S M L

रणजी ट्रॉफी राउंडअप : हरियाणा पर पारी की जीत के साथ केरल क्वार्टर फाइनल में

Bhasha Updated On: Nov 28, 2017 09:08 PM IST

0
रणजी ट्रॉफी राउंडअप : हरियाणा पर पारी की जीत के साथ केरल क्वार्टर फाइनल में

जलज सक्सेना के हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर केरल ने हरियाणा को ग्रुप बी के आखिरी लीग मैच में पारी और आठ रन से हराकर रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया. रोहतक में हरियाणा के पहली पारी के 208 रन के जवाब में केरल ने जलज (91) और पीआर प्रेम (93) की पारियों के दम पर 389 रन बनाए थे.

हरियाणा ने सोमवार को दूसरी पारी के पांच विकेट 83 रन पर गंवा दिए थे. इसके बाद मंगलवार को अमित मिश्रा और पूनीश मेहता ने केरल को जीत के लिए इंतजार कराते हुए क्रमश: 40 और नाबाद 32 रन की पारियां खेलीं, लेकिन हार नहीं टाल सके. तेज गेंदबाज एमडी निधीश ने तीन विकेट लेकर केरल को बोनस अंक के साथ जीत दिलाई. जलज ने तीन और बासिल थम्पी ने दो विकेट लिए.

इस जीत के साथ केरल ग्रुप बी की अंक तालिका में छह मैचों में 31 अंक लेकर दूसरे स्थान पर रहा, जबकि गुजरात 34 अंक के साथ शीर्ष पर रहा. हरियाणा छह मैचों में चार हार के बाद नौ अंक लेकर पांचवें स्थान पर रहा.

क्वार्टर फाइनल का कार्यक्रम (मैच सात से 11 दिसंबर के बीच खेले जाएंगे)

1- गुजरात बनाम बंगाल, जयपुर

2- दिल्ली बनाम मध्यप्रदेश, विजयवाड़ा

3- केरल बनाम विदर्भ, सूरत

4- कर्नाटक बनाम मुंबई, नागपुर

अन्य मैचों के परिणाम

गुजरात ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई

हार्दिक पटेल और चिंतन गजा की धारदार गेंदबाजी से गुजरात ने ग्रुप बी मैच में रांची में झारखंड को दस विकेट से हराकर बोनस अंक सहित सात अंक के साथ ग्रुप में शीर्ष पर रहते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. फॉलोऑन खेल रही झारखंड की टीम दो विकेट पर 106 रन से आगे खेलने उतरी. बाएं हाथ के स्पिनर हार्दिक (नौ रन पर चार विकेट) और गजा (37 रन पर तीन विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने मेजबान टीम हालांकि 62 ओवर में 183 रन पर ढेर हो गई. गुजरात को 15 रन का लक्ष्य मिला जो उसने 10 गेंद में ही बिना विकेट खोए 16 रन बनाकर हासिल कर लिया.

रेलवे को हराकर कर्नाटक शीर्ष पर बरकरार

ऑफ स्पिनर के गौतम के करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी से कर्नाटक ने ग्रुप ए मैच के पांचवें और अंतिम दिन रेलवे को 209 रन से हराकर अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा. पहले ही नॉकआउट में जगह बना चुकी कर्नाटक की टीम एक विकेट पर 208 रन से आगे खेलने उतरी. मेहमान टीम ने चार विकेट पर 275 रन बनाने के बाद दूसरी पारी घोषित की और रेलवे को 377 रन का लक्ष्य दिया. कर्नाटक की ओर से सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने 134 रन बनाए जबकि उनके साथी सलामी बल्लेबाज रविकुमार समर्थ ने 56 रन की पारी खेली. लक्ष्य का पीछा करते हुए गौतम (72 रन पर सात विकेट) की फिरकी के सामने रेलवे का कोई बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया और पूरी टीम 63 ओवर में 167 रन पर ढेर हो गई.

ओडिशा को हराकर मध्यप्रदेश क्वार्टर फाइनल में

लेग स्पिनर मिहिर हिरवानी की शानदार गेंदबाजी और कप्तान देवेंद्र बुंदेला के नाबाद अर्धशतक की मदद से मध्यप्रदेश ने इंदौर में ओडिशा को सात विकेट से हराकर ग्रुप सी में शीर्ष पर रहते हुए क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह पक्की की. हिरवानी ने 97 रन देकर पांच विकेट लिए. पुनीत दाते और अंकित शर्मा ने दो-दो विकेट हासिल करके उनका अच्छा साथ दिया जिससे ओडिशा सुभ्रांशु सेनापति के शतक और राजेश धूपर के 88 रन के बावजूद अपनी दूसरी पारी में 350 रन ही बना पाया. मध्यप्रदेश के सामने 110 रन का लक्ष्य था जो उसने तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया.

ड्रॉ मैच से तीन अंक के साथ बंगाल नॉकआउट में

बंगाल ने कोलकाता में गोवा के खिलाफ ड्रॉ छूटे ग्रुप डी मैच में पहली पारी में बढ़त के आधार पर तीन अंक के साथ नॉकआउट में अपनी जगह पक्की की. दूसरी पारी में तीन विकेट पर 108 रन से आगे खेलने उतरे बंगाल का स्कोर जल्द ही 120 रन पर पांच विकेट हो गया था. इसके बाद अनुस्तुप मजूमदार (नाबाद 108) और ऋतिक चटर्जी (नाबाद 102) ने छठे विकेट के लिए 214 रन की अटूट साझेदारी करके टीम का स्कोर पांच विकेट पर 334 रन पर पहुंचा. कप्तान मनोज तिवारी ने इसके बाद पारी घोषित करके गोवा को 404 रन का लक्ष्य दिया. गोवा ने जब 26 ओवर में दो विकेट पर 86 रन बनाए थे तब अंपायरों ने मैच ड्रॉ घोषित कर दिया.

हैदराबाद ने दिल्ली से मैच ड्रॉ कराया

अक्षत रेड्डी (107) के बाद के रोहित रायुडु (103) ने भी शतक जमाया, जबकि बीपी संदीप (93) सात रन से सैकड़े से चूक गए, लेकिन इन तीनों की बड़ी पारियों की मदद से हैदराबाद फॉलोऑन करने के बावजूद दिल्ली के खिलाफ ग्रुप ए का आखिरी लीग मैच ड्रॉ कराने में सफल रहा.

दिल्ली ने अपनी पहली पारी में 415 रन बनाए थे जिसके जवाब में हैदराबाद 205 रन ही बना पाया था और उसे फॉलोऑन करना पड़ा. हैदराबाद के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने हालांकि दूसरी पारी में बेहतर खेल दिखाया जिससे उसकी टीम आठ विकेट पर 442 रन बनाने में सफल रही. इस स्कोर पर अंपायरों ने दोनों कप्तानों की सहमति से मैच ड्रॉ घोषित कर दिया. दिल्ली पहले ही क्वार्टर फाइनल में जगह बना चुका था.

बड़ौदा ने तमिलनाडु को 102 रन से हराया

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज लुकमान मेरिवाला और बाएं हाथ के स्पिनर स्वप्निल सिंह ने चार-चार विकेट लेकर बड़ौदा को ग्रुप सी मैच में 102 रन से जीत दिलाई. तमिलनाडु के सामने 233 रन का लक्ष्य था. उसने सुबह बिना किसी नुकसान के दो रन से आगे खेलना शुरू किया, लेकिन उसकी पूरी टीम 130 रन पर ढेर हो गई. तमिलनाडु की तरफ से केवल बाबा अपराजित (60) ही कुछ संघर्ष कर पाए. स्वप्निल ने 21 रन देकर चार, मेरिवाला ने 22 रन देकर चार और अतीत सेठ ने 38 रन देकर दो विकेट लिए. ये दोनों टीमें पहले ही नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो गई थीं.

राजस्थान के खिलाफ ड्रॉ मैच से सौराष्ट्र को तीन अंक

सौराष्ट्र ने राजस्थान के खिलाफ ड्रॉ हुए ग्रुप बी मैच में तीन अंक हासिल किए. लेकिन टीम नॉकआउट में जगह बनाने में विफल रही. अंतिम दिन तक सौराष्ट्र के पास अंतिम आठ के लिए क्वालीफाई करने का मौका था, लेकिन गुजरात और केरल की बोनस अंक के साथ जीत ने उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया. फॉलोऑन खेल रही राजस्थान की टीम दूसरी पारी में बिना विकेट खोए 13 रन से आगे खेलने उतरी. टीम ने सलामी बल्लेबाजों अमित कुमार गौतम (100) और चेतन बिष्ट (109) के अलावा राजेश बिश्नोई (नाबाद 103) के शतक की बदौलत दूसरी पारी सात विकेट पर 394 रन बनाकर घोषित की जिसके बाद मैच को ड्रॉ समाप्त किया गया. सौराष्ट्र की ओर से धर्मेंद्रसिंह जडेजा ने 167 रन देकर पांच विकेट चटकाए.

गंगटा का शतक, हिमाचल-विदर्भ मैच ड्रॉ

मध्यक्रम के बल्लेबाज निखिल गंगटा के नाबाद शतक से हिमाचल प्रदेश ने विदर्भ के खिलाफ ग्रुप डी मैच ड्रॉ कराया. पहली पारी में 103 रन से पिछड़ने के बाद हिमाचल ने अपनी दूसरी पारी में तीन विकेट 70 रन पर गंवा दिए थे, लेकिन गंगटा (नाबाद 101 रन) की जुझारू पारी तथा कप्तान सुमित वर्मा (59) और ऑलराउंडर ऋषि धवन (53) के अर्धशतकों की मदद से वह चौथे दिन के आखिर में अपना स्कोर आठ विकेट पर 323 रन पर पहुंचाने में सफल रहा. गंगटा के शतक पूरा करते ही हिमाचल ने पारी समाप्त घोषित कर दी थी जिसके बाद अंपायरों ने भी मैच ड्रॉ घोषित कर दिया.

राहुल और रवि के शतक से सेना ने पंजाब को ड्रॉ पर रोका

कप्तान राहुल सिंह और रवि चौहान के शतक और दोनों के बीच 206 रन की साझेदारी से सेना ने ग्रुप डी मैच में फॉलोऑन खेलने के बावजूद अमृतसर में पंजाब को जीत से वंचित करते हुए एक अंक हासिल किया. सेना की टीम तीन विकेट पर 118 रन से आगे खेलने उतरी. राहुल ने 47 रन से आगे खेलते हुए 124, जबकि रवि ने 24 रन से आगे खेलते हुए 112 रन की पारी खेली जिससे टीम 105 ओवर में 458 रन बनाने में सफल रही. पंजाब को 129 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन जब टीम ने 6 .1 ओवर में पांच विकेट पर 94 रन बनाए थे तब मैच ड्रॉ घोषित किया गया.

 

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi