S M L

विश्व स्तर पर क्रिकेट को बनाए रखने के लिए टेस्ट जरूरी : कोहली

बिशन सिंह बेदी और मोहिंदर अमरनाथ के नाम पर स्टैंड का उदघाटन हुआ

Updated On: Nov 29, 2017 10:27 PM IST

Bhasha

0
विश्व स्तर पर क्रिकेट को बनाए रखने के लिए टेस्ट जरूरी : कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को कहा कि क्रिकेट के खेल को विश्व स्तर पर कायम रखने के लिए टेस्ट क्रिकेट को प्रमुख प्रारूप बनाए रखना जरूरी है. कोहली ने दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के पहले वार्षिक सम्मेलन के दौरान कहा, ‘मेरा मानना है कि क्रिकेट को विश्व स्तर पर बनाए रखने के लिए टेस्ट क्रिकेट महत्वपूर्ण है. मैं युवाओं से आग्रह करूंगा कि वे खेल के लंबी अवधि वाले प्रारूप को अपनाएं.’

इस यादगार शाम को बिशन सिंह बेदी और मोहिंदर अमरनाथ के नाम के स्टैंड का उदघाटन किए जाने के अवसर पर दिल्ली क्रिकेट के कई दिग्गज एक साथ दिखे. कोहली ने इस अवसर पर अंडर-14 और अंडर-16 के दिनों को याद किया जब बेदी कोच थे.

उन्होंने दिल्ली के इस दिग्गज स्पिनर तथा पूर्व भारतीय कप्तान मंसूर अली खां पटौदी की पत्नी शर्मिला टैगोर की उपस्थिति में कहा, ‘मुझे याद है कि जब मैं दिल्ली के लिए अंडर-14 और अंडर-16 में खेला करता था. बेदी सर हमें काफी कड़ा अभ्यास करवाते थे. अब यह मेरी जिंदगी का हिस्सा बन चुका है. दिल्ली के कप्तानों के साथ यहां पर खड़ा होना बहुत बड़ा सम्मान है. मैं खुद भी दिल्ली का कप्तान हूं.’

बेदी ने इस अवसर पर कहा, ‘मैं मैदान पर उनकी (कोहली) कुछ हरकतों से भले ही सहमत नहीं हो सकता, लेकिन जिस तरह से विराट मैदान पर अपना सब कुछ झोंक देता है वैसा मैंने किसी अन्य को नहीं देखा. मैंने किसी भी अन्य भारतीय को विराट की तरह जीजान लगाते हुए नहीं देखा. विराट जैसा वास्तव में कोई नहीं है.’

अपनी बेबाकी के लिए मशूहर बेदी ने इसके साथ ही कहा कि किस तरह से आजकल क्रिकेटर आईपीएल अनुबंध हासिल करने के लिए रणजी और दलीप ट्रॉफी का उपयोग करते हैं. उन्होंने कहा, ‘भारत की तरफ से खेलने के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन काफी काम आता है. रणजी ट्रॉफी को रणजी ट्रॉफी की खातिर और दलीप ट्रॉफी को दलीप ट्रॉफी की खातिर खेला जाना चाहिए. मुझे इन टीमों के रेड, ब्लू और ग्रीन नाम समझ में नहीं आते.’

इस बीच मोहिंदर अमरनाथ ने दिल्ली क्रिकेट के दिनों को याद किया. उन्होंने कहा, ‘वह बिशन थे जिनकी अगुवाई में दिल्ली क्रिकेट को सम्मान मिला. वह केवल कप्तान ही नहीं थे, लेकिन वास्तविक नेतृत्वकर्ता थे.’

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi