S M L

जानिए कितने रसूखदार और हाइप्रोफाइल हैं #MeToo में फंसे बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी

बोर्ड के पहले सीईओ राहुल जौहरी के कार्यकाल बीसीसीआई की तिजोरी में हुई है बेतहाशा वृद्धि

Updated On: Oct 14, 2018 09:18 AM IST

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey

0
जानिए कितने रसूखदार और हाइप्रोफाइल हैं #MeToo में फंसे बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी

अपनी पोजिशन का फायदा उठाकर यौन उत्पीड़न करने वाले मर्दों के खिलाफ चले #MeToo अभियान के मामले में फंसे बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी इस वक्त दुनिया के सबसे रईस क्रिकेट बोर्ड के सबसे पावरपुल लोगों में से एक हैं. वह इतने पावरफुल हैं कि बोर्ड के अधिकारी तक उनसे रश्क करते है.

बीसीसीआई में पहले सीईओ को नियुक्त करने की परंपरा नहीं थी, आईपीएल फिक्सिंग के बाद सुप्रीम कोर्ट की बनाई लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों  के बाद ही बोर्ड में सीईओ की नियुक्ति की गई. यानी राहुल जौहरी बीसीसीआई के पहले सीईओ हैं. बोर्ड के सैक्रेटरी ही इससे पहले डे टू डे वर्किंग के साथ-साथ पॉलिसी बनाने के वो तमाम फैसले लेते थे जो इस वक्त सीईओ ले रहे हैं

विनोद राय के सबसे खास अधिकारी हैं राहुल जौहरी

सुप्रीम को कोर्ट के देश के बाद विनोद राय की अगुआई में बनाई गई प्रशासकों की समिति और बोर्ड के अधिकारियों के बीच की छिड़ी जंग में राहुल जौहरी के बड़े किरदार है. बोर्ड के अधिकारी अक्सर यह आरोप लगाते रहते हैं कि राहुल जौहरी ही विनोद राय के ‘तानाशाही’ पूर्ण रवैये के पीछे के असली मास्टर माइंड हैं.

उनके खर्चों पर बोर्ड के अधिकारियों को होता है एतराज

बोर्ड के अधिकारियो के साथ उनके तनाव की खबरे अक्सर बीसीसीआई के गलियारों में चर्चा का विषय बनती रही हैं. इसी साल जनवरी में राहुल जौहरी ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर करके दावा किया था कि बोर्ड के अधिकरी उनके काम को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर अधिकारियों की ओर से उनकी तनख्वाह में हुई बढ़ोत्तरी और उनके खर्चो पर ही सवाल उठाए जाते रहे हैं.

rahul johri saBA KARIM

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक राहुल जौहरी को पांच करोड़ से अधिक की सालाना तनख्वाह पर रखा गया है. उन्हें घर के किराए के लिए 50 लाख रुपए दिए जाते हैं जबकि विदेश यात्रा के दौरान उन्हें 500  डॉलर प्रति दिन का भत्ता मिलता है जो उनके हवाई किराए और ठहरने के खर्चे से इतर है.

लेकिन एक वास्तविकता यह भी है कि राहुल जौहरी के आने के बाद से बीसीसीआई की तिजोरी में बेतहाशा बढ़ोत्तरी भी हुई है. एक जून 2016 से बोर्ड के सीईओ का पद संभालने के बाद जौहरी के सामने सबसे बड़ी चुनौती टीम इंडिया की ऑफिशियल जर्सी के लिए होने वाली स्पॉन्सरशिप डील थी. स्टार इंडिया ने इसका करार आगे बढ़ाने से मना कर दिया था.

जौहरी ने भरी बीसीसीआई की तिजोरी!

जौहरी के आने के बाद चाइनीज मोबाइल कंपनी के साथ रिकॉर्ड कीमत में जर्सी की डील हुई. पांच साल के लिए मोबाइल कंपनी ओप्पो ने 1079 करोड़ रुपए की डील की यानी बाइलेटरल सीरीज के लिए 4.61 करोड़ रुपए प्रति मैच और आईसीसी के मुकाबलों के लिए 1.51 करोड़ रुपए प्रति मैच. यह पिछली डील से चार गुना ज्यादा अधिक थी.

CEO of Indian cricket team Kolkata Knight Riders Venki Mysore and Board Of Control For Cricket In India (BCCI) Rahul Johri address a press conference during the auction for cricket players for the tenth edition of the Indian Premier League in Bangalore on February 20, 2017. ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT---- - England players attracted megabucks bids in the Indian Premier League auction on February 20, with all-rounder Ben Stokes setting a new record for a foreigner by joining the Rising Pune Supergiants for more than $2 million. England pace bowler Tymal Mills was the big surprise as he went to the Royal Challengers Bangalore for $1.8 million, even though he has only played four Twenty20 internationals. (Photo by MANJUNATH KIRAN / AFP) / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

इसे बाद बोर्ड के मिलियन डॉलर बेबी यानी आईपीएल के मीडिया राइट्स की बिक्री की बारी थी. अगले पांच साल के लिए आईपीएल के मीडिया राइट्स ऐतिहासि कीमत पर बिके. स्टार इंडिया ने 15,819.54 करोड़ रुपए में आईपीएल के ग्लोबल राइट्स अपने नाम किए.

इसी साल अप्रैल में बोर्ड ने भारत में होने वाले मुकाबलों के राइट्स भी बेचे. स्टार इंडिया ने 6,138.1 करोड़ रुपए में पांच साल के लिए ये अधिकार खरीदे. बोर्ड के लिए यह डील भी बेहद कामयाब रही.

 

bcci johari

राहुल जौहरी की नियुक्ति के बाद से बीसीसाई की कमाई में काफी बढ़ोत्तरी तो हुई ही है साथ उन्हें सीओए के मुखिया विनोद राय का सबसे खास आदमी भी माना जाने लगा. अब #metoo में फंसने के बाद विनोद राय ने ही उन्हें स्पष्टीकरण देने का निर्देश दे दिया है तो देखना होगा कि उनकी यह हाइ प्रोफाइल नौकरी बचती है या चली जाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi