S M L

मोहाली में जीत के साथ टीम इंडिया ने ये रिकॉर्ड किया अपने नाम

टीम इंडिया 100 बार 300 या इससे अधिक का स्कोर बनाने वाली पहली टीम बनी  

FP Staff Updated On: Dec 14, 2017 04:54 PM IST

0
मोहाली में जीत के साथ टीम इंडिया ने ये रिकॉर्ड किया अपने नाम

एक समय वनडे क्रिकेट में किसी टीम के लिए 300 रन बनाना बड़ी बात माना जाता था. लेकिन अब ये आम हो गया है. लेकिन आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि भारतीय टीम 100 बार 300 या इससे अधिक का स्कोर बनाने वाली पहली टीम बन गई है. बुधवार को  मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ ना सिर्फ कप्तान रोहित शर्मा ने यादगार पारी खेली, बल्कि टीम इंडिया भी ये कीर्तिमान बनाने में सफल रही. टीम इंडिया ने इस मैच में 392/4 का स्कोर बनाया और वह 100वीं बार वनडे क्रिकेट में 300 प्लस का स्कोर बनाने वाली दुनिया की एकलौती टीम बन गई. टीम इंडिया 2017 में दस बार 300 रन से अधिक का स्कोर बना चुकी है.

टीम इंडिया ने वनडे क्रिकेट में अपना पहला 300 का स्कोर 1996 में शारजाह में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था. टीम इंडिया ने जो 100 बार 300 से ज्यादा का स्कोर बनाया है उसमें से उसे 78 में जीत मिली है तो 20 में हार का सामना करना पड़ा है. जबकि इंगलैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैच टाई रहे हैं. भारत ने अपना पहला वनडे मैच 13 जुलाई 1974 को खेला था और उसने 300 रन के स्कोर तक पहुंचने के लिए 21 साल, नौ महीने और दो दिन का समय लिया. यहां तक कि जिम्बाब्वे और श्रीलंका भी उससे पहले इस मुकाम पर पहुंच गए थे.

96 बार 300 प्लस का स्कोर बनाने के कारण ऑस्ट्रेलियाई टीम दूसरे नंबर पर है. ऑस्ट्रेलिया ने अपना पहला 300 का स्कोर 1975 विश्व कप में श्रीलंका के खिलाफ बनाया था. वहीं इस मामले में साउथ अफ्रीका तीसरे पायदान पर है. अफ्रीका ने अपना पहला 300 का स्कोर 1994 में कीवी टीम के खिलाफ सेंचुरियन में बनाया था. अगर वनडे क्रिकेट में 300 प्लस का स्कोर बनाने वाली टॉप 5 टीमों की बात करें तो पाकिस्तान ने 69 बार और श्रीलंका ने 66 बार ऐसा किया है.

भारत ने घरेलू मैदान पर 46 और विदेशी धरती पर 54 बार 300 प्लस स्कोर किया. भारतीय उपमहाद्वीप से बाहर हालांकि भारत केवल 31 बार ही 300 रन के पार पहुंच पाया. भारत पांच बार 400 रन के पार भी पहुंचा है. केवल साउथ अफ्रीका ने ही भारत से अधिक बार छह अवसरों पर 400 से अधिक का स्कोर बनाया है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi