S M L

आज का दिन:  भुलाए नहीं भूलती बारबाडोस में खेली गई ब्रायन लारा की वो पारी

नाबाद 153 रन की पारी खेलकर वेस्टइंडीज को दिलाई थी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत

Sachin Shankar Updated On: Mar 30, 2018 07:57 AM IST

0
आज का दिन:  भुलाए नहीं भूलती बारबाडोस में खेली गई ब्रायन लारा की वो पारी

ब्रायन चार्ल्स लारा की उपलब्धियों को देखते हुए उनका शुमार दुनिया के महान बल्लेबाजों में किया जाना लाजिमी है. लेकिन 19 साल पहले आज के दिन (30 मार्च) को उन्होंने एक ऐसी पारी खेली थी जिसने उनका कद और ऊंचा कर दिया. उन्होंने 1999 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट में नाबाद 153 रन की पारी खेलकर वेस्टइंडीज को जिस तरह जीत दिलाई थी, उसकी मिसाल मिलना मुश्किल है.

इससे पहले मैच में ब्रायन लारा ने 213 रन की पारी खेलकर वेस्टइंडीज को सीरीज में बराबरी दिलाई थी. बारबाडोस में खेले गए तीसरे टेस्ट में ब्रायन लारा जब क्रीज पर आए तो वेस्टइंडीज 87 रन पर तीन विकेट गंवा चुका था. जबकि उसे जीत के लिए 308 रन का लक्ष्य मिला था. ऑस्ट्रेलिया के पास गेंदबाजी आक्रमण में उस समय ग्लेन मैकग्रा, शेन वार्न, जेसन गिलेस्पी और स्टुअर्ट मैकगिल जैसे धाकड़ गेंदबाज थे. वेस्टइंडीज के पास उनका सामना करने की कुव्वत नजर नहीं आ रही थी.

लारा-एडम्स के बीच 133 रन की साझेदारी

78-3 जल्द ही 105-5 हो गया. पेड्रो कॉलिंस और कार्ल हूपर जल्दी-जल्दी पवेलियन लौट गए. लारा के साथ अब विकेटकीपर बल्लेबाज जिमी एडम्स थे. लारा ने रन बनाने की जिम्मेदारी उठाई और जिमी एडम्स गेंद को रोकते रहे. दोनों ने छठे विकेट पर 133 रन की साझेदारी की. ग्लेन मैकग्रा ने जिमी एडम्स को आउट कर वेस्टइंडीज को सातवां झटका दिया. उस समय भी वेस्टइंडीज को 73 रन की दरकार थी. लेकिन उसका पुछल्ला क्रम ही बचा था. लेकिन हालात रिडले जैकब्स और पैरी के आउट होते ही और खराब हो गए.

लारा ने दिया जश्न मनाने का मौका 

वेस्टइंडीज अभी भी 63 रन दूर था. केवल दो विकेट उसके हाथ में थे. कोई सोच भी नहीं सकता था कि ऑस्ट्रेलिया हार सकता है. लेकिन लारा उस दिन कुछ और ही सोचकर आए थे. उन्होंने एम्ब्रोस को नॉन स्ट्राइकर पर रख रन बटोरने का जिम्मा संभाला. दुनिया की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी के खिलाफ उन दोनों का प्रयास देखने लायक था. जब छह रन बनाने थे एम्ब्रोस भी चलते बने. अब बारी थी वाल्श के आने की. दर्शक सन्न थे. मैकग्रा के अगले ओवर में पहली गेंद पर लारा ने एक रन लिया. लग नहीं रहा था कि वाल्श पांच गेंद खेल पाएंगे. वाल्श टिके रहे और लारा ने मैकगिल पर चौका लगाकर मेजबान दर्शकों को शानदार जश्न मनाने का मौका दिया.

टेस्ट क्रिकेट की दूसरी सबसे बेहतरीन पारी  माना विजडन ने

ब्रायन लारा की इस पारी को विजडन 100 ने टेस्ट क्रिकेट की दूसरी सबसे बेहतरीन पारियों में रखा है. 1936-37 में सर डॉन ब्रैडमैन द्वारा इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई 270 रन की पारी को विजडन ने पहले नंबर पर जगह दी. टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर का रिकॉर्ड भी ब्रायन लारा के नाम ही है. उन्होंने 2004 में एंटीगा टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 400 रन की पारी खेलकर यह रिकॉर्ड बनाया था.

शानदार रिकॉर्ड हैं लारा के नाम

यह पहली बार नहीं था जब लारा ने टेस्ट क्रिकेट में इतनी विशाल पारी खेली थी. इससे पहले भी 1994 में इंग्लैंड के खिलाफ ब्रायन लारा ने 375 रन की रिकॉर्डतोड़ पारी खेली थी और अपने हमवतन हरफनमौला खिलाड़ी सर गैरी सोबर्स (नाबाद 365 रन) के 36 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा था. ब्रायन लारा ने 131 टेस्ट मैच खेलकर 11,953 रन बनाए हैं, जिसमें 34 शतक और 48 अर्धशतक शामिल हैं. तो वहीं वनडे क्रिकेट में ब्रायन लारा ने 299 मैच में 10,405 रन बनाएं हैं जिसमें 19 शतक और 63 अर्धशतक शामिल हैं. टेस्ट क्रिकेट में लारा के नाम 9 दोहरे शतक दर्ज हैं.

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi