S M L

रणजी ट्रॉफी फाइनल, दिल्ली बनाम विदर्भ, दूसरा दिन: गुरबानी की हैट्रिक, वसीम जाफर का नाबाद अर्द्धशतक

दूसरे दिन पहली पारी में दिल्ली के 295 रन के जवाब में विदर्भ का स्कोर 206/4, वसीम जाफर अर्द्धशतक लगाकर क्री़ज पर मौजूद

FP Staff Updated On: Dec 30, 2017 06:09 PM IST

0
रणजी ट्रॉफी फाइनल, दिल्ली बनाम विदर्भ, दूसरा दिन: गुरबानी की हैट्रिक, वसीम जाफर का नाबाद अर्द्धशतक

इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी के फाइनल का दूसरा दिन एक ऐतिहासिक हैट्रिक का गवाह बना. विदर्भ के तेज गेंदबाज रजनीश गुरबानी की हैट्रिक के बाद वसीम जाफर ने अपने बरसों के अनुभव का पूरा इस्तेमाल करते हुए नाबाद अर्धशतक लगाकर दिल्ली के खिलाफ रणजी ट्राफी फाइनल में दूसरे दिन विदर्भ को चार विकेट पर 206 रन तक पहुंचा दिया.इस मैच में रोमांच बरकरार है .

दूसरे दिन का खेल समाप्त होने पर जाफर 120 गेंद में 61 रन बनाकर खेल रहे थे जबकि अक्षय वखारे ने अभी खाता नहीं खोला है . विदर्भ अभी भी पहली पारी में 89 रन से पीछे है .

तीसरे दिन दिल्ली के गेंदबाजों पर पकड़ बनाने का दबाव होगा और उनका प्रदर्शन निर्णायक साबित हो सकता है .

अपने पहले दिन के स्कोर छह विकेट पर 271 रन से आगे खेलते हुए दिल्ली के निचले क्रम के बल्लेबाज गुरबानी का सामना नहीं कर सके . उन्होंने सात बार की विजेता दिल्ली के तीन बल्लेबाजों को लगातार तीन गेंदों पर आउट किया जिनमें शतकवीर ध्रुव शोरे शामिल थे . वह रणजी ट्राफी फाइनल में हैट्रिक बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी बन गए . तमिलनाडु के बी कल्याणसुंदरम ने 1972-73 में मुंबई के खिलाफ यह कारनामा किया था .

gurbani

दिल्ली ने अपने आखिरी चार विकेट पांच रन के भीतर गंवा दियए . गुरबानी ने विकास मिश्रा, नवदीप सैनी और शोरे को लगातार तीन गेंदों पर आउट किया . शोरे ने अपनी पारी में 21 चौके लगाए .

विदर्भ ने लंच तक बिना किसी नुकसान के 45 रन बना लिए थे . इस सत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले कप्तान फैज फजल ( 67 ) और संजय रामास्वामी ( 31 ) ने 51 रन की साझेदारी की . आकाश सूदन ने रामास्वामी को आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा . इसके बाद जाफर क्रीज पर आये .

सूदन ने फजल को आउट करके विदर्भ को दूसरा झटका दिया . फजल ने अपनी 101 गेंद की पारी में 10 चौके लगाये . दो विकेट लेने के बाद दिल्ली के कप्तान रिषभ पंत ने अपने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज नवदीप सैनी को गेंद सौंपी जिसका फायदा भी मिला .

कर्नाटक के खिलाफ सेमीफाइनल में अर्धशतक जमाने वाले अनुभवी गणेश सतीश ( 12 ) को सैनी ने पगबाधा आउट किया . आखिर में कुलवंत केजरोलिया ने अपूर्व वानखेड़े को विकेट के पीछे पंत के हाथों लपकवाया .

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi