S M L

राज्यसभा में नहीं बोलने दिया तो सचिन ने सोशल मीडिया पर रखी अपनी बात, पूरा भाषण सुनें...

15 मिनट की स्पीच में सचिन ने देश में खेलों की संस्कृति को विकसित करने की जरूरत की बात कही

Updated On: Dec 22, 2017 05:14 PM IST

FP Staff

0
राज्यसभा में नहीं बोलने दिया तो सचिन ने सोशल मीडिया पर रखी अपनी बात, पूरा भाषण सुनें...

देश में खेलों को बच्चों का संवैधानिक अधिकार बनाने के लिए राज्यसभा में गुरुवार को सांसद सचिन तेंदुलकर हंगामे के चलते राइट टू प्ले के मसले पर अपनी बात नहीं रख सके थे. अब सचिन ने देश के सामने अपनी बात रखने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया है.

सचिन ने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर अपनी राज्यसभा की स्पीच को अपलोड किया है. 15 मिनट से ज्यादा लंबी अपनी स्पीच में सचिन ने देश में खेलों के महत्व को रेखांकित करते हुए खेलों को संवैधानिक अधिकार देने की बात कही है.

सचिन ने संयुक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि किस तरह से शारीरिक एक्टिविटीज के अभाव में भारत के बच्चे मोटापे की बीमारी का शिकार बनते जा रहे हैं. सचिन का कहना है कि ‘हमें अपने देश को खेलों को प्यार करने वाले से की बजाय खेलों में भागीदारी करने वाले देश में तब्दील करना होगा.’ इसके लिए हमें देश में खेलों की संस्कृति को विकसित करना होगा. सचिन ने भारत के पूर्वोत्तर के राज्यों की मिसाल देते हुए खेलों को सामाजिक सौहार्द को मजबूत करने का बड़ा साधन बताया है.

सचिन ने इंग्लिश-हिंदी में दी अपनी स्पीच के आखिर में कहा है कि उनके लिए ‘वह दिन सबसे बड़ा दिन होगा जब माता-पिता अपने बच्चों से पढ़ाई करने या खाना खाने की बात पूछने के साथ-साथ यह भी पूछेंगे कि आज तुम खेले या नहीं.’

गुरुवार को सचिन अपनी यही बात राज्यसभा में रखकर राइट टू प्ले की बहस की शुरुआत करना चाहते थे. यह पहला मौका होता जब सचिन संसद में स्पीच देते, लेकिन उनकी यह कोशिश हंगामे की भेंट चढ़ गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi