S M L

आईपीएल के मीडिया राइट्स की नीलामी का होगा सीधा प्रसारण, चार सितंबर को है नीलामी

बीसीसीआई या फिर आईपीएल की वेबसाइट पर होगा प्रसारण, 24 कंपनियां पेश करेंगी दावेदारी, मुख्य मुकाबला सोनी और स्टार के बीच

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Sep 01, 2017 06:53 PM IST

0
आईपीएल के मीडिया राइट्स की नीलामी का होगा सीधा प्रसारण, चार सितंबर को है नीलामी

खेलों की दुनिया के सबसे महंगी प्रॉपर्टीज में से एक आईपीएल के राइट्स की नीलामी का दिन नजदीक आता जा रहा है. सुप्रीम कोर्ट के मीडिया राइट्स की नीलामी में दखल ना देने फैसले के बाद अब बीसीसीआई नीलामी की तैयारियों में जुट गई है. मीडिया राइट्स की नीलामी को और ज्यादा पारदर्शी बनाने के लिए अब बोर्ड ने फैसला किया है कि नीलामी की प्रक्रिया का सीधा प्रसारण किया जाएगा.

बोर्ड की तैयारी है कि यह सीधा प्रसारण या तो बीसीसीआई की वेबसाइट या फिर आईपीएल की ऑफिशियल वेबसाइट पर किया जाएगा. इसी महीने की चार तारीख को अगले पांच साल के लिए आईपीएल के मीडिया राइट्स का फैसला हो जाएगा और बोर्ड नहीं चाहता है कि उसकी पारदर्शिता पर कोई सवाल उठे लिहाजा इस प्रक्रिया के सीधे प्रसारण की तैयारियां कर ली गईं है.

बोर्ड के सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक आईपीएल के टेलीविजन राइट्स के लिए नए ब्रॉडकास्टर को तीन भारतीय भाषाओं में प्रसारण करने का नियम भी जोड़ दिया गया है. हालांकि इंटरनेट राइट्स में यह पाबंदी नहीं लगाई गई है.

ipl final 3

आपको बता दें कि इस बार 24 कंपनियो ने आईपीएल के मीडिया राइट्स के दस्तावेज को खरीदा है और बोर्ड को उम्मीद है कि उनमें से अधिकांश  कंपनिया बोली भी लगाएंगी. टेलीविजन राइटस के लिए मुख्य मुकाबला मौजूदा ब्रॉडकास्टर सोनी नेटवर्क और स्टार नेटवर्क के बीच है. इस बीच डिस्कवरी चैनल के सहयोग से शुरू हुए डी स्पोर्ट्स ने भी दस्तावेज को खरीद कर इस लड़ाई को त्रिकोणीय बना दिया है. इसके अलावा एयरटेल और जियो जैसी टेलीकॉम कंपनियों के अलावा फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया कंपनियां भी रेस में शामिल हैं.

बोर्ड इन राइट्स को तीन वर्गों में बांटा है जिनके भारतीय उपमहाद्वीप के टेलीविजन राइट्स, भारतीय उपमहाद्वीप के डिजिटल राइट्स और बाकी दुनिया के मीडिया राइट्स शामिल हैं.

बोर्ड ने मीडिया राइट्स के लिए टेंडर प्रक्रिया इसी महीने शुरू की थी. अब इसके लिए टेंडर जमा करने की आखिरी तारीख एक सितंबर तय की गई है. बोर्ड पांच सालों के लिए आईआपीएल के मीडिया राइट्स की बिक्री से करीब 20 हजार करोड़ रुपए की आमदनी की उम्मीद है.

दर्शकों की संख्या में इजाफे और टूर्नामेंट में अधिकांश समय विवाद से दूर रहने के कारण आईपीएल की ब्रांड मूल्य 10वें टूर्नामेंट के बाद बढ़कर पांच अरब 30 करोड़ डॉलर हो गया है. ग्लोबल वैलुएशन एंड कॉरपोरेट फाइनेंस एडवाइजर डफ एंड फेल्प्स ने यह आकलन किया है. डफ एंड फेल्प्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि व्यवसाय के रूप में आईपीएल की कुल कीमत पिछले साल के चार अरब 20 करोड़ डॉलर की तुलना में बढ़कर पांच अरब 30 करोड़ डॉलर हो गई है जिसमें तीन साल का 13.9 प्रतिशत सीएजीआर भी शामिल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi