S M L

...आखिर क्यों याद आए सचिन तेंदुलकर को राज सिंह डूंगरपुर

राज सिंह डूंगरपुर ने तेंदुलकर को प्रायोजक दिलाकर विदेश में ट्रेनिंग करने में मदद की थी

Updated On: Dec 19, 2018 06:27 PM IST

FP Staff

0
...आखिर क्यों याद आए सचिन तेंदुलकर को राज सिंह डूंगरपुर

महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के करियर में बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष राज सिंह डूंगरपुर के योगदान के बारे में जग जाहिर है. राज सिंह डूंगरपुर ने उनकी काफी मदद की थी. मास्टर ब्लास्टर को जब डूंगरपुर ने पहली बार देखा था तब वह 13-14 साल के थे. सचिन ने क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया (सीसीआई) के खिलाफ कुछ रन बनाए थे. सचिन शिवाजी पार्क यंगस्टर के लिए खेल रहे थे. जब एक बार सचिन के नाम की सिफारिश राज सिंह से की गई, तो उन्होंने सीसीआई के लिए खेलने के लिए कहा और 14 साल की उम्र में ड्रेसिंग रूम में प्रवेश करने की अनुमति दिलाने के लिए सभी नियमों को ताक पर रख दिया.

सचिन तेंदुलकर ने बुधवार को राज सिंह डूंगरपुर को उनके जन्म दिन पर याद किया और उनके साथ अपनी एक पुरानी फोटो ट्विटर पर शेयर की. सचिन तेंदुलकर ने लिखा, राज भाई के भारतीय क्रिकेट में और मेरे करियर में योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है. डूंगरपुर की अगुआई वाली राष्ट्रीय चयन समिति ने 1989-90 के पाकिस्तान दौरे पर सचिन तेंदुलकर को भारतीय टीम में जगह दी थी. उसके बाद जो हुआ वो इतिहास है.

राज सिंह डूंगरपुर ने तेंदुलकर को प्रायोजक दिलाकर विदेश में ट्रेनिंग करने में मदद की थी. सचिन हमेशा इस बात को याद करते हैं, 'राज भाई हमेशा युवाओं की मदद करते थे, मैं भाग्यशाली रहा कि उन्होंने मेरी काफी मदद की. ऐसे भी मौके आए जब मुझे विदेशी दौरों पर जाना पड़ा और किसी के पास तब इतने ज्यादा पैसे नहीं होते थे. तब राज भाई प्रायोजकों को मेरे पास लाने में काफी अहम रहे जिन्होंने सुनिश्चित किया कि मुझे वो अनुभव मिले.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi