S M L

हार्दिक पांड्या की सफाई- मैंने नहीं किया बीआर अंबेडकर का अपमान

फर्जी अकाउंट से की गई ट्वीट के चलते पांड्या के खिलाफ जोधपुर की अदालत ने दिए हैं मुकद्मा कायम करने के आदेश

Updated On: Mar 23, 2018 08:31 AM IST

FP Staff

0
हार्दिक पांड्या की सफाई- मैंने नहीं किया बीआर अंबेडकर का अपमान

टीम इंडिया के क्रिकेटर  हार्दिक पांड्या ने इस बात को खारिज कर दिया कि उन्होंने ट्विटर पर किसी प्रकार की अपमानजनक टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि यह ट्वीट फर्जी अकाउंट से किया गया है और इसमें उनके नाम और तस्वीर का गलत इस्तेमाल किया गया है।

एक अदालती आदेश के बाद अपने स्पष्टीकरण में पांड्या ने कहा कि उनके मन में अंबेडकर के प्रति अत्यंत आदर और सम्मान है .

 

उन्होंने बयान जारी कर कहा, ‘ मैं किसी प्रकार की ऐसी बयानबाजी में शामिल नहीं होउंगा जो अपमानजनक हो और किसी समुदाय का भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली हो.'

संविधान निर्माता बी आर अंबेडकर के बारे में नकारात्मक टिप्पणियों के लिए अदालत में उनके खिलाफ याचिका दायर की गई थी.

उन्होंने कहा है कि यह टिप्पणी फर्जी खाते से की गयी है जिसमें उनके नाम और तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है.

दरअसल यह पूरा मसला बीते साल दिसंबर में पांड्या के पैरोडी अकाउंट से किए गए एक ट्वीट से जुड़ा है . इस ट्वीट में भारत की संविधान सभा की प्रारूप समिति के अध्यक्ष रहे और दलित चेतना के अग्रणी नेता भीमराव अंबेडकर के बारे में आपत्तिजनक बात कही गई थी. यह अकाउंट अब डिलीट कर दिया गया है.

इस ट्वीट को आपत्तिजनक मानते हुए जोधपुर के एक वकील ने जोधपुर लूणी थाने में पांड्या के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की कोशिश की. पुलिस के इनकार करने के बाद अदालत में परिवाद पेश किया गया जिसे मंजूर करते हुए कोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके जांच के आदेश दिए गए हैं.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi