S M L

इस वजह से जाधव को वेस्‍टइंडीज के खिलाफ नहीं मिली टीम में जगह

जाधव ने देवधर ट्रॉफी ने बेहतरीन पारी खेलकर अपनी फिटनेस का सबूत दे दिया है

Updated On: Oct 26, 2018 11:32 AM IST

Bhasha

0
इस वजह से जाधव को वेस्‍टइंडीज के खिलाफ नहीं मिली टीम में जगह
Loading...

एक बार फिर फिट हो चुके केदार जाधव ने कहा कि वेस्टइंडीज के खिलाफ बाकी बचे तीन वनडे मैचों के लिए भारतीय टीम में नहीं चुने जाने के बारे में उन्हें जानकारी नहीं दी गई, जिसके बाद मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा कि  इस बल्लेबाज को चोटिल होने के उनके पुराने इतिहास के कारण टीम में नहीं चुना गया. देवधर ट्रॉफी के बीच में जाधव को भारत ए टीम में जगह दी गई, क्योंकि चयनकर्ता उनकी वापसी पर फैसला करने से पहले उनकी फिटनेस परखना चाहते थे.

तीन राष्ट्रीय चयनकर्ताओं की मौजूदगी में जाधव ने 25 गेंद में नाबाद 41 रन की पारी खेली और पांच ओवर भी फेंकते हुए अपना दावा पेश किया, लेकिन देवधर ट्रॉफी मैच के दौरान घोषित हुई टीम में महाराष्ट्र के इस खिलाड़ी को जगह नहीं दी गई. 33 साल के जाधन ने कहा कि देखते हैं क्या होता है. मुझे यह देखने कि जरूरत है कि उन्होंने मुझे क्यों नहीं चुना. मैं टीम में नहीं था इसलिए मुझे नहीं पता कि क्या योजना है. संभवत मैं रणजी ट्रॉफी में खेलूंगा. दरअसल जब वेस्‍टइंडीज के खिलाफ  भारतीय टीम की घोषणा हुई, उस समय जाधव देवधर ट्रॉफी का मैच खेल रहे थे, जिस वजह उन्‍हें नहीं मालूम था कि उन्‍हें वेस्‍टइंडीज के खिलाफ टीम में जगह नहीं दी गई

अधिक घरेलू मैच खेलें जाधव

प्रसाद ने चयनकर्ताओं का बचाव करते हुए कहा कि जाधव को वापसी के लिए अधिक घरेलू मैचों में खेलना होगा. उन्होंने कहा कि हमने केदार को फिटनेस के उनके इतिहास को देखते हुए नहीं चुना. इससे पहले भी कुछ अवसरों पर उन्होंने फिट होकर वापसी की, लेकिन फिर चोटिल हो गए जैसे कि पिछले महीने एशिया कप में हुआ. प्रसाद ने कहा कि असल में हम सोच रहे थे कि अगर भारत ए जीत दर्ज करने में सफल रहता है तो केदार को एक अन्य मैच खेलने के लिए मिल जाएगा, जिससे हमें उनकी मैच फिटनेस का सही आकलन करने का मौका मिल जाता. हम उन्हें चौथे वनडे से पहले (भारतीय टीम में) एक अतिरिक्त खिलाड़ी के रूप में शामिल कर सकते थे. खिलाड़ियों को समझना चाहिए कि टीम का चयन करते समय हम एक प्रक्रिया का अनुसरण करते हैं. खिलाड़ियों के साथ संवादहीनता के लिए चयनकर्ताओं को पिछले कुछ समय में आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है और जाधव के मामले ने एक बार फिर इस बहस को छेड़ दिया है. गौरतलब है कि इससे पहले करुण नायर और मुरली विजय ने कहा था कि टेस्ट टीम से बाहर किए जाने से पहले चयनकर्ताओं ने उनसे बात नहीं की थी. इस दावे को हालांकि मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने खारिज किया था.

रिहैबिलिटेशन से गुजरना था जाधव को

Kedar-Jadhav

जाधव ने पिछले महीने एशिया कप के दौरान टीम में वापसी की थी लेकिन फाइनल में मांसपेशियों में खिंचाव की समस्या फिर उभरने के कारण उन्हें दोबारा रिहैबिलिटेशन से गुजरना पड़ा. उन्होंने कहा कि रिहैबिलिटेशन अच्छा था. मैं सभी टेस्ट पास करने के बाद यहां मैच फिट होकर आया था. बेशक जब आप फार्म में हो और चोटिल हो जाएं तो पीड़ा पहुंचती है. इससे अनिश्चितता पैदा होती है कि आपको अगला मौका कब मिलेगा. जब आप वापसी करते हैं तो आपको शून्य से शुरुआत करनी होती है क्योंकि आप काफी मैचों में खेलने से चूक चुके होते हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi