S M L

आईपीएल ऑक्शन 2018 : जानिए अब तक के सीजन के सबसे बड़े फ्लॉप

पिछले दस सीजन में कई बड़े खिलाड़ियों को बड़ी बोली लगाकर टीम के साथ जोड़ा गया लेकिन उन्हेंने अपने प्रदर्शन से निराश किया

FP Staff Updated On: Jan 24, 2018 10:45 AM IST

0
आईपीएल ऑक्शन 2018 : जानिए अब तक के सीजन के सबसे बड़े फ्लॉप

आईपीएल के ग्यारवें सीजन का ऑक्शन 27 और 28 जनवरी को होने वाला है. सभी आठ टीमों अपने पसंदीदा खिलड़ियों को रिटेन कर चुकी हैं. अब नजर कई बड़े खिलाड़ियों पर हैं जिन्हें टीमों ने रिटेन नहीं किया है और जिन पर टीमें बोली लगाएंगी. अब तक के दस सीजन में कई ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिनके हाल के प्रदर्शन देखकर उन्हें टीम के साथ जोड़ा गया, लेकिन वह बुरी तरह फ्लॉप रहे.

युवराज सिंह

साल 2015 में अब तक के सीजन में फ्लॉप रही दिल्ली ने 16 करोड़ रुपए में युवराज सिंह को टीम से जोड़ा. उन्हें उम्मीद थी कि ऑलराउंडर युवराज अपने बड़े शॉटों से सामने वाली टीम के छक्के छुड़ देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. 13 परियों में युवराज ने 248 रन बनाए. युवराज सिंह अपनी गेंदबाजी से भी प्रभावित करने में नाकाम रहे. फील्डिंग में भी वह कुछ खास नहीं रहे और टीम अंकतालिका में सातवें नंबर पर रही. इससे पहले 2014 में भी जब आरसीबी ने उन्हें 14 करोड़ में खरीदा था तब वह फ्लॉप रहे थे.

रोबिन उथ्प्पा

रोबिन उथ्प्पा को को साल 2011 में नई नवेली पुणे वॉरियर्स ने खुद के साथ जोड़ा था. उस वक्त कर्नाटक के यह विकेटकीपर बल्लेबाज लोगों की नंबर एक पसंद बने हुए थे. पुणे ने रोबिन को 2.1 मिलियन डॉलर में अपने साथ जोड़ा था. रोबिन ने 14 मैच खेले और इसमें वह किसी भी मैच में एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके. अगले तीन सीजन तक टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाए.

दिनेश कार्तिक 

दिनेश कार्तिक को दिल्ली डेयरविल्स ने 2014 में 12.5 करोड़ रुपए में खुद के साथ जोड़ा था. कार्तिक ने 14 मैचों में 23 रनों के औसत से केवल 325 रन बनाए थे. टीम में स्टार प्लेयर के तौर पर उनको जोड़ा गया था, लेकिन वह टीम के लिए कोई योगदान नहीं दे पाए. उस साल दिल्ली की टीम अंकतालिका में सबसे नीचे स्थान पर रही थी.

इरफान पठान

साल 2011 में इरफान पठान को दिल्ली ने 11 करोड़ की बोली लगाकर टीम के साथ जोड़ा. बाएं हाथ के इस गेंदबाज को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के चलते टीम के साथ जोड़ा गया था, लेकिन वह टीम के लिए वह नहीं कर पाए जिसकी उन्हें जरूरत थी. पूरी सीजन में वह गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनो में फ्लॉप रहे. इरफान ने इस चौथे सीजन में केवल 11 विकेट लिए. वहीं पूरे सीजन के 14 मैचों में उनके बल्ले से 18 की औसत से केवल 150 रन बनाए.

irfan pathan

सौरभ तिवारी

तीन सीजन तक मुंबई इंडियंस के साथ खेलने के बाद झारखंड के इस हिटर बल्लेबाज का चौथे सीजन में बड़ी रकम में बिकना तय ही था. रॉयल चैलेंजर बैगलोर ने 10 करोड़ रुपए खर्च करके सौरभ को टीम के साथ जोड़ा, लेकिन वह मुंबई जैसा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे. दो साल तक वह टीम के साथ जुड़े रहे और इन दो सालों में उन्होंने 31 मैचों में केवल 378 रन ही बनाए. इस दौरान उनके बल्ले से कोई अर्धशतक नहीं निकला.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi