S M L

Nidahas Trophy, India vs Bangladesh: दांव पर लगी टीम इंडिया की साख

भारत और बांग्लादेश के बीच निदाहास ट्रॉफी का मुकाबला गुरुवार को शाम शात बजे से खेला जाएगा

FP Staff Updated On: Mar 08, 2018 08:48 AM IST

0
Nidahas Trophy, India vs Bangladesh: दांव पर लगी टीम इंडिया की साख

भारतीय उपमहाद्वीप में टीम इंडिया की ताकत से हर कोई वाकिफ है. इसी भरोसे के साथ बीसीसीआई ने एक कम अनुभवी टीम को निदाहास ट्रॉफी के लिए श्रीलंका भेजा था. लेकिन मंगलवार को श्रीलंका की टीम ने भारत को बिना किसी बड़ी मुश्किल के मात देकर भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा के माथे पर पसीना ला दिया है

गरुवार को जब भारतीय टीम इस टूर्नामेंट की तीसरी टीम बांग्लादेश के खिलाफ उतरेगी तो उसके सामने पहली जीत दर्ज करने का टारगेट तो होगा ही साथ टीम इंडिया की साख भी दांव पर होगी.

पिछले कुछ वक्त से भारत की टीम श्रीलंका बिना किसी कठिनाई के साथ लगभग हर बार मात दी थी लेकिन इस टूर्नामेंट के पहले ही मुकाबले में मेजबान टीम ने भारत के इस कम अनुभवी टीम की कई कमजोरियों को सामने ला दिया.

Colombo : Sri Lanka's Kusal Perera celebrates scoring a half century against India during their Twenty20 cricket match in Nidahas Triangular series in Colombo, Sri Lanka, Tuesday, March 6, 2018. AP/ PTI(AP3_6_2018_000192B)

श्रीलंका के बल्लेबाज कुसल परेरा ने 37 गेदों पर 66 रन की पारी खेलकर भारतीय गेंदबाजों की कलई खोल कर दी. बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की गैरमौजूदगी में शार्दुल ठाकुर और जयदेव उनदकट श्रीलंका के बल्लेबाजों पर वैसा अंकुश नहीं रख सके जैसा 174 रन के स्कोर के बचाव किए जरूरी था.

रोहित शर्मा की फॉर्म है परेशानी का सबब

कुछ वक्त पहले ही श्रीलंका के भारत दौरे के वक्त रोहित का बल्ला आग उगल रहा था. रोहित टी20 सीरीज में एक शतक भी जड़ा था. लेकिन उसके बाद साउथ अफ्रीका के दौरे पर वह पर एक शतक ही लगा सके थे. ऐसे में उम्मीद तो थी कि निदाहास ट्रॉफी में बतौर कप्तान वह अपनी बल्लेबाजी का जलवा जरूर दिखाएंगे. श्रीलंका के खिलाफ वह खाता भी नहीं खोल सके. अगर यही हाल बांग्लादेश के खिलाफ भी रहा तो फिर टीम के लिए मुश्किलें काफी बढ़ जाएंगी.

क्रिकेट के इस छोटे फॉर्मेट में भारत के लिए बांग्लादेश की चुनोती आसान नहीं रही है. अपने घर पर श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज गंवाने के बाद महमूदुल्ला की कप्तानी में यह टीम अब जीत की लय पाने को बेताब होगी.

भारत के लिहाज से इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने के लिए इस मुकाबले की जीतना आवश्यक तो नहीं है लेकिन अगर टीम इंडिया हार जाती है तो फिऱ बाकी दो मुकाबलों के लिए दबाव पहुच बढ़ जाएगा. लिहाजा इस कम अनुभवी टीम इंडिया पर अपने खेल का स्तर बढ़ाकर साख बचाने की जिम्मेदारी होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi