S M L

Irani Cup, Vidarbha vs Rest of India: रणजी ट्रॉफी के बाद विदर्भ ने ईरानी कप भी किया अपने नाम

मैच ड्रॉ रहा और विदर्भ ने पहली पारी के आधार पर खिताब अपने नाम किया

Updated On: Mar 18, 2018 08:55 PM IST

FP Staff

0
Irani Cup, Vidarbha vs Rest of India: रणजी ट्रॉफी के बाद विदर्भ ने ईरानी कप भी किया अपने नाम

पहली बार रणजी ट्रॉफी का खिताब अपने नाम करने वाली विदर्भ ने शेष भारत को हराकर ईरानी कप भी अपने नाम कर लिया है. हालांकि मैच ड्रॉ रहा और पहली पारी के आधार पर विदर्भ ने कप को अपने नाम किया. 286 रन की बड़ी पारी खेलने वाले वसीम जाफर मैन आॅफ द मैच रहे.

पांचवें और आखिरी दिन विदर्भ ने दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान ने अपनी दूसरी पारी में 79 रन बना लिए थे. सलामी बल्लेबाज संजय रामास्वामी ने 27 और अक्षय वाडकर ने 50 रन की पारी खेली. इससे पहले मेजबान विदर्भ ने शेष भारत की पूरी टीम को 390 रन पर समेटकर पहली पारी में 410 रन की मजबूत बढ़त हासिल कर ली थी.

टी ब्रेक से पहले सिमट गई शेष भारत

इससे पहले पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करते हुए शेष भारत की टीम आखिरी दिन टी ब्रेक से पहले ही 390 रन पर सिमट गई. आखिरी दिन 236 रन पर छह विकेट से आगे खेलने उतरी शेष भारत के हनुमा विहारी ने अपना शतक पूरा करते हुए 183 रन की पारी खेली, वहीं जयंत यादव मात्र 4 रन से अपने शतक से चूक गए. इन दोनों खिलाड़ियों के अलावा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने अर्धशतकीय पारी खेली. बाकी कोई भी बल्लेबाज मेजबान गेंदबाजों के सामने टिक भी नहीं पाया. विदर्भ के रजनीश गुरबानी ने 4 विकेट और आदित्य सारवटे ने 3 विकेट हासिल किए.

विदर्भ ने 800 रन पर घोषित की थी पहली पारी

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी विदर्भ ने मैच के चौथे दिन लंच ब्रेक तक बल्लेबाजी की और  लंच होने से पहले विदर्भ ने सात विकेट के नुकसान पर 800 रन पर अपनी पारी घोषित की. वसीम जाफर के अलावा गणेश सतीश ने 120 रन और वानखडे ने नाबाद 157 रन की पारी खेली. कप्तान फैज फजल ने 89 और संजय ने 53 रन की अर्धशतकीय पारी खेली थी.

शेष भारत ने 98 रन पर ही गंवा दिए थे 6 विकेट

करुण नायर की अगुवाई वाली टीम ने आखिरी दिन छह विकेट पर 236 से आगे खेलना शुरू किय और टी ब्रेक से पहले ही सिमट गई. हालांकि हनुमा विहारी और जयंत यादव की शानदार पारी की बदौलत शेष भारत 390 के स्कोर तक पहुंच भी गई, नहीं तो एक समय टीम का 200 के पार भी पहुंचना मुश्किल लग रहा था. जब शेष भारत ने 98 रन पर ही अपने छह अहम विकेट गंवा दिए थे. इसके बाद हनुमा और जयंत ने पारी को संभालते हुए 300 पार तक पहुंचाया. शेष भारत का पहला झटका 4 रन पर ही लग गया था. 21 रन पर दूसरा और 77 रन पर तीसरा झटका लगा. 90 रन पर शेष भारत ने कप्तान करुण नायर और केएस भारत के रूप में दो अहम विकेट खो दिया. दिन का आखिरी झटका टीम को आर अश्विन के रूप में लगा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi