S M L

'कैप्टन कूल' के फैसले जिनसे बदले मैच

महेंद्र सिंह धोनी के पांच फैसले, जिन्हें हमेशा याद रखा जाएगा

FP Staff Updated On: Jan 05, 2017 05:57 PM IST

0
'कैप्टन कूल' के फैसले जिनसे बदले मैच

महेंद्र सिंह धोनी ने बार-बार ऐसे फैसले लिए हैं, जिन्होंने क्रिकेट दुनिया को चौंकाया है. 35 साल के विकेट कीपर-बल्लेबाज के ऐसे फैसले ज्यादातर उनके पक्ष में ही गए हैं.

जोगिंदर शर्मा से आखिरी ओवर

JOHANNESBURG, SOUTH AFRICA - SEPTEMBER 24:  , MS Dhoni and India celebrate their Victory during the final match of the ICC Twenty20 World Cup between Pakistan and India held at the Wanderers Cricket Stadium on September 24, 2007  in Johannesburg, South Africa. (Photo by Duif du Toit/Gallo Images/Getty Images)

2007 वर्ल्ड कप टी 20 फाइनल में पाकिस्तान को आखिरी ओवर में 13 रन बनाने थे. हरभजन सिंह का ओवर  बाकी था. उम्मीद थी कि उन्हें गेंद दी जाएगी. धोनी ने तय किया कि वो हरियाणा के गेंदबाज जोगिंदर से गेंदबाजी कराएंगे. जोगिंदर ने वाइड से शुरुआत की. फिर एक छक्का लगा. धोनी ने श्रीसंत को शॉर्ट फाइन लेग पर बुला लिया. मिस्बाह झांसे में आ गए. उन्होंने कैच थमाया दिया. इसी के साथ पाकिस्तान की उम्मीदें टूटीं और भारत चैंपियन बन गया.

वर्ल्ड कप फाइनल में युवराज से पहले बैटिंग के लिए आना

India's captain Mahendra Singh Dhoni plays a shot during ICC Cricket World Cup final match against Sri Lanka in Mumbai April 2, 2011.    REUTERS/Philip Brown (INDIA  - Tags: SPORT CRICKET)   - RTR2KQPV

भारत ने 1983 के बाद 50 ओवर का वर्ल्ड कप नहीं जीता था. श्रीलंका ने 275 का लक्ष्य रखा था. भारत का स्कोर दो विकेट पर 31 रन थे. धोनी ने युवराज से पहले बैटिंग के लिए आने का फैसला किया. गौतम गंभीर और धोनी ने 109 रन की साझेदारी की. उन्होंने 79 गेंदों में 91 रन बनाए. नुवान कुलसेकरा की गेंद को लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का लगाकर मैच खत्म किया.

चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में इशांत शर्मा से गेंदबाजी

India's cricket players Shikhar Dhawan (L), Mahendra Singh Dhoni (C) and Ravindra Jadeja pose with the ICC Champions Trophy on the balcony of the City Council building in Birmingham, central England, June 24, 2013.   REUTERS/Darren Staples   (BRITAIN - Tags: SPORT CRICKET) - RTX10YWN

2013 के चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में इंग्लैंड ने शुरुआत मे विकेट खो दिया था. टारगेट 130 रन था. बारिश की वजह से मैच 20-20 ओवर का था. हालांकि इऑन मॉर्ग और रवि बोपारा ने अपनी टीम के लिए जीत की उम्मीदें बंधा दीं. इंग्लैंड को 18 गेंद में 28 रन बनाने थे. छह विकेट उनके हाथ में थे. इशांत शर्मा, अश्विन और रवींद्र जडेजा के ओवर बचे थे. कैप्टन कूल ने 18वां ओवर इशांत को देने का फैसला किया. इशांत ने दो गेंदों पर दो विकेट लिए. इस ओवर ने मैच बदल दिया. भारत पांच रन से जीता.

लॉर्ड्स टेस्ट, 2014 में इशांत की गेंदबाजी

LONDON, ENGLAND - JULY 21: India celebrate running out James Anderson of England to win the 2nd Investec Test match between England and India at Lord's Cricket Ground on July 21, 2014 in London, United Kingdom.  (Photo by Gareth Copley/Getty Images)

भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट की सीरीज का दूसरा मैच 95 रन से जीता था. हालांकि आखिरी दिन ऐसा होना आसान नहीं था. जो रूट और मोईन अली ने पांचवें विकेट के लिए साझेदारी की थी. धोनी ने इशांत से रणनीति बदलने को कहा. उन्होंने राउंड द विकेट जाकर शॉर्ट पिच गेंदबाजी के लिए कहा. इशांत हिचकिचा रहे थे. लेकिन आखिर में वो मान गए. इशांत ने पांच विकेट लिए और मेजबान टीम सीरीज में आगे निकल गई.

बांग्लादेश के खिलाफ आखिरी गेंद पर एक ग्लव उतारना

Cricket - India v Bangladesh - World Twenty20 cricket tournament - Bengaluru, India, 23/03/2016. India's captain and wicketkeeper Mahendra Singh Dhoni (L) runs out Bangladesh's Mustafizur Rahman. REUTERS/Danish Siddiqui  - RTSBY2R

वर्ल्ड टी 20 का मुकाबला था बांग्लादेश के खिलाफ. मुशफिकुर रहीम और महमूदुल्लाह को बस शांत रहकर खेलना था. दूसरी तरफ धोनी के पास हार्दिक पांड्या से गेंदबाजी कराने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था. दो चौकों के साथ रहीम ने जश्न भी शुरू कर दिया था. तीन गेंद में दो रन की जरूरत थी. अगले दो गेंद पर बांग्लादेश ने दो विकेट खो दिए. आखिरी गेंद पर दो रन की जरूरत थी. धोनी ने दायां ग्लव उतार दिया, ताकि रन आउट के लिए उनके पास बेहतर मौके हों. जैसा धोनी ने सोचा था, वही हुआ. धोनी ने कुछ सेंटीमीटर से मुस्तफिजुर रहमान को रन आउट कर दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi