S M L

आखिर क्यों बीसीसीआई से 160 करोड़ रुपए की 'फिरौती' वसूलना चाहती है आईसीसी!

आईसीसी ने दी है भारत से 2023 वर्ल्ड कप की मेजबानी छीनने की धमकी

Updated On: Dec 22, 2018 02:40 PM IST

FP Staff

0
आखिर क्यों बीसीसीआई से 160 करोड़ रुपए की 'फिरौती' वसूलना चाहती है आईसीसी!

क्रिकेट की दुनिया में बीसीसीआई सबसे रईस बोर्ड है. माना जाता रहा है कि अपने पैसों की दम पर बीसीसीआई की आईसीसी में तूती बोलती है. लेकिन अब एक खबर ऐसी आई है जिससे पता चलता है कि कैसे आईसीसी , बीसीसीआई की बांह मरोड़कर उससे करोड़ों रुपए वसूलना चाहती है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक आईसीसी ने बीसीसीआई से अब 23 मिलियन डॉलर यानी तकरीबन 160 करोड़ रुपे की मांग की है. बोर्ड को यह पैसा देने के लिए अब 10 दिन का वक्त है. साथ ही आईसीसी ने धमकी दी है कि अगर भारतयी बोर्ड यह रकम आईसीसी को नहीं देता है तो वब इसे इस साल के भारत को मिलने वाले फाइनेंशियल रेवेन्यू से काट लेगा. साथ ही जो बड़ी बात है वह यह है कि आईसीसी ने भारत से 2021 में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी और 2023 में होने वाले आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप की मेजबानी भी छीनने की धमकी दी है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल यह पूर मामला साल 2016 का है जब भारत में टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ था. इस दौरान आईसीसी को ना तो केंद्र सरकार और ना ही राज्य सरकार से टैक्स में कोई छूट मिली थी. लिहाजा आईसीसी के ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स ने टैक्स के इस पैसे को आईसीसी को होने वाले भुगतान से काट लिया था. अब आईसीसी की मंशा है कि उसके इस घाटे की पूर्ति बीसीसीआई करे.

आईसीसी की इस धमकी का जवाब देते हुए बीसीसीआई ने पूछा है कि आखिर कब उसने भारत में होने वाले उस टूर्नामेंट के लिए टैक्स में छूट मिलने की रजामंदी थी. बोर्ड ने उस मीटिंग का ब्यौरा मांगा जो अब तक आईसीसी ने मुहैया नहीं कराया है.

बीसीसीआई को उस वक्त एन श्रीनिवासन चला रहे थे और खबर के मुताबिक बोर्ड के अधिकारियों को मानना है कि उन्होंने इस बात पर कतई रजामंदी नहीं दी थी कि टैक्स में छूट ना मिलने पर बोर्ड इसका हर्जाना आईसीसी को देगा.

बहरहाल अब देखना होगा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बीसीसीआई को चल रही प्रशासकों की समिति यानी सीओए इस मसल पर क्या रुख अपनाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi