S M L

Asian Games 2018: कभी गौशाला में सोती थी, अब बन चुकी है देश की मेडल की उम्मीद

खुशबीर कौर का परिवार इतना गरीब था कि वो बारिश से बचने के लिए गौशाला में सोते थे

Updated On: Aug 11, 2018 09:38 PM IST

FP Staff

0
Asian Games 2018: कभी गौशाला में सोती थी, अब बन चुकी है देश की मेडल की उम्मीद

एशियन गेम्स शुरू होने में अब महज एक हफ्ता बाकी रह गया है. एशियन गेम्स जकार्ता में 18 अगस्त से शुरू हो रहे हैं. वैसे तो इस बार भारत को सभी एथलीट्स से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है, लेकिन भारत की एक बेटी ऐसी भी है जो गोल्ड मेडल की पक्की दावेदार मानी जा रही है. हम बात कर रहे हैं पंजाब की एथलीट खुशबीर कौर की, जो 20 किलोमीटर वॉक इवेंट की एथलीट हैं. खुशबीर कौर ने साल 2014 में एशियन गेम्स में सभी को चौंकाते हुए सिल्वर मेडल जीता था.

इस जीत के बाद खुशबीर कौर की जिंदगी ही बदल गई. खुशबीर कौर का परिवार इतना गरीब था कि वो बारिश से बचने के लिए गौशाला में सोते थे. आर्थिक तंगी के चलते उन्हें दिन में दो वक्त की रोटी तक नहीं मिल पाती थी. खुशबीर जब महज 6 साल की थीं, तो उनके पिता का देहांत हो गया था. उनकी मां ने खुशबीर समेत 4 लड़कियों और एक लड़के को पाला. खुशबीर की मां कपड़े सिलने और गांव में दूध बेचने का काम करती थी.

हालांकि एशियन गेम्स में मेडल जीतने के बाद खुशबीर कौर की जिंदगी बदली और उन्हें पंजाब पुलिस में डीएसपी का पद दिया गया. हालांकि खुशबीर कौर को अब भी अपने कठिनाई भरे दिन याद हैं और इस बार वो जकार्ता में गोल्ड से कम कुछ नहीं जीतना चाहती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi