Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

यह सीरीज मेरे करियर का टर्निंग पॉइंट है- जयदेव उनादकट

श्रीलंका के खिलाफ मैन ऑफ द सीरीज रहे उनादकट ने महज 4.88 की इकॉनमी से हासिल किए चार बड़े विकेट

FP Staff Updated On: Dec 25, 2017 05:44 PM IST

0
यह सीरीज मेरे करियर का टर्निंग पॉइंट है- जयदेव उनादकट

टीम इंडिया के लिए श्रीलंका का यह दौरा रिकॉर्ड्स बनाने के लिए बेहद मुफीद साबित हुआ है. लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा भी है जिससे करियर को इस टी-20 सीरीज ने एक नया मुकाम दिया है. वह खिलाड़ी हैं जयदेव उनादकट.

उनादकट को तीसरे टी20 में बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए मैन ऑफ द मैच के खिताब से तो नवाजा ही गया साथ ही उन्हें मैन ऑफ द सीरीज का खिताब भी मिला .उनादकट ने इस सीरीज में महज 4.88 की इकॉनमी के श्रालंका के चार बड़े बल्लेबाजों को पवेलियन वापस भेजा. टी-20 क्रिकेट में 4.88 की इकॉनमी वाकई में शानदार कही जा सकती है.

श्रीलंका के खिलाफ इस बेहतरीन प्रदर्शन के बाद उनादकट का मानना है कि ‘ इंटरनेशनल स्तर पर आत्मविश्वास हासिल करने में इस सीरीज ने मेरी बहुत मदद की है. इस सीरीज ने मुझे बदल दिया है और मुझे ऐसे ही प्रदर्शन की दरकार थी’

26 साल के जयदेव उनादकट ने छह साल पहले 2010 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में अपने टेस्ट करियर का आगाज किया था, लेकिन 101 रन देने के बावजूद वह एक भी विकेट हासिल नहीं कर सके थे. इसके बाद वह अभी तक टेस्ट क्रिकेट नहीं खेल सके हैं. उन्हें सात वनडे और चार टी-20 मुकाबलों में टीम इंडिया में जगह जरूर मिली, लेकिन तब, जब टीम इंडिया के मुख्य गेंदबाजों को आराम दिया गया.

उनादकट का चयन साउथ अफ्रीका जाने वाली टेस्ट या वनडे टीम के लिए नहीं किया गया है, लेकिन उनका मानना है कि टीम मैनेजमेंट बाएं हाथ के तेज गेंदबाज की उपयोगिता से वाकिफ है और अगर वह इसी आत्मविश्वास के साथ खेलते रहे तो तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया का अहम हिस्सा बन सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi