S M L

दोस्ती निभाने के चक्कर में अपनी टीम को हरा रहे हैं स्टीवन स्मिथ?

वार्नर ने कहा, ‘खिलाड़ियों के हाथ में कुछ भी नहीं है कि वे चुने जाते हैं या नहीं

FP Staff Updated On: Sep 27, 2017 02:49 PM IST

0
दोस्ती निभाने के चक्कर में अपनी टीम को हरा रहे हैं स्टीवन स्मिथ?

भारत के खिलाफ लगाातर हार झेल रही ऑस्ट्रेलिया टीम को आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ रहा है. ऑस्ट्रेलिया के ही पूर्व खिलाड़ी रॉडने हॉग ने कप्तान स्टीवन स्मिथ पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि स्मिथ टीम में अपने दोस्तों को खिला रहे हैं और यही वजह है कि टीम लगातार हार रही है.

हॉग ने स्मिथ पर निशाना साधते हुए कहा, ‘वो (स्मिथ) अपने दोस्तों को टीम में खिला रहे हैं. एशटन एगार टीम हैं, हिल्टन कार्टराइट भी खेल रहे हैं. हमने देखा कि निक मैडिसन को भी टीम में चुना गया है वो भी स्मिथ के अच्छे दोस्त हैं’

हॉग ने इस बात पर जोर दिया कि खिलाड़ियों को चुनने के समय प्रदर्शन देखा जाना चाहिए, दोस्ती नहीं. हॉग ने आगे कहा, ‘कप्तान सिर्फ अपनी चला रहे हैं. जॉन हॉलैंड ने अच्छी गेंदबाजी की है. आप उन्हें कैसे नजरअंदाज कर सकते हैं. वो किसी भी विकेट पर बल्लेबाजों को आउट कर सकते हैं. वो लगातार खुद को साबित कर रहे हैं लेकिन कप्तान और चयनकर्ताओं ने अपनी आंखें बंद कर रखी हैं.’

पूर्व खिलाड़ियों के अलावा ऑस्ट्रेलियाई फैंस भी अपनी टीम के प्रदर्शन से गुस्से में हैं. ऑस्ट्रेलिया में कई फैंस टीम के हारने के बाद स्टीवन स्मिथ और दूसरे खिलाड़ियों को खरी-खोटी सुना रहे हैं. ऑस्ट्रेलियाई अखबारों में कई फैंस कमेंट करते हुए मांग कर रहे हैं कि स्टीवन स्मिथ की सेना की सैलरी कुछ ज्यादा ही बढ़ा दी गई है. जिस हिसाब से उनकी टीम को वेतन मिल रहा है, उसके मुताबिक वो प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं.

वॉर्नर ने आरोपों को किया खारिज

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने पूर्व तेज गेंदबाज रॉडनी हॉग के उन आरोपों को खारिज किया जिसमें उन्होंने कहा है कि कप्तान स्टीव स्मिथ राष्ट्रीय टीम में खिलाड़ियों के चयन में पक्षपात कर रहे हैं.

ऑस्ट्रेलिया के खराब प्रदर्शन से निराश हॉग ने कप्तान स्मिथ, चयन समिति और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की काफी आलोचना की है लेकिन वार्नर हॉग के विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते.

वार्नर ने कहा, ‘हर किसी की अपनी राय होगी और वे अपनी राय देने का अधिकार रखते हैं. मैं नहीं जानता कि इस तरह की बातें कहां से उठ रही हैं. टीम का चयन चयनकर्ताओं के हाथ में है और अगर आपको चुन लिया गया है तो आपको मैदान पर जाकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है.'

वार्नर ने कहा, ‘खिलाड़ियों के हाथ में कुछ भी नहीं है कि वे चुने जाते हैं या नहीं चुने जाते. वे सिर्फ एक ही चीज कर सकते हैं कि वे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi