S M L

शमी ने कहा, एंडरसन को गेंदबाजी करते देख काफी कुछ सीखा

मैं हमेशा देखता कि हमारे जितनी गति नहीं होने के बावजूद वह विकेट चटका रहा है. वह किस लेंथ के साथ गेंदबाजी कर रहा है. आपको ये चीजें सीखने को मिलती हैं

Updated On: Aug 28, 2018 10:10 PM IST

Bhasha

0
शमी ने कहा, एंडरसन को गेंदबाजी करते देख काफी कुछ सीखा

भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी हैरान हैं कि भारतीय गेंदबाजों जितनी तेजी नहीं होने के बावजूद जिमी एंडरसन कैसे अपने कौशल से बल्लेबाजों को छकाने में सक्षम हैं. साउथम्पटन में चौथे टेस्ट से पूर्व शमी ने एंडरसन को शुभकामनाएं दीं जो टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज के रूप में ग्लेन मैकग्रा (563 विकेट) का रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ सात विकेट दूर हैं. एंडरसन के नाम पर 557 विकेट दर्ज हैं.

शमी ने मंगलवार को साउथम्पटन में प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘जहां तक सीखने की प्रक्रिया का सवाल है. जब आप एक सीनियर खिलाड़ी (एंडरसन) को अपने सामने ऐसा प्रदर्शन करते देखते हैं तो आप उसे देखकर अधिक से अधिक सीखने की कोशिश करते हैं. मैं हमेशा देखता कि हमारे जितनी गति नहीं होने के बावजूद वह विकेट चटका रहा है. वह किस लेंथ के साथ गेंदबाजी कर रहा है. आपको ये चीजें सीखने को मिलती हैं. वह अलग हालात में अलग तरह का गेंदबाज होता है.’

उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ी चाहे कहीं से भी आए, सबसे पहले आपको यह देखना चाहिए कि वह घरेलू हालात का फायदा कैसे उठाता है. हम एंडरसन से काफी कुछ सीखने में सफल रहे. हमने पिछले दौरे पर भी उसे यहां देखा और उसने काफी अच्छी गेंदबाजी की. अब तक मैंने एंडरसन से सीखा है कि आप जितना अधिक सटीक होंगे आपके लिए यह उतना बेहतर होता.’

नतीजे देने की जिम्मेदारी तेज गेंदबाजों पर 

भारत के तेज गेंदबाजों ने अब तक टीम के 46 में से 38 विकेट चटकाए हैं और बंगाल के इस तेज गेंदबाज ने कहा कि अनुकूल हालात में नतीजा देना उनकी जिम्मेदारी है. शमी ने कहा, ‘इन हालात में नतीजे देने की जिम्मेदारी तेज गेंदबाजों पर है. हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया और कर रहे हैं. पिछली सीरीज (साउथ अफ्रीका) में भी आपने देखा कि हमने अपना काम अच्छी तरह किया (तीन टेस्ट में 60 विकेट चटकाए).’

बदलाव करने की नीति अच्छी है

टेस्ट मैचों में लगातार टीम बदलने के लिए विराट कोहली की आलोचना हो रही है, लेकिन शमी ने कहा कि इससे उन्हें उबरने का समय मिलता है, इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘हमारी बेंच स्ट्रैंथ इस तरह की है कि अगर हम चाहें तो हम टीम में बदलाव कर सकते हैं. अगर हम बदलाव नहीं भी करते हैं तो हमारे पास ऐसे गेंदबाज हैं जो इस प्रारूप में लंबे स्पैल की गेंदबाजी कर सकते हैं. लेकिन यह बदलाव करने की नीति अच्छी है (तेज गेंदबाजों के लिए) क्योंकि इससे हमें उबरने का समय मिलता है.’

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मौजूदा आक्रमण को अब तक का सर्वश्रेष्ठ करार दिया है और शमी टीम की तारीफ से खुश हैं. उन्होंने कहा, ‘हम लंबे समय के बाद भारत की इस तरह की गेंदबाजी इकाई देख रहे हैं. जब इस बारे में बात होती है तो हमें भी अच्छा लगता है और हम अपने काम का लुत्फ उठाते हैं. यह हमारे देश (भारतीय क्रिकेट) के लिए अच्छा है कि हमारे पास लंबे समय के बाद इस तरह का आक्रमण है और अगर आप प्रतिद्वंद्वियों से तुलना करें तो हमारे पास बेहतर गेंदबाज हैं. इसलिए जब हम इस तरह की प्रशंसा सुनते हैं तो काफी अच्छा लगता है और हमारा मनोबल बढ़ता है.’

अश्विन ने नेट्स पर गेंदबाजी की 

इस बीच रविचंद्रन अश्विन ने नेट्स पर गेंदबाजी की और फिर फिट नजर आए. टीम प्रबंधन ने हालांकि इसकी औपचारिक पुष्टि नहीं की. रवींद्र जडेजा उपलब्ध हैं, लेकिन शमी से जब सिर्फ तेज गेंदबाजों को उतारने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘टेस्ट मैच में पांच तेज गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला करना मुश्किल होता है. मेरे हिसाब से आपको स्पिनर की जरूरत होती है क्योंकि पांचवें दिन निश्चित तौर पर गेंद टर्न करती है. मैं निश्चित तौर पर कह सकता हूं कि इस विकेट पर नतीजा आएगा और अच्छा नतीजा आएगा.’

शमी ने कहा कि वह उन निजी मुद्दों से उबर गए हैं जिनके कारण पिछले कुछ महीनों में परेशान रहे. उन्होंने कहा, ‘पारिवारिक मामले के कारण पिछले आठ महीने मेरे लिए कड़े रहे. यह मायने नहीं रखता कि क्या हुआ और क्या नहीं, यह समय मेरे लिए काफी तनावभरा था. मैं कुछ समय तक इसके कारण परेशान रहा.’

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi