S M L

#MeToo में फंसे राहुल जौहरी की जांच के लिए बीसीसीआई ने सौंपे दस्‍तावेज

समिति ने ईमेल आईडी भी बनाई है, जिस पर बीसीसीआई के अंदर और बाहर का कोई भी व्‍यक्ति शिकायत या आरोपों से संबंधित सूचना और सबूत आदि भेज सकता है

Updated On: Nov 02, 2018 01:48 PM IST

FP Staff

0
#MeToo में फंसे राहुल जौहरी की जांच के लिए बीसीसीआई ने सौंपे दस्‍तावेज
Loading...

कथित यौन उत्‍पीड़न मामले में फंसे बीसीसीआई के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी  के खिलाफ जांच के लिए बनी स्‍वतंत्र समिति ने जांच शुरू कर दी है और इसके लिए बीसीसीआई ने पैनल को दस्‍तावेज भी सौंप दिए हैं बीसीसीआई  रिलीज के अनुसार  स्‍वतंत्र समिति आरोपों की आगे की जांच को लेकर गुरुवार को मुंबई में मुलाकात की थी. इसी के साथ पैनल ने किसी अन्‍य शिकायत को दर्ज कराने के लिए 9 नवंबर की तारीख दी है.

बीसीसीआई ने बताया कि सभी दस्‍तावेज दे दिए हैं और समिति अगले दो दिन में इस दस्‍तावेजों की जांच करने सुनवाई शुरू करेगी. समिति ने शिकायत दर्ज कराने के लिए अधिकारिक रूप से एक अलग ईमेल आईडी भी बनाई है. बीसीसीआई रिलीज के अनुसार 9 नवंबर तक बीसीसीआई के अंदर और बाहर का व्‍यक्ति, जिसकी कोई शिकायत हो या फिर इन आरोपों से संबंधित कुछ सूचना, सबूत हो, वह मेल भेज सकता है.

गौरतलब है कि राहुल जौहरी पर #MeToo कैंपेन के तहत सोशल मीडिया पर एक अज्ञात महिला ने यौन उत्‍पीड़न का आरोप लगाया था, जिसके बाद सीओए ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था. सोशल मीडिया पर आरोपों के अलावा मुंबई के पूर्व कप्तान शिशिर हट्टनगड़ी ने भी दावा किया है कि अतीत में जौहरी के कथित दुर्व्यवहार पर उनके पास भी सूचना है. जिसके बाद जांच के लिए स्‍वतंत्र पैनल बनाया गया. हालांकि पैनल बनने के बाद उनमें हितों का टकराव न हो, इसीलिए बाद में तीन सदस्‍यीय पैनल में से एक सदस्‍य को बदल दिया गया था. जांच पैनल में शुरुआत में इलाहाबाद हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति राकेश शर्मा, दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष बरखा सिंह और पूर्व सीबीआई निदेशक पीसी शर्मा शामिल थे. पीसी शर्मा की जगह हालांकि बाद में वकील वीना गौड़ा ने ली, क्योंकि यह बात सामने आई कि उनका एक रिश्तेदार बीसीसीआई का कर्मचारी था.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi