S M L

भारतीय क्रिकेट को संजीवनी देने वाली 281 रन की पारी क्यों नहीं है लक्ष्मण की फेवरिट!

अपनी किताब की लॉन्चिंग के मौके पर लक्ष्मण ने खोला राज

Updated On: Nov 16, 2018 11:35 AM IST

FP Staff

0
भारतीय क्रिकेट को संजीवनी देने वाली 281 रन की पारी क्यों नहीं है लक्ष्मण की फेवरिट!

भारतीय क्रिकेट के मौजूदा युग में साल 2001 में कोलकाता के ईडन गार्डंस में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुई लक्ष्मण –द्रविड़ के बीच मैराथन साझेदारी को अहम स्थान हासिल है. उस मुकाबले में फॉलोऑन खेलते हुए भारत ने कंगारू टीम को मात देकर सीरीज की बाजी ही पटल दी थी. भारतयी क्रिकेट का निर्णायक पल और इस पल के हीरो थे वीवीएस लक्ष्मण जिन्होंने 281 रन की पारी खेली थी. लक्ष्म की उस पारी को दुनिया की टॉप 10 पारियों में शुमार किया जाता है लेकिन खुद लक्ष्मण उस पारी को अपनी टॉप पारी नहीं मानते हैं.

लक्ष्मण के मुताबिक उनके करियर के 17 शतकों में से जो पारी उनके लिए सबसे अधिक अहम है वह उन्होंने इस ऐतिहासिक पारी से एक साल पहले सिडनी में खेली थी. लक्ष्मण ने अपने किताब के विमोचन के वक्त बताया कि क्यों वह 281रन की उस महान पारी की बजाय सिडनी में खेली गई अपनी 167 रन की पारी को ज्यादा बड़ी मानते हैं.

लक्ष्मण का कहना है, ‘ 281 रन की पारी निश्चित रूप से मेरे लिए यादगार है लेकिन 167 रन की उस पारी ने मेरे अंदर वह आत्मविश्वास भरा था जिसकी मुझे सख्त जरूरत थी. उस पारी के दौरान सिचुएशन और कंडीशंस थी वो बहुत ही चुनौतीपूर्ण थीं. हम दुनिया के टॉप बॉलिंग अटैक के सामने थे और मैने बल्लेबाजी करते हुए अपना पहला शतक जड़ा. इस पार ने मुझे ऐसा आत्मविश्वास दिया जिसके बाद मुझे कहीं भी किसी भी हालात मे रन बनाने का भरोसा पैदा हो गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi