S M L

रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल : विदर्भ 185 पर आउट, कर्नाटक की भी खराब शुरुआत

पहले दिन कर्नाटक के अभिमन्यु मिथुन चटकाए पांच विकेट

Bhasha Updated On: Dec 17, 2017 07:14 PM IST

0
रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल : विदर्भ 185 पर आउट, कर्नाटक की भी खराब शुरुआत

अभिमन्यु मिथुन की शानदार गेंदबाजी से अपनी पहली पारी में केवल 185 रन बनाने वाले विदर्भ ने रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल के पहले दिन कोलकाता में कर्नाटक के शीर्ष क्रम को झकझोर कर वापसी की. कर्नाटक ने रविवार का खेल समाप्त होने तक तीन विकेट पर 36 रन बनाए हैं और वह अभी विदर्भ से 149 रन पीछे है. शीर्ष क्रम के तीनों बल्लेबाज मयंक अग्रवाल, आर समर्थ और देगा निश्चल पवेलियन में विराजमान हैं जिससे पहला दिन कर्नाटक अपने नाम नहीं कर पाया.

कोलकाता में 25 किमी दौड़ के कारण खेल आधा घंटा देरी से शुरू हुआ. लेकिन ईडन गार्डंस में इसके बाद बल्लेबाजों ने पवेलियन लौटने में जल्दबाजी दिखाई. विदर्भ ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया, लेकिन मिथुन (5/45) ने इसे गलत साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. कप्तान आर विनयकुमार (2/36) ने उनका अच्छा साथ दिया.

कप्तान फैज फजल (12) और संजय रामास्वामी (22) के 17वें ओवर तक आउट होने के बाद वसीम जाफर (39) और गणेश सतीश (31) बखूबी पारी आगे बढ़ा रहे थे, लेकिन यह साझेदारी टूटते ही विकेटों का पतन शुरू हो गया. निचले मध्यक्रम में आदित्य सरवटे (47) ही कुछ रन जुटा पाए.

विदर्भ के तेज गेंदबाजों ने भी हालांकि पिच से मिल रही मदद का पूरा फायदा उठाया. रजनीश गुरबाणी (2/9) ने प्रभाव छोड़ा. उन्होंने समर्थ (06) और निश्चल (00) को अपने लगातार ओवरों में आउट किया, लेकिन इस बीच अनुभवी उमेश यादव (1/22) ने मयंक अग्रवाल का कीमती विकेट लिया. इस रणजी सत्र में पांच शतकों की मदद से 1000 से अधिक रन बनाने वाले अग्रवाल केवल 15 रन बना पाए. स्टंप उखड़ने के समय करुण नायर छह और सीएम गौतम नौ रन पर खेल रहे थे.

गेंदबाजों ने दिलाई दिल्ली को वापसी

दिल्ली ने गेंदबाजों की बदौलत जोरदार वापसी करते हुए रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल के पहले दिन रविवार को पुणे में बंगाल को सात विकेट पर 269 रन ही बनाने दिए. बंगाल की टीम एक समय तीन विकेट पर 200 रन बनाकर काफी मजबूत स्थिति में दिख रही थी,लेकिन दिल्ली ने नवदीप सैनी (2/45), मनन शर्मा (2/37), विकास टोकस (1/50), कुलवंत खेजरोलिया (1/57) और विकास मिश्रा (1/59) की बदौलत मजबूत वापसी की. दिन का खेल खत्म होने पर श्रीवत्स गोस्वामी 19 जबकि आमिर गनी चार रन बनाकर खेल रहे थे.

बंगाल ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, लेकिन सैनी ने क्वार्टर फाइनल में गुजरात के खिलाफ दो शतक जड़ने वाले अभिमन्यु ईश्वरन (04) को चौथे ओवर में ही एलबीडब्ल्यू कर दिया. बाएं हाथ के स्पिनर मिश्रा ने इसके बाद सलामी बल्लेबाज अभिषेक रमन (36) को अपनी ही गेंद पर लपककर बंगाल का स्कोर दो विकेट पर 54 रन किया.

सुदीप चटर्जी (83) और ऋतिक चटर्जी (47) ने इसके बाद तीसरे विकेट के लिए 78 रन की साझेदारी करके पारी को संभालने की कोशिश की. टोकस ने ऋतिक को एलबीडब्ल्यू करके इस साझेदरी को तोड़ा. उन्होंने 85 गेंद का सामना करते हुए सात चौके लगाए. सुदीप ने इसके बाद कप्तान मनोज तिवारी (30) के साथ मिलकर टीम का स्कोर 200 रन तक पहुंचाया.

बाएं हाथ के स्पिनर मनन ने तिवारी को हिम्मत सिंह के हाथों कैच कराकर बंगाल को चौथा झटका दिया और फिर सुदीप को स्थानापन्न खिलाड़ी उन्मुक्त चंद के हाथों कैच कराके विरोधी टीम का स्कोर पांच विकेट पर 209 रन किया. सुदीप ने 162 गेंद का सामना करते हुए 10 चौके जड़े. सैनी ने इसके बाद अनुस्तूप मजूमदार (32) जबकि खेजरोलिया ने दिन के अंतिम ओवर में बी अमित (09) को पवेलियन भेजकर दिल्ली की पलड़ा भारी रखा.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi