S M L

सचिन तेंदुलकर ने कहा, ऑस्ट्रेलिया दौरे में भारत के पास शानदार मौका

ऑस्ट्रेलियाई टीम उस तरह की टीम नजर नहीं आती जैसी हुआ करती थी और स्मिथ, वॉर्नर भी नहीं हैं. यह वहां जाकर कुछ विशेष करने का बेहतरीन मौका है

Updated On: Nov 01, 2018 04:34 PM IST

Bhasha

0
सचिन तेंदुलकर ने कहा, ऑस्ट्रेलिया दौरे में भारत के पास शानदार मौका
Loading...

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का मानना है कि दो अहम खिलाड़ियों स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा नहीं होने के कारण भारत के पास इस देश के दौरे पर कुछ विशेष करने का बेहतरीन मौका है. भारत ऑस्ट्रेलियाई दौरे की शुरुआत तीन टी20 मैचों के साथ करेगा जिसके बाद छह दिसंबर से एडिलेड में चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी.

आगामी दौरे में भारत की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर तेंदुलकर ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हमारे पास बड़ा मौका है (ऑस्ट्रेलिया में). आपने (रिपोर्टर ने) सही पूछा, ऑस्ट्रेलियाई टीम उस तरह की टीम नजर नहीं आती जैसी हुआ करती थी और स्मिथ, वॉर्नर भी नहीं हैं. यह वहां जाकर कुछ विशेष करने का बेहतरीन मौका है.’ मार्च में दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के कारण स्मिथ और वॉर्नर पर एक-एक साल जबकि कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगाया गया था.

गुरुवार सुबह नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में तेंदुलकर मिडिलसेक्स अकादमी का पहला भारतीय शिविर शुरू होने के बाद संवाददाताओं से बात कर रहे थे. तेंदुलकर के बचपन के दोस्त और पूर्व भारतीय बल्लेबाज विनोद कांबली भी बच्चों के मेंटर की भूमिका निभा रहे हैं. यह दोनों खिलाड़ी वर्षों बाद मैदान पर साथ आए हैं.

अच्छा क्रिकेट देखना चाहूंगा

तेंदुलकर ने साथ ही कहा कि वह इस बहस में नहीं पड़ना चाहते कि स्मिथ और वॉर्नर पर लगा प्रतिबंध कम किया जाए या नहीं. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों के संघ ने ऑसट्रेलियाई क्रिकेट की सांस्कृतिक समीक्षा से जुड़ी रिपोर्ट आने के बाद स्मिथ, वॉर्नर और बेनक्रॉफ्ट पर लगे प्रतिबंध हटाने की मांग की थी. यह पूछने पर क्या वह इन दोनों खिलाड़ियों को खेलते हुए देखना चाहेंगे, तेंदुलकर ने कहा, ‘निश्चित तौर पर मैं अच्छा क्रिकेट देखना चाहूंगा (ऑस्ट्रेलिया में). वे दोनों (स्मिथ और वॉर्नर) विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं. इसलिए मैं इस बहस में नहीं पड़ना चाहता कि प्रतिबंध हटाया जाए या नहीं.’

कोहली महानतम खिलाड़ियों में से एक

विराट कोहली जिस तेजी से महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्डों की तरफ बढ़ रहे है, उससे खुद मास्टर ब्लास्टर ने भी हैरानी जताते हुए कहा कि भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान महानतम खिलाड़ियों में से एक हैं लेकिन वह ‘तुलना में विश्वास’ नहीं करते. कोहली हाल ही में तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़कर वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 10,000 रन बनाने वाले खिलाड़ी बने हैं. वह तेंदुलकर के वनडे में रिकॉर्ड 49 शतकों की तरफ भी तेजी से बढ़ रहे हैं. कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी मौजूदा सीरीज के तीसरे वनडे में अपना 38वां शतक लगाया था.

काफी तेजी से सुधार किया है कोहली ने

तेंदुलकर ने कहा, ‘एक खिलाड़ी के तौर पर विराट के विकास की बात करें तो मुझे लगता है कि उसने काफी तेजी से सुधार किया है. मुझे हमेशा लगता था कि उसमें अच्छा करने की ललक है और मुझे शुरू से ऐसा लगता था कि वह दुनिया के शीर्ष बल्लेबाजों में शामिल होगा. वह भी सिर्फ इस सदी के नहीं बल्कि सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक होगा. इस (कोहली को सर्वकालिक महान खिलाड़ी बताना) पर हर किसी की अपनी सोच है. अगर किसी को तुलना करनी हो तो मैं उसमें दखल नहीं देना चाहूंगा, क्योकि 60, 70 और 80 के दशक के अलग तरह के गेंदबाज थे, जब मैं खेलता था तब और आज के दौर में भी गेंदबाजी अलग-अलग तरह की हो गई है.’

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का सैकड़ा लगाने वाले इस बल्लेबाज ने कहा, ‘पहली बात तो विराट ने जो कहा (दूसरे बल्लेबाज से तुलना करने के बारे में) और मैं भी 24 वर्षों तक खेलने के दौरान यही बातें कहता रहा हूं. मैंने कभी तुलना करने पर विश्वास नहीं किया. हर युग के साथ खेल का तरीका बदलता है. इसमें बदलाव निरंतर रहा है.’

पृथ्वी तेजी से चीजों को सीख रहा है

मास्टर ब्लास्टर ने इस मौके पर वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट करियर शुरू करने वाले युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की तारीफ करते हुए कहा कि वह तेजी से चीजों को सीख रहा है. उन्होंने कहा, ‘ मुझे लगता है मैं पृथ्वी के बारे में बात कर सकता हूं. मैंने कभी भी चयन के मुद्दे पर यह नहीं कहा कि किसे चुना जाना चाहिए और किसे नहीं. मैं उसे ऐसा ही रखना चाहूंगा क्योंकि इससे ऐसा लगेगा की मैं चयनकर्ताओं को प्रभावित कर रहा हूं. पृथ्वी को खिलाड़ी के तौर पर देखूं तो वह तेजी से सुधार कर रहा है. मुझे लगता है कि वह जिस उम्र में है वहां से सिर्फ सुधार ही हो सकता है. उसने हर प्रारूप में अच्छा प्रदर्शन किया है.’

खलील अहमद की भी तारीफ की

तेंदुलकर ने बायें हाथ के युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद की भी तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने अब तक इस गेंदबाज को जितना भी देखा है उसमें वह अच्छा नजर आया है. एशिया कप में प्रभावित करने वाले खलील ने सोमवार को मुंबई में वेस्टइंडीज के खिलाफ चौथे वनडे में तीन विकेट चटकाए. पांचवें और अंतिम वनडे में भी उन्होंने सात ओवर में 29 रन देकर दो विकेट लिए.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi