S M L

पूर्व कीवी कोच माइक हेसन की राय, टेस्ट क्रिकेट को बचाने के लिए इसकी विश्व चैंपियनशिप जरूरी

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली एशेज इस चैंपियनशिप के तहत खेली जानी पहली सीरीज होगी. चोटी पर रहने वाली दो टीमें जून 2021 में आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी

Updated On: Nov 12, 2018 08:41 PM IST

Bhasha

0
पूर्व कीवी कोच माइक हेसन की राय, टेस्ट क्रिकेट को बचाने के लिए इसकी विश्व चैंपियनशिप जरूरी

न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन ने मुंबई में सोमवार को कहा कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप क्रिकेट के लंबे प्रारूप के अस्तित्व को बचाए रखने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के अनुसार रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज नौ टीमें चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी. इसके तहत प्रत्येक टीम दो वर्ष के चक्र में आपसी सहमति से चुने गए प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ स्वदेश और विदेश आधार पर छह सीरीज खेलेंगी.

यह चक्र आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के बाद शुरू हो जाएगा. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली एशेज इस चैंपियनशिप के तहत खेली जानी पहली सीरीज होगी. चोटी पर रहने वाली दो टीमें जून 2021 में आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी.

हेसन ने कहा, ‘टेस्ट क्रिकेट का अस्तित्व तभी तक रहेगा जबकि उसमें रोमांचक मुकाबले होंगे. इसका अस्तित्व बनाए रखने के लिए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप बेहद महत्वपूर्ण है. अगर मैचों में अच्छा मुकाबला नहीं होगा और उन्हें केवल द्विपक्षीय आधार पर आयोजित किया जाएगा तो फिर समय के साथ इसकी प्रासंगिकता समाप्त हो जाएगी.’ आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब के मुख्य कोच का पद संभालने वाले हेसन ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में अब भी लोगों की काफी दिलचस्पी है.

उन्होंने कहा, ‘लोगों को लगता है कि टेस्ट क्रिकेट समाप्त हो रहा है, लेकिन मुझे लगता है कि अभी ऐसा नहीं है. अब भी लोगों की इसमें काफी दिलचस्पी है. विश्व टेस्ट चैंपियनशिप शुरू होने पर पता रहेगा कि आपको दो साल में आठ टेस्ट मैच खेलने हैं. खिलाड़ियों को टेस्ट और अपने देश की तरफ से खेलना पसंद है लेकिन अगर आप इसे रोमांचक बना देते हो. इसमें अंकतालिका या फाइनल जैसी चीजें जोड़ देते हो तो इसके काफी मायने हो जाएंगे.’

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi