S M L

सबको पीछे छोड़ते हुए मयंक अग्रवाल बने घरेलू क्रिकेट के 'रन मशीन'

विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में 90 रन की पारी खेलने के साथ मयंक अग्रवाल भारतीय घरेलू क्रिकेट के इस सीजन में अभी तक 2 हजार 101 रन बना लिए हैं.

FP Staff Updated On: Feb 27, 2018 01:35 PM IST

0
सबको पीछे छोड़ते हुए मयंक अग्रवाल बने घरेलू क्रिकेट के 'रन मशीन'

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भले ही विराट कोहली रन मशीन हो, लेनिक भारत के  घरेलू सत्र में मयंक अग्रवाल सभी को पीछे छोडते हुए रन मशीन बन गए हैं. मंगलवार को कर्नाटक के मयंक के सौराष्ट्र के खिलाफ विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में 90 रन की पारी खेली और इसी के साथ उन्होंने वो कर दिखाया, जो घरेलू सत्र में विराट कोहली जैसे दिग्गज भी करने में असफल रहे.

मयंक ने फाइनल में 79 गेंदों पर 90 रन कर पारी खेली और इस शानदार पारी के साथ वे भारतीय घरेलू क्रिकेट के किसी एक सीजन में 2000 या उससे अधिक रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

इस सीजन में मयंक का प्रर्दशन

टूर्नामेंट रन औसत 100
रणजी ट्रॉफी 1160 रन 105.45 5
सैयद मुश्ताक अली(टी20 टूर्नामेंट) 258 रन 145 -
विजय हजारे ट्रॉफी 723 रन 100.00 3
 

मयंक के बल्ले से अभी तक इस सीजन में 2 हजार 101 रन निकल चुके हैं और इसी के साथ श्रेयस अय्यर को पीछे दिया. अय्यर ने 2015-16 सीजन में 1947 रन बनाए थे.

घरेलू क्रिकेट के एक सीजन में इन्होंने बनाए सबसे ज्यादा रन

खिलाड़ी रन 100/ 50 सत्र
मयंक अग्रवाल  2101 8/9 2017-18
श्रेयस अय्यर 1947 4/11 2015-16
वसीम जाफर  1907  6/9 2008-09
 

वहीं विजय हजारे ट्रॉफी में उन्होंने, 109, 84, 28, 102, 89, 140, 81 और 90 की पारी खेली, मतलब किसी एक टूर्नामेंट में उन्होंंने 723 रन बनाए और इसी के साथ उन्होंने सचिन तेंदुलकर भी पीछे छोड़ दिया है. सचिन ने 2003 में सीडब्ल्यूसी टूर्नामेंट में 673 रन बनाए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi