S M L

डीडीसीए की क्रिकेट समिति का गठन, सहवाग और गंभीर को शामिल किए जाने पर उठे सवाल

पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी राहुल सांघवी और आकाश चोपड़ा को भी इस समिति में शामिल किया गया है

FP Staff Updated On: Jul 25, 2018 03:18 PM IST

0
डीडीसीए की क्रिकेट समिति का गठन, सहवाग और गंभीर को शामिल किए जाने पर उठे सवाल

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने बुधवार को तीन सदस्यीय क्रिकेट समिति के गठन की घोषणा की. पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग, पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी राहुल सांघवी और आकाश चोपड़ा को इस समिति में शामिल किया गया है. भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी गौतम गंभीर को भी इस समिति में विशेष आमंत्रण (स्पेशल इनवाइटी) के तहत शामिल किया गया है

लोढा समिति द्वारा की गई सिफारिशों और राज्य संघ के लिए बीसीसीआई दिशानिर्देशों के अनुसार क्रिकेट समिति को विभिन्न चयन समितियों का गठन करने के लिए अधिकृत किया गया है. इसके साथ ही इस समिति का कार्य दिल्ली में क्रिकेट के सुधार हेतु डीडीसीए को महत्वपूर्ण मार्गदर्शन देना होगा.

डीडीसीए के अध्यक्ष रजत शर्मा ने एक विज्ञप्ति में कहा कि नियुक्तियां लोढा समिति की सिफारिशों के अनुरूप की गई हैं, लेकिन इससे हितों के टकराव को लेकर सवाल उठने लगे हैं. गंभीर ने अभी क्रिकेट से संन्यास नहीं लिया है लिहाजा वह चयनकर्ताओं का चयन कैसे कर सकते हैं जो बदले में उन्हें चुनेंगे. गंभीर पिछले साल डीडीसीए में सरकार के प्रतिनिधि थे, लेकिन पूर्व प्रशासक जस्टिस विक्रमजीत सेन ने उस फैसले पर रोक लगा दी थी. शर्मा गुट के सत्ता में आने के बाद तय था कि गंभीर को अहम भूमिका मिलेगी.

सहवाग की एक क्रिकेट अकादमी है और वह इंडिया टीवी पर कमेंटेटर भी हैं जिसके मालिक रजत शर्मा खुद हैं. सांघवी आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस से जुड़े हैं, जबकि आकाश विभिन्न चैनलों पर कमेंट्री करते हैं. दोनों मुंबई में रहते हैं.

डीडीसीए सचिव विनोद तिहारा ने स्वीकार किया कि यह मसला है, लेकिन उनके लिए दिल्ली क्रिकेट के शीर्ष नामों को जोड़ना जरूरी था. यह पूछने पर कि ये पद मानद होंगे या वैतनिक, उन्होंने कहा,‘ अभी हमने इस पर फैसला नहीं लिया है, लेकिन गौतम विशेष आमंत्रित होंगे.’

यह पूछने पर कि क्या उन्हें चयनकर्ताओं और कोचों के चयन में बोलने का अधिकार होगा, उन्होंने कहा,‘ निश्चित तौर पर. मैं हितों के टकराव पर आपका सवाल समझ सकता हूं. लेकिन अगर हम लोढा समिति के सुझावों पर अक्षरश: अमल करें तो क्रिकेट समिति में इतने योग्य लोग नहीं आ सकेंगे.’

(नोट- इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi