का डर था कि क्या वह दोबारा क्रिकेट खेल पाएंगे? क्रिकेट के प्रति उनका यह जूनून ही तो है जिसकी वजह से वह अब तक उन्होंने हार नहीं मानी है. कैंसर के नाम से ही जहां लोग कांपने लगते हैं, वहीं इस खिलाड़ी ने बीमारी से लड़कर मैदान पर वापसी की और साबित किया क्रिकेट उनके लिए सिर्फ एक खेल नहीं है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi