S M L

रणजी ट्रॉफी राउंडअप : गंभीर की पारी से दिल्ली ने बनाई सेमीफाइनल में जगह

दिल्ली ने मध्य प्रदेश को सात विकेट से पराजित किया

FP Staff Updated On: Dec 11, 2017 08:29 PM IST

0
रणजी ट्रॉफी राउंडअप : गंभीर की पारी से दिल्ली ने बनाई सेमीफाइनल में जगह

गौतम गंभीर की मौके पर खेली गई 95 रन की ठोस पारी की बदौलत दिल्ली ने सोमवार को विजयवाड़ा में मध्यप्रदेश को सात विकेट से पराजित कर रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में प्रवेश किया. गौतम गंभीर ने 129 गेंदों पर 95 रन बनाए जिससे सात बार की रणजी चैंपियन टीम ने 217 रन का लक्ष्य महज 51.4 ओवरों में हासिल कर लिया.

दिल्ली ने पांचवें और अंतिम दिन अपनी दूसरी पारी बिना किसी नुकसान के आठ रन से आगे शुरू की. लेकिन उसने विकास टोकस (06) का विकेट जल्द गंवा दिया. उसके बाद गंभीर और कुणाल चंदेला (57) ने दूसरे विकेट पर 98 रन की साझेदारी कर दिल्ली की पारी संभाली. चंदेला लेग स्पिनर मिहिर हिरवानी का शिकार बने. उसके बाद गंभीर का साथ देने ध्रुव शौरी (नाबाद 46) आए. दोनों के बीच 95 रन की साझेदारी हुई जिससे दिल्ली जीत के और करीब पहुंच गई.

गंभीर अपना 42वां प्रथम श्रेणी शतक पूरा नहीं कर सके और रन आउट हो गए. दिल्ली को जीत दिलाने की औपचारिकता ध्रुव शौरी और नीतीश राणा ने पूरी की. दिल्ली ने तीन विकेट पर 217 रन बनाए. 2009-2010 के बाद यह पहला मौका है जब दिल्ली ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया.

दिल्ली ने मध्यप्रदेश के 338 रन के जवाब में 405 रन बनाकर पहली पारी में 67 रन की बढ़त हासिल की थी. मध्यप्रदेश ने अपनी दूसरी पारी में 283 रन बनाए और दिल्ली को जीत के लिए 217 रन का लक्ष्य दिया था. दिल्ली का पहले सेमीफाइनल में बंगाल या गुजरात से मुकाबला होगा.

केरल की सबसे बड़ी हार, विदर्भ सेमीफाइनल में

बाएं हाथ के स्पिनर आदित्य सरवटे के अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के दम पर विदर्भ ने सूरत में केरल को 412 रन से करारी शिकस्त देकर शान से सेमीफाइनल में जगह बनाई, जहां उसका मुकाबला कर्नाटक से होगा.

विदर्भ ने अपनी दूसरी पारी नौ विकेट पर 507 रन बनाकर समाप्त घोषित की और इस तरह से केरल के सामने 578 रन का असंभव लक्ष्य रखा. इस पूरे सत्र में अच्छा प्रदर्शन करने वाले केरल की टीम दबाव में बिखर गई और 165 रन पर ढेर हो गई. सरवटे ने 41 रन देकर छह विकेट लिए. यह केरल की रनों के लिहाज से सबसे बड़ी हार है. इससे पहले उसे मद्रास (अब तमिलनाडु) ने 1953-54 में 316 रन से हराया था.

बंगाल सेमीफाइनल में, मौजूदा चैंपियन गुजरात बाहर

बंगाल ने पहली पारी की बढ़त के आधार पर सेमीफाइनल में जगह सुनिश्चित होने के कारण मौजूदा चैंपियन गुजरात के खिलाफ नीरस ड्रॉ के रूप में समाप्त हुए क्वार्टर फाइनल के पांचवें और अंतिम दिन भी अपनी दूसरी पारी जारी रखी और छह विकेट पर 695 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया.

बंगाल ने अपनी पहली पारी में 354 रन बनाकर गुजरात को 224 रन पर आउट कर दिया था. इसके बाद उसने दूसरी पारी में किसी तरह का जोखिम नहीं लिया और दिल्ली के खिलाफ होने वाले सेमीफाइनल से पहले अपने बल्लेबाजों को लगभग ढाई दिन तक बल्लेबाजी करने का मौका दिया. बंगाल की तरफ से रविवार को अभिमन्यु ईश्वरन (114) और ऋतिक चटर्जी (216) ने शतक जमाए, जबकि सोमवार को अनुस्तुप मजूमदार की बारी थी जो 132 रन बनाकर नाबाद रहे.

सोमवार को केवल 62 ओवर का ही खेल हुआ जिसके बाद दोनों कप्तान मैच ड्रॉ कराने पर सहमत हो गए. इस बीच मजूमदार क्रीज पर टिके रहे. सुबह छह रन से अपनी पारी आगे बढ़ाने वाले इस 33 वर्षीय बल्लेबाज ने आमिर गनी (नाबाद 53) के साथ सातवें विकेट के लिए 157 रन की अटूट साझेदारी की.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi