S M L

'आमिर को वापस बुलाए जाने की वजह से देखने पड़ रहे हैं ऐसे दिन'

फिक्सिंग को लेकर पीसीबी के रवैये से नाराज पाकिस्तानी दिग्गज

FP Staff Updated On: Feb 12, 2017 11:15 AM IST

0
'आमिर को वापस बुलाए जाने की वजह से देखने पड़ रहे हैं ऐसे दिन'

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर नाराज हैं. उन्हें लगता है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने मोहम्मद आमिर को लेकर जैसी ढिलाई दिखाई, उसके नतीजे में मैच फिक्सिंग का एक और कांड हो गया है. शरजील खान और खालिद लतीफ को भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित गिया गया है. दोनों पर पाकिस्तान सुपर लीग के दौरान भ्रष्टाचार का आरोप है.

लतीफ और शरजील दोनों ही इस्लामाबाद यूनाइटेड टीम के लिए खेल रहे थे. लीग दुबई में चल रही है. इन दोनों को घर वापस भेज दिया गया है. बोर्ड ने कहा है कि जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती, ये खिलाड़ी निलंबित रहेंगे.

पूर्व टेस्ट कप्तान जावेद मियांदाद ने कहा कि हालिया मामले ने पाकिस्तान क्रिकेट की छवि को बहुत नुकसान पहुंचाया है. उन्होंने कहा, ‘इन हालात के लिए बोर्ड को ही दोषी ठहराया जाएगा. 20 मिलियन लोगों में बोर्ड सिर्फ मोहम्मद आमिर को वापस लाने की जिद में रहा. उन्होंने ऐसे किया, जैसे मुल्क में कोई और टैलेंट बचा ही नहीं.’

miandad

मियांदाद ने कहा कि जब आप ऐसे उदाहरण सामने रखेंगे, तो बाकी खिलाड़ियों से और क्या उम्मीद कर सकते हैं. आमिर उन तीन खिलाड़ियों में थे, जिन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने बैन किया था. बाकी दो खिलाड़ी कप्तान सलमान बट्ट और मोहम्मद आसिफ थे. इन पर पांच साल का बैन लगा था.

बोर्ड ने बट्ट और आसिफ को तो शामिल नहीं किया है. लेकिन आमिर को बुला लिया. बोर्ड ने कहा कि बैन का समय पूरा होने के अलावा आमिर की उम्र बहुत कम है. इसे ध्यान में रखते हुए उन्हें टीम में लिया गया.

मियांदाद ने कहा कि कोई भी क्रिकेटर इसे मामले को हल्का आंकने की तरह ले सकता है. उन्होंने कहा कि शरजील जिस तरह पहले मैच में आउट हुए, उसे देखना चाहिए. इससे समझ आता है कि उन्होंने कैसे अपना विकेट फेंक दिया. उन्होंने कहा, ‘जब मैंने उन्हें आउट होते देखा, तो साफ हो गया कि कुछ गलत है. आप इस तरह आउट नहीं होते.’ शरजील स्टंप के सामने कैच हुए थे.

पूर्व टेस्ट कप्तान आमिर सोहैल और सलामी बल्लेबाज शोएब मोहम्मद ने भी ऐसे खिलाड़ियों के साथ डील करने में पीसीबी के रवैये की आलोचना की है. पूर्व चयनकर्ता सोहैल ने कहा, ‘आमिर को वापस लाना गलत फैसला था. इसका गलत नतीजे दिखने ही थे. अगर कोई खिलाड़ी भ्रष्टाचार में शामिल है, तो उसके लिए किसी भी तरह की दया नहीं दिखानी चाहिए. दुर्भाग्य है कि पाकिस्तान क्रिकेट में ऐसी चीजों को दबाने छुपाने की कोशिश होती है.’ उन्होंने कहा कि पीएसएल से जुड़े तमाम लोगों को गंभीर आरोप हैं.

शोएब मोहम्मद ने कहा कि इस विवाद से पीएसएल की साख पर गहरा झटका लगा है. उन्होंने कहा कि पीसीबी लंबे वक्त से हमारे ऐसे दिग्गजों को खेल के साथ जोड़ने में नाकाम रहे हैं

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi