S M L

श्रीलंका के खराब प्रदर्शन के परेशान बोर्ड ने कोच हथुरासिंघे को टीम सेलेक्शन का भी हक दिया

पिछले साल श्रीलंका की टीम को सभी फॉर्मेट्स में खेले 57 मुकाबलों में से 40 में हार का सामना करना पड़ा

Updated On: Jan 07, 2018 10:26 PM IST

FP Staff

0
श्रीलंका के खराब प्रदर्शन के परेशान बोर्ड ने कोच हथुरासिंघे को टीम सेलेक्शन का भी हक दिया

हाल ही में श्रीलंका की क्रिकेट का खराब परफॉर्मेंस क्रिकेट जगत में चर्चा का विषय बना रहा है. टीम के प्रदर्शन में सुधान लाने के लिए क्रिकेट बोर्ड ने कोच चंद्रिका हथुरासिंघे को टीम के चीफ कोच की जिम्मेदारी सौंपी है. और अब हथुरासिंघे और अधिक ताकत सौंपी गई है. उन्हें अब चयनकर्ता की भूमिका निभाने की जिम्मेदारी दी ताकि टीम चयन में उन्हें ज्यादा महत्व मिले.

श्रीलंका क्रिकेट के अध्यक्ष थिलंगा सुमतिपाला ने कहा, ‘ जब टीम दौरे पर होगी तो वह (हथुरासिंघे) टीम में शामिल होने वाले अंतिम 11 खिलाड़ियों का चयन कर सकेंगे जबकि प्रबंधक और कप्तान सह-चयनकर्ता की भूमिका में होंगे.’ श्रीलंका के खेल कानून 1973 के तहत कोच को राष्ट्रीय चयनकर्ता होने की अनुमति नहीं है.

हालांकि टीम के चयन के समय कोच के पास राष्ट्रीय चयन समिति के काम में दखल देने का अधिकार नहीं होगा. सुमतिपाला ने कहा कि नयी व्यवस्था के तहत चयनकर्ताओं का टीम के साथ यात्रा करना जरूरी नहीं होगा. श्रीलंका को 2017 में सभी प्रारूपों में खेले गये 57 मैचों में से 40 में हार का समाना करना पड़ा.

इस मौके पर सुमतिपाला ने नये सचिव के रूप में रोशन बियानवेला की नियुक्ति की जानकारी दी जो वायुसेना अधिकारी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi