S M L

आज का दिन, 02 मार्च: 10 साल पहले विराट कोहली की टीम ने जीत ली थी दुनिया

02 मार्च 2008 को मलेशिया में खेले गए अंडर19 वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को मात देकर किया था खिताब पर कब्जा

Updated On: Mar 02, 2018 04:48 PM IST

FP Staff

0
आज का दिन, 02 मार्च: 10 साल पहले विराट कोहली की टीम ने जीत ली थी दुनिया

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को आज दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज के साथ साथ कप्तानों में भी शुमार किया जाता है. साउथ अफ्रीका में वनडे और टी 20 सीरीज जीतने के साथ ही विराट की कप्तानी और परिवक्व हो रही है. पूरी दुनिया को विराट की कप्तानी की पहली झलक आज से 10 साल पहले दिखी दी. कोहली की कप्तानी में भारत की अंडर19 टीम ने आज ही के दिन यानी दो मार्च 2008 को जुनियर वर्ल्ड कप जीतकर दूसरी बार यह खिताब भारत के नाम किया था.

 

भारतीय टीम अब तक कुल चार बार यह टूर्नामेंट जीत चुकी है. पहली बार मोहम्मद कैफ की कप्तानी में टीम इंडिया ने यह उपलब्धि हासिल की थी तो दूसरी बार कोहली की कप्तानी में यह सेहरा टीम इंडिया सिर बंधा था.

अपराजेय रही थी टीम इंडिया

कोहली की कप्तानी में भारत की जूनियर टीम ने मलेशिय़ा में खेले गए इस जूनियर वर्ल्ड कप में शुरू से ही चैंपियन सरीखा खेल दिखाया था. भारत ने अपने अभियान का आगाज ग्रुप बी में न्यू पापुआ गिनी जैसी कमजोर टीम को 195 रन के भारी अंतर से हरा कर किया था.

इसके अगले मुकाबले में भारत के सामने मजबूत साउथ अफ्रीका की टीम थी जिसे छह विकेट से मात देकर अपने इरादे जाहिर कर दिए थे.

वेस्टइडीज को अगले मुकाबले में 50 रन से मात देकर भारत ने क्वार्टर फाइनल में इग्लैंड को टक्कर दी. सात विकेट से इंग्लिश टीम को मात देकर भारतीय टीम डकवर्थ लुइस के नियम के आधार पर न्य़ूजीलैंड को सेमीफाइनल में तीन विकेट से हराकर फाइनल में पहुंची जहां उसका मुकाबला एकबार फिर साउथ के साथ था.

दो मार्च, 2008 को खेला गया फाइनल

पहले बल्लेबाजी कर रही भारतीय टीम कोई बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर सकी. 45.4 ओवर में भारत ने कुल 159 रन बनाए. तन्मय श्रीवास्तव ने सबसे ज्यादा 46 रन बनाए.

बारिश से प्रभावित इस मैच में डकवर्थ लुइस के नियम का सहारा लिया गया. साउथ अफ्रीका के सामने 25 ओवर में 116 रन का टारगेट था. इतने आसान से टारगेट के सामने अफ्रीकी बल्लेबाजों ने सरेंडर कर दिया. रवींद्र जडेजा, अजितेश अर्गल और सिद्धार्थ कौल ने दो दो विकेट हासिल करके अफ्रीकी टीम को 25 ओवर में आठ विकेट पर 103 रन ही बनाने दिए.

भारत 12 रन से यह मुकाबला जीतकर अंडर 19 वर्ल्ड कप का दूसरी बार चैंपियन बना. इसके बीद 2012 में उन्मुक्त चंद और 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में टीम इंडिया यह कारनामा अपने नाम किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi