S M L

पोवार का नहीं बढ़ा कार्यकाल, बीसीसीआई ने मांगे नए कोच के लिए आवेदन

शुक्रवार रमेश पोवार के कार्यकाल का आखिरी दिन है और मिताली के साथ उनके मतभेद को देखते हुए कार्यकाल नहीं बढ़ाया गया

Updated On: Nov 30, 2018 08:27 PM IST

Bhasha

0
पोवार का नहीं बढ़ा कार्यकाल, बीसीसीआई ने मांगे नए कोच के लिए आवेदन

सीनियर खिलाड़ी मिताली राज और कोच रमेश पोवार के बीच मतभेद के सामने आने और शुक्रवार को पोवार का कार्यकाल खत्‍म होने के बाद बीसीसीआई ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए आवेदन मंगवाया है और वह इस पद के लिए किसी इंटरनेशनल पुरुष क्रिकेटर को यह जिम्मेदारी सौंपना चाहता है. पीटीआई की खबर के मुता‍बिक मुख्‍य कोच पद के लिए टॉम मूडी, डेव वाटमोर और वेंकटेश प्रसाद के नामों पर विचार किया जा रहा है.

खबर के मुताबिक बीसीसीआई वेस्टइंडीज में हुए आईसीसी महिला विश्व टी20 के दौरान टीम के सेमीफाइनल में हारने और मिताली और कोच पोवार के बीच मतभेद जैसी स्थिति फिर नहीं चाहता है् इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में मिताली को बाहर रखने के कारण विवाद पैदा हुआ था. भारत को इंग्लैंड ने उस मैच में आठ विकेट से हराया था. पोवार की नियुक्ति अगस्त में हुई थी जब तुषार अरोठे ने सीनियर खिलाड़ियों के साथ मतभेद के कारण पद छोड़ दिया था.

14 दिसंबर तक भेजने होंगे आवेदन

बीसीसीआई ने आवेदन भेजने की अंतिम तारीख 14 दिसंबर को शाम 5 बजे तक तय की है. मुख्‍य कोच पद के लिए इंटरव्‍यू 20 दिसंबर को मुंबई में बीसीसीआई हैडक्‍वार्टर में होंगे. यह नियुक्ति पूर्णकालिक होगी और अनुबंध दो साल के लिए होगा। उम्मीदवार की उम्र 60 साल से कम होनी चाहिए.

बीसीसीआई ने इस पद के उम्मीदवार के पास जो योग्‍यता तय की है, उसमें किसी अंतरराष्ट्रीय टीम को एक सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव होना या किसी टी20 फ्रेंचाइजी के साथ दो सत्र तक कोचिंग देने का अनुभव शामिल है. विभिन्न पृष्ठभूमि और संस्कृतियों के लोगों के साथ सामंजस्य बैठाने और बातचीत करने की क्षमता होनी चाहिए और उसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत या किसी अन्य देश का प्रतिनिधित्व किया हो या उसके पास कोचिंग में एनसीए लेवल ‘सी’ का प्रमाण पत्र या इसी स्तर की किसी संस्था का प्रमाण पत्र और कम से कम 50 प्रथम श्रेणी मैचों का अनुभव होना चाहिए.

मूडी पूरी करते है शर्ते

बीसीसीआई ने पद के लिए जो योग्‍यता निर्धारित की है, उसमें पूर्व ऑस्ट्रेलियाई हरफनमौला मूडी इस जरुरत के पूरी तरह से फिट बैठते है, जबकि प्रसाद ने किंग्स इलेवन पंजाब के साथ जुड़ने से पहले भारतीय टीम के साथ गेंदबाजी कोच के रूप में काम किया है. वाटमोर ने 1996 में श्रीलंका विश्व चैम्पियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi