Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

विजय हजारे ट्रॉफी राउंडअप : विदर्भ को आठ विकेट से हरा सौराष्ट्र नॉकआउट में पहुंचा

सौराष्ट्र के छह में से चार जीत से 16 अंक हैं, जिससे टीम बेहतर रन रेट से पहले स्थान पर बनी हुई है जिससे उसने अगले दौर के लिए क्वालिफाई किया

Bhasha Updated On: Feb 14, 2018 08:12 PM IST

0
विजय हजारे ट्रॉफी राउंडअप : विदर्भ को आठ विकेट से हरा सौराष्ट्र नॉकआउट में पहुंचा

चेतेश्वर पुजारा की अगुआई वाले सौराष्ट्र ने बुधवार को सिकंदराबाद में विजय हजारे ट्रॉफी के ग्रुप डी वनडे मुकाबले में विदर्भ को आठ विकेट से पराजित कर नॉकआउट दौर में प्रवेश किया. पुजारा ने टॉस जीतकर विदर्भ को बल्लेबाजी का न्योता दिया और उनके गेंदबाजों ने पूरी टीम को 40.5 ओवर में महज 159 रन पर समेट दिया.

इसके बाद 160 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सौराष्ट्र ने विकेटकीपर बल्लेबाज अवि बरोट के नाबाद 91 रन (114 गेंद में 13 चौके और दो छक्के) और पुजारा के नाबाद 46 रन (74 गेंद में पांच चौके) तथा तीसरे विकेट के लिए 129 रन की नाबाद साझेदारी से सिर्फ 34 ओवर में दो विकेट गंवाकर जीत हासिल की.

सौराष्ट्र के छह में से चार जीत से 16 अंक हैं, जिससे टीम बेहतर रन रेट से पहले स्थान पर बनी हुई है जिससे उसने अगले दौर के लिए क्वालिफाई किया. विदर्भ के भी 16 अंक हैं. हैदराबाद और छत्तीसगढ़ के बीच होने वाले मुकाबले से ग्रुप से अगले दौर में पहुंचने वाली दूसरी टीम का फैसला होगा.

हैदराबाद 84 रन से जीतकर नॉकआउट में

हैदराबाद ने सिकंदराबाद में ग्रुप डी मैच में छत्तीसगढ़ को 84 रन से हराकर पांचवीं जीत दर्ज करते हुए नॉकआउट दौर के लिए क्वालिफाई किया. ग्रुप डी में हैदराबाद छह में से पांच मैच जीतकर 20 अंक से शीर्ष पर रहा. वहीं, छत्तीसगढ़ ने 16 अंक से अपना अभियान समाप्त किया.

टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी हैदराबाद ने बी संदीप (79 रन, 95 गेंद, चार चौके और एक छक्का) के अर्धशतक की बदौलत 50 ओवर में आठ विकेट पर 280 रन बनाए. इसके बाद उसके गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और छत्तीसगढ़ की टीम को 44.3 ओवर में 196 रन पर समेट दिया. हालांकि कप्तान अमनदीप खरे ने 71 रन की अर्धशतकीय पारी खेलकर टीम को संभालने का प्रयास किया, लेकिन वह मेहदी हसन (दो विकेट) की गेंद पर उन्हीं को कैच देकर आउट हो गए. हैदराबाद के लिए मोहम्मद सिराज ने 8.3 ओवर में 37 रन देकर पांच विकेट चटकाए.

ओडिशा को हराकर बड़ौदा शीर्ष पर

बल्लेबाजों के कमाल के बाद गेंदबाजों के धमाल से बड़ौदा ग्रुप ए मैच में बेंगलुरु में ओडिशा को 57 रन हराकर अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंच गया. बड़ौदा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कृणाल पंड्या (84), स्वप्निल सिंह (56) और कप्तान दीपक हुड्डा (52) के अर्धशतकों की बदौलत छह ओवर में 317 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया. ओडिशा की ओर से अभिषेक राउत सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 70 रन देकर दो विकेट चटकाए.

इसके जवाब में ओडिशा की टीम अतीत सेठ (19 रन पर दो विकेट), लुकमान मेरिवाला (31 रन पर दो विकेट) और निनाद राथवा (54 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने 46 .4 ओवर में 260 रन पर ढेर हो गई. ओडिशा की ओर से विप्लब सामंत्रेय ने 74 जबकि प्रयास सिंह ने 51 रन की पारी खेली. इस जीत से बड़ौदा के पांच मैचों में 16 अंक हो गए हैं और वह शीर्ष पर चल रहा है. ओडिशा के पांच मैचों में आठ अंक हैं और वह नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो गया है.

रेलवे से हारकर नॉकआउट की दौड़ से बाहर हुआ पंजाब

सलामी बल्लेबाज मनन वोहरा के शतक के बावजूद पंजाब को बेंगलुरु में ग्रुप ए में रेलवे के खिलाफ चार विकेट से हार का सामना करना पड़ा जिससे टीम नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो गई. पंजाब की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मनन की 148 गेंद में 13 चौकों और दो छक्कों की मदद से 143 रन की पारी की बदौलत आठ विकेट पर 280 रन बनाए. उनके अलावा हालांकि सिर्फ कप्तान युवराज सिंह (35) ही 30 रन के आंकड़े को पार कर पाए.

लक्ष्य का पीछा करते हुए रेलवे की शुरुआत खराब रही और टीम ने 55 रन तक ही तीन विकेट गंवा दिए थे. अरिंदम घोष (नाबाद 89), कप्तान महेश रावत (56) और अंकित यादव (55) ने हालांकि अर्धशतकीय पारियां खेलकर टीम को जीत दिला दी. सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे यादव ने 30 गेंद का सामना करते हुए आठ चौके और दो छक्के जड़कर मैच का रुख रेलवे के पक्ष में किया, जबकि अनुरीत सिंह ने लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़कर टीम को जीत दिलाई. इस जीत से रेलवे के पांच मैचों में 12 अंक हो गए जबकि पंजाब ने छह मैचों में 12 अंक के साथ अपने अभियान का अंत किया.

विहारी और भरत के शतक से आंध्र ने मुंबई को हराया

कप्तान हनुमा विहारी और सलामी बल्लेबाज श्रीकर भरत के शतक से आंध्र ग्रुप सी मैच में चेन्नई में मुंबई को 29 रन से हराकर लगातार छठी जीत के साथ ग्रुप में शीर्ष पर रहा. आंध्र ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए विहारी (169) और भरत (105) के बीच दूसरे विकेट की 254 रन की पारी की बदौलत पांच विकेट पर 344 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. रिकी भुई ने भी 31 गेंद में 53 रन की पारी खेली. विहारी ने 118 गेंद की अपनी पारी में सात छक्के और 16 चौके लगाए, जबकि भरत ने 126 गेंद में 10 चौके जड़े.

मुंबई की टीम इसके जवाब में सिद्धेश लाड की 98 गेंद में छह चौकों और चार छक्कों की मदद से 118 रन की पारी के बावजूद नौ विकेट पर 315 रन ही बना सकी. लाड को दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिला और उनके बाद मुंबई के दूसरे शीर्ष स्कोरर शिवम दूबे रहे जिन्होंने 36 रन बनाए. आंध्र की ओर से कार्तिक रमन ने तीन जबकि एस आशीष ने दो विकेट चटकाए. दोनों टीमें पहले ही नॉकआउट में जगह बना चुकी थीं. आंध्र की टीम छह मैचों में 24 अंक के साथ शीर्ष पर रही, जबकि मुंबई ने छह मैचों में 16 अंक हासिल किए.

हरियाणा ने असम को 86 रन से हराया

हरियाणा ने अपने गेंदबाजों की कसी गेंदबाजी की बदौलत असम को 86 रन से मात दी. बेंगलुरु में ग्रुप ए के इस मैच में टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए हरियाणा ने सलामी बल्लेबाज शुभम रोहिल्ला (74 रन), कप्तान रजत पालीवाल (76 रन) और रोहित शर्मा (58 रन) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से निर्धारित 50 ओवर में नौ विकेट पर 323 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. मृणमय दत्ता असम के लिए सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 10 ओवर में 67 रन देकर पांच विकेट अपनी झोली में डाले. मुख्तार हुसैन को दो विकेट मिले.

लेकिन इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी असम के लिए रोमारियो शर्मा की 97 रन की अर्धशतकीय पारी किसी काम नहीं आ सकी, क्योंकि टीम ने हरियाणा की कसी गेंदबाजी के सामने लगातार अंतराल पर विकेट गंवा दिए और पूरे 50 ओवर में टीम छह विकेट पर 237 रन ही बना सकी. रोमारियो के अलावा शिबशंकर रॉय ने 40 रन का योगदान दिया. हरियाणा के लिए हर्षल पटेल ने तीन विकेट चटकाए.

तमिलनाडु ने राजस्थान को सात विकेट से रौंदा

नॉकआउट से पहले ही बाहर हो चुकी दो टीमों के बीच हुए मुकाबले में तमिलनाडु ने राजस्थान को ग्रुप सी के एकतरफा मुकाबले में सात विकेट से हरा दिया. चेन्नई में तमिलनाडु ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और फिर आर साई किशोर (26 रन पर पांच विकेट) के करियर के पहले पांच विकेट की बदौलत राजस्थान को 38.2 ओवर में 141 रन पर ढेर कर दिया. जे कौशिक और रविचंद्रन अश्विन ने भी दो-दो विकेट चटकाए.

राजस्थान की ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज चेतन बिष्ट (36) के अलावा कोई भी बल्लेबाज 30 रन के आंकड़े को भी पार नहीं कर पाया. तमिलनाडु ने इसके जवाब में कप्तान बाबा अपराजित के नाबाद 55 रन के अलावा एन जगदीशन (39) की उम्दा पारी की बदौलत 23 .3 ओवर में तीन विकेट पर 143 रन बनाकर जीत दर्ज की. तमिलनाडु और राजस्थान दोनों ने अपने अभियान का अंत छह-छह मैचों में दो-दो जीत के साथ समान आठ अंक के साथ किया. इस ग्रुप से आंध्र और मुंबई की टीम पहले ही नॉकआउट में जगह बना चुकी हैं.

कामत के शतक से गोवा ने गुजरात को एक विकेट से हराया

सगुन कामत के नाबाद शतक की बदौलत गोवा ने ग्रुप डी के रोमांचक मुकाबले में गुजरात को एक विकेट से हरा दिया. चेन्नई में गुजरात के 228 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए गोवा ने कप्तान कामत की 148 गेंद में 14 चौकों और एक छक्के से नाबाद 110 रन की पारी से 48.3 ओवर में नौ विकेट पर 228 रन बनाकर जीत दर्ज की. कामत के अलावा गोवा का कोई बल्लेबाज 30 रन के आंकड़े को भी नहीं छू पाया. गुजरात की ओर से पीयूष चावला और केडी पटेल ने तीन-तीन विकेट चटकाए.

इससे पहले गुजरात की टीम भार्गव मेराई के 93 रन के बावजूद 49 .4 ओवर में 227 रन पर ढेर हो गई. गोवा की तरफ से दर्शन मिसाल ने तीन, जबकि अमोघ सुनील देसाई, विजेश प्रभुदेसाई और अमूल्य पांडरेकर ने दो-दो विकेट चटकाए. गोवा के इस जीत से छह मैचों में 12 अंक रहे जबकि गुजरात की टीम इतने ही मैचों में चार अंक ही जुटा सकी.

विराट सिंह शतक से चूके पर झारखंड ने जम्मू-कश्मीर को हराया

कप्तान विराट सिंह शतक से चूक गए लेकिन उनकी 96 रन की पारी की बदौलत झारखंड ने ग्रुप डी के अपने अंतिम मैच में हैदराबाद में जम्मू-कश्मीर को 97 रन से हरा दिया. विराट ने 97 गेंद की अपनी पारी में 11 चौके जड़े जिससे टीम नौ विकेट पर 296 रन का मजबूत स्कोर खड़ा करने में सफल रही. सलामी बल्लेबाज उत्कर्ष सिंह (31) और विकेटकीपर बल्लेबाज सुमित सिंह (35) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे. जम्मू-कश्मीर की ओर से परवेज रसूल और उमर नजीर ने तीन-तीन विकेट चटकाए.

इसके जवाब में आशीष कुमार (23 रन पर तीन विकेट), विकास सिंह (37 रन पर तीन विकेट) और अनुकूल राय (38 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने जम्मू-कश्मीर की टीम 46 ओवर में 199 रन पर ढेर हो गई. जम्मू-कश्मीर की ओर से शुभम पुंडीर (74) के अलावा कोई बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया. वह आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज रहे. दोनों टीमें पहले ही नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो गई थीं.

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi