S M L

2014 के दौरे की बुरी यादों से बाहर आ चुके हैं विराट कोहली- कोच राजकुमार

इंग्लैंड के उस दौरे के बाद कोहली ने दुनिया भर में अपनी बल्लेबाजी का डंका बजवाया

Updated On: Jul 29, 2018 05:51 PM IST

Bhasha

0
2014 के दौरे की बुरी यादों से बाहर आ चुके हैं विराट कोहली- कोच राजकुमार

पिछले चार साल में बहुत कुछ बदल चुका है और विराट कोहली क्रिकेट जगत में बल्लेबाजी के बादशाह बन चुके हैं, यही वजह है कि उनके बचपन के कोच राजकुमार शर्मा को लगता है कि इंग्लैंड के खिलाफ एक अगस्त से शुरू होने वाली पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में भारतीय कप्तान के बल्ले को रोकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होगा.

भारतीय टीम जब 2014 में इंग्लैंड दौरे पर गई तो कोहली ने पांच मैचों की दस पारियों में 13.40 की औसत से केवल 134 रन बनाए और उनका उच्चतम स्कोर 39 रन रहा. इंग्लैंड दौरे का जिक्र आने पर ही यह प्रदर्शन कोहली पर साया बन जाता है लेकिन शर्मा ने कहा कि यह स्टार बल्लेबाज उस दौरे को भूल चुका है.

शर्मा ने  कहा, ‘लोगों को लगता है कि विराट को कुछ साबित करना है लेकिन अब विराट को कुछ साबित नहीं करना है. वह चार साल पुराना वाकया है और वह उसे भूल चुका है. उसके बाद उसने काफी कुछ हासिल किया है और वह पूरी तरह से बदला हुआ खिलाड़ी बन गया है.’

इंग्लैंड के उस दौरे के बाद कोहली ने दुनिया भर में अपनी बल्लेबाजी का डंका बजवाया. उन्होंने भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज और श्रीलंका में सैकड़े जड़े. असल में 2014 के इंग्लैंड दौरे के बाद कोहली ने जो 37 टेस्ट मैच खेले उनमें 64.89 की औसत से 3699 रन बनाए जिसमें 15 शतक शामिल हैं.

कोहली को क्रिकेट का ककहरा सिखाने वाले द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता शर्मा ने कहा, ‘अब उन पर किसी तरह का दबाव नहीं है और उन्हें किसी को कुछ साबित भी नहीं करना है. वह बहुत सकारात्मक सोच के साथ इस सीरीज में उतरा रहा है. एक सीरीज किसी भी खिलाड़ी की खराब हो जाती है. उसके बाद तो विराट ने बहुत ही बेहतरीन प्रदर्शन किया है.’

India captain Virat Kohli (2nd L) and his teammates do a victory lap after winning the fourth Test cricket match against England at the Wankhede stadium in Mumbai on December 12, 2016.    ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE-----  / AFP PHOTO / PUNlT PARANJPE / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

वर्तमान सीरीज में कोहली और जेम्स एंडरसन के बीच दिलचस्प मुकाबला होने की संभावना है. इंग्लैंड के पिछले दौरे में एंडरसन ने चार बार कोहली को पवेलियन की राह दिखाई थी लेकिन इसके बाद 2016 में जब इंग्लैंड की टीम भारतीय दौरे पर आई तो कोहली के सामने एंडरसन पूरी तरह से नाकाम रहे और भारतीय कप्तान को एक बार भी आउट नहीं कर पाए.

कोहली ने इस सीरीज के पांच मैचों में 109.16 की औसत से 655 रन बनाए थे जिसमें दो शतक भी शामिल थे. शर्मा ने कहा कि कोहली पर एंडरसन का दबाव नहीं है.

कोहली का लक्ष्य असल में इंग्लैंड में श्रृंखला जीतने पर लगा है. भारत ने इंग्लैंड में आखिरी सीरीज में 2007 में राहुल द्रविड़ की अगुवाई में जीती थी. इसके बाद 2011 और 2014 में उसे हार का सामना करना पड़ा था.

शर्मा ने कहा, ‘विराट खुद के प्रदर्शन से ज्यादा टीम की जीत पर ध्यान लगाए हुए है. उस पर रन बनाने का दबाव नहीं है बल्कि वह चाहता है कि टीम सीरीज जीते.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi