Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

जिंबाब्वे-श्रीलंका इकलौता टेस्ट: श्रीलंका ने रिकॉर्ड 388 रन का लक्ष्य हासिल किया

4 विकेट से जीता श्रीलंका

FP Staff Updated On: Jul 19, 2017 09:05 AM IST

0
जिंबाब्वे-श्रीलंका इकलौता टेस्ट: श्रीलंका ने रिकॉर्ड 388 रन का लक्ष्य हासिल किया

निरोशन डिकवेला और असेला गुणारत्ने की शानदार पारियों की बदौलत श्रीलंका ने 388 रन के रिकॉर्ड लक्ष्य का पीछा करते हुए एकमात्र टेस्ट मैच में जिंबाब्वे को चार विकेट से हरा दिया. गुणारत्ने (नाबाद 80) और डिकवेला (81) के बीच छठे विकेट की 121 रन की साझेदारी की बदौलत श्रीलंका ने अपना सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल किया.

इससे पहले श्रीलंका का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ था जब उसने 352 रन का लक्ष्य हासिल किया था. यह एशिया में हासिल किया गया सबसे बड़ा लक्ष्य और टेस्ट मैचों में पांचवां सबसे बड़ा लक्ष्य है. इससे पहले 2008 में चेन्नई में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ 387 रन चेज किए थे.

डिकवेला के आउट होने के बाद मैन ऑफ द मैच बने गुणारत्ने ने दिलरुवान परेरा (नाबाद 29) के साथ 67 रन की साझेदारी करके टीम को जीत दिलाई. कप्तान दिनेश चांदीमल की अगुआई में इस तरह श्रीलंका की टीम वनडे सीरीज में इसी टीम के खिलाफ 2-3 की हार से भी उबरने में सफल रही.

विकेटकीपर रेगिस चकाबवा ने सिकंदर रजा की गेंद पर 37 रन के स्कोर पर डिकवेला को स्टंप करने का मौका गंवाया जबकि 63 रन पर उनका कैच भी नहीं लपक पाए. स्टंपिंग चूकना जिंबाब्वे को काफी भरी पड़ा. इस फैसले को तीसरे अंपायर के पास भेजा गया जिसने बल्लेबाज को नॉटआउट करा दिया. जबकि रीप्ले में दिखा की पैर लाइन पर था और ऐसे मामले में बल्लेबाज को आउट दिया जा सकता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi