S M L

क्रिकेट टीम का कोच क्यों बना दुनिया का सबसे तेज धावक

दुनिया का सबसे तेज एथलीट विकेट के बीच रनिंग सुधारने पर कर रहा काम

FP Staff Updated On: Nov 20, 2017 11:46 PM IST

0
क्रिकेट टीम का कोच क्यों बना दुनिया का सबसे तेज धावक

यूसेन बोल्ट को हवा की रफ्तार से दौड़ते देखा होगा. उन्हें एक के बाद एक ओलिंपिक गोल्ड जीतते देखा होगा. मस्ती-मजाक में क्रिकेट खेलते भी देखा होगा. लेकिन क्या ये सोचा था कि वो एक इंटरनेशनल टीम के कोच बन जाएंगे? वो भी ऑस्ट्रेलियन टीम के... वो भी एशेज सीरीज के मद्देनजर!

दुनिया के सबसे तेज एथलीट यूसेन बोल्ट अब कोच की भूमिका में नजर आ रहे हैं. लेकिन वह किसी एथलीट को नहीं, बल्कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को कोचिंग दे रहे हैं. बोल्ट को कोच बनाए जाने की एक खास वजह भी है. वो है रनिंग बिटवीन द विकेट, यानी विकेटों के बीच दौड़.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अपने खिलाड़ियों को इंग्लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज से पहले बोल्ट से ट्रेनिंग दिलवा रहा है. जमैका का यह रनर कंगारू खिलाड़ियों को विकेट के बीच रनिंग की ट्रेनिंग दे रहा है. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पहला एशेज टेस्ट ब्रिस्बेन में 23 नवंबर से खेला जाएगा. रनिंग और रन आउट होने के मामले में ऑस्ट्रेलियन टीम को रिकॉर्ड दिलचस्प है. पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा रन आउट होने वाले खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के ही हैं.

 

अगस्त में लंदन में हुई विश्व चैंपियनशिप के बाद संन्यास लेने वाले 31 वर्षीय यूसेन बोल्ट ने हेराल्ड सन अखबार से कहा, 'मैं विकेटों के बीच रनिंग को लेकर जागरूकता बढ़ाने का प्रयास कर रहा हूं. क्रिकेटर हमेशा धीमी शुरुआत करते हैं. इसमें सुधार से निश्चित तौर पर फर्क पड़ेगा.'

100 और 200 मीटर दौड़ के विश्व रिकॉर्डधारी और ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक विजेता बोल्ट का अनुभव एशेज सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के काम आएगा. इस बारे में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज पीटर हैंड्सकॉम्ब ने कहा, 'ब्रिस्बेन टेस्ट से पहले मिले बोल्ट के टिप्स हमारे काम आएंगे. उन्होंने हमें कुछ टिप्स दिए हैं, जिससे हम अपनी दौड़ को और बेहतर बना सकते हैं. उन्होंने हमें बताया कि शुरुआती कदम अगर ठीक होते हैं तो हम अपनी रफ्तार को और तेज कर सकते हैं.' पीटर ने कहा कि बोल्ट दुनिया के सबसे तेज धावक हैं. अगर हम उनके साथ सीरीज जीतते हैं तो काफी बेहतर होगा.

बोल्ट ने कहा, ' मैं संन्यास के बाद फुटबॉल में व्यस्त हो गया था. बुंदेसलीगा की टीम बारूशिया डॉर्टमंड  के साथ ट्रेनिंग ली. किसी समय मैं यह करना चाहता था. फिलहाल तो मैं खुद को फिट रखने की कोशिश कर रहा हूं.'

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi